२९ अक्तूबर २०१४, निफ़्टी भविष्यवाणी

Market Predictions

  • विक्रम संवत २०७१ के लिए राशि भविष्य
    धनु राशि
  • मंत्र :-
  • बहुकलाकुशलः प्रबलो महाविमलताकलितः सरलोक्तिभक्।
    शशधरे तु धनुर्धरगे नरो धनकरो न करोति बहुव्ययम् ।।
  • अर्थ :- जन्म के समय पर धन राशि में चंद्र हो तो ऐसे लोग ज्यादा कलाओं में कुशल, बलवान, निर्मल चरित्र, स्पष्ट भाषी धनिक और अल्प (कम) खर्च करने वाले होते हैं।
  • विक्रम संवत 2071 – एक नज़र :- आप अपनी राशि के गुण अनुसार इस वर्ष भी कुछ नये लक्ष्य निर्धारित करेंगे, लेकिन हर वर्ष की तरह जल्दी में पूरा करने की बजाय गणेशजी आपको धैर्य के साथ आगे बढ़ने की सलाह देते हैं। शनि महाराज आपकी राशि कुंडली के अनुसार व्यव स्थान से भ्रमण कर रहे हैं। यह आपके लिए शनि की साढ़े साती का पहला चरण है। इस समय बहुत सारे मामलों में देरी देखने को मिलेगी। आपकी राशि के स्वामी गुरू इस समय अपनी उच्च की राशि में हैं, लेकिन आठवें स्थान में उसका होना शुभ नहीं है। इसलिए हो सके तो जुलाई 2015 तक थोड़ा सा सतर्क रहें। इसके अलावा राहु आपके व्यवसाय के साथ में है जबकि केतु महाराज सुख स्थान में परिभ्रमण कर रहे हैं। यह दोनों ग्रह आपको बुरी तरह प्रभावित करेंगे।
  • आर्थिक तथा व्यवसाय :- आपकी चंद्र राशि की कुंडली अनुसार आपके धन स्थान का स्वामी शनि वृश्चिक राशि में पारगमन कर रहा है, जो व्यय का स्थान है। इसको ध्यान में रखते हुए गणेशजी कह रहे हैं कि आपको इस मामले में अधिक ध्यान रखने की जरूरत है, अन्यथा आपको वित्तीय नुकसान सहन करना पड़ सकता है। इसके अलावा यदि आप चाहें तो श्री हनुमान जी की उपासना कर सकते हैं। उनकी कृपा से आपके भावी संकटों की भयावहता काफी कम हो सकती है। उधर, दसवें स्थान में राहु जैसा पापी ग्रह भ्रमण कर रहा है, जिसे ध्यान में रखते हुए आपको अधिक सावधानी बरतनी होगी। इस समय किसी को उधारी में माल देने से बचें।
  • स्वास्थ्य :- स्वास्थ्य के मामले में इस वर्ष आपको बहुत अधिक बदलाव देखने को नहीं मिलेगा। इस वर्ष आपको केवल ऋतु बदलाव के समय सचेत रहना होगा, क्योंकि मौसमी बीमारियां आपको जकड़ सकती हैं। इसके अलावा गोचर का मंगल आपके क्रोध को बढ़ाएगा, इसलिए तेज वाहन चलाते समय आप ध्यान रखें। कुल मिलाकर यह वर्ष स्वास्थ्य के मामले में आपको राहत प्रदान करेगा।
  • प्रेम तथा वैवाहिक जीवन :- गणेशजी ग्रहों स्थितियों को देखने के बाद कह रहे हैं कि प्रेम संबंधों एवं वैवाहिक जीवन के संबंध में यह वर्ष काफी सुखद रहने वाला है। सबसे बड़ी बात तो यह है कि आपके स्वभाव में मित्रता भाव है एवं दूसरों की बातों को उदारता पूर्ण सुनते हैं, जो किसी भी रिश्ते के भीतर जान डाल सकता है। इसके अलावा प्रेम संबंधो में आपको तनाव बिल्कुल पसंद नहीं है। इस समय आप प्रेम संबंधों एवं वैवाहिक मामलों में आगे बढ़ सकते हैं क्योंकि गणेशजी का आशीर्वाद सदैव आपके साथ है।
  • करियर तथा शिक्षा :- करियर तथा शिक्षा संबंधित स्थान का मालिक मंगल है। गणेशजी के अनुसार ग्रहीय स्थिति सही संकेत दे रही है। यदि हम इस वर्ष की तुलना बीते वर्ष से करते हैं तो यह वर्ष आपके लिए काफी अच्छा लग रहा है। इसका एक अन्य कारण है कि इस स्थान से केतु जैसा पापी ग्रह निकल गया है। हालांकि, उनके लिए थोड़ा सा मुश्किल समय साबित हो सकता है, जो मास्टर डिग्री हासिल करने के लिए प्रयासरत हैं।
  • उपाय :- प्रतिदिन पक्षियों को दान डालें। गाय को घास खिलाएं।
  • तुलसी के पत्ते का सेवन करें।
  • प्रतिदिन शिव मंदिर जाएं और शिवलिंग पर जल, पुष्प, अक्षत आदि चढ़ाएं।
  • घर से निकलने से पहले कुछ मीठा खाकर निकलें।
  • हनुमान चालीसा का पाठ करें।
  • गुरु आपकी राशि का स्वामी है, इसलिए इस मंत्र का जाप आपको लाभ देगा –
  • II देवानाम् च ऋषिनाम् च गुरूम् कांचन सन्निभम्
    बुध्धिभूतम् त्रिलोकेशम् तं नमामि बृहस्पतिम् II
  • विक्रम संवत २०७१ के लिए राशि भविष्य
    मकर राशि
  • मंत्र :-
  • कलितशरतभयः किल गीतवितनुरुषासहित मदनातुरः
    निजकुलोत्तम्वृतिकरः परं हिमकर मकरे पुरुषो भवेत् ।।
  • अर्थ :- मकर राशि के चंद्र में जन्म लेने वाले स्वभाव से थोड़े कायर, कलाप्रिय और संगीतकार, कामातुर और खुद के कुल की उत्तम परंपरा को बनाए रखने वाला होते हैं।
  • विक्रम संवत 2071 – एक नज़र:- आपकी राशि के बिल्कुल सामने से गुरू महाराज पारगमन कर रहे हैं। यह समय उन जातकों के लिए काफी अच्छा है, जिनकी विवाह संबंधी बात चल रही है। इसके अलावा गणेशजी उनको आगे बढ़ने की सलाह देते हैं, जो जातक विवाह करवाने के लिए विचार कर रहे हैं। कदाचित आपका भाग्य आपका साथ न दे, क्योंकि भाग्य के स्थान में राहु पारगमन कर रहा है। इसके अलावा आपके लाभ के साथ में शनि है, जो आपको मानसिक तौर पर परेशान कर सकता है। गणेशजी की सलाह है कि आपको माता जी की पूजा करनी चाहिए, इससे समस्या काफी हद तक हल हो सकती है।
  • आर्थिक तथा व्यवसाय :- आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने के लिए गणेशजी आपको एक शानदार उपाय बताना चाहते हैं। इस उपाय की मदद से आपको हमेशा सुख समृद्घि एवं एश्वर्या की प्राप्ति होगी। आपको अपने घर या कार्यालय में पूजास्थल पर श्रीयंत्र की स्थापना करनी चाहिए। हर रोज उसके सामने बैठकर श्री सूकत का पाठ करो। इससे व्यवसाय के अलावा अन्य क्षेत्रों में भी आपको लाभ प्राप्त होगा। कुल मिलाकर कहें तो आर्थिक तथा व्यवसाय के लिए यह वर्ष नकारात्मक नहीं है।
  • स्वास्थ्य :- गणेशजी के अनुसार स्वास्थ्य के मामले में यह वर्ष काफी सकारात्मक नजर आ रहा है। हालांकि, मौसमी बीमारियां आपको परेशान कर सकती हैं। यदि आप मधुमेह के रोग से पीड़ित हैं तो आपको वर्ष की पहली तिमाही के दौरान काफी परेशानी सहन करनी पड़ सकती है। इसके अलावा इस वर्ष स्वास्थ्य के मामले में किसी भी प्रकार की बड़ी परेशानी नहीं है।
  • प्रेम तथा वैवाहिक जीवन :- वैवाहिक जीवन के लिए राहत की बात है कि गुरू अपने स्वयं के सातवें स्थान से पारगमन कर रहा है। विवाहित जातकों के अलावा अविवाहित जातकों के लिए भी जुलाई २०१५ तक का समय बहुत अच्छा है। इस समय विवाह संबंधित बात को आगे बढ़ाया जा सकता है। प्रेमी जातकों के लिए शुक्र काफी फलदायी साबित होने वाला है।
  • करियर तथा शिक्षा :- शिक्षा के मामले में शुक्र ग्रह हमेशा आपको फलदायी रहा है क्योंकि शुक्र शुभ ग्रह है तथा श्लोक में बताए अनुसार सर्व शास्त्र में इसके प्रवक्तारम होने से, आपको ज्ञान प्राप्त करना तथा देना अच्छा लगता है। हालांकि, 18/5/2015-19/05/2015, 20/05/2015 एवं 16/06/2015 तारीख के दौरान आपको काफी सावधान रहने की जरूरत है।
  • उपाय :- आसमानी रंग वाले श्री गणेशजी की आराधना करनी चाहिए।
  • हाथी को मोदक या गुड़ रोटी खिलाएं व 108 दूर्वा चढ़ावें।
  • भगवान शिव को दही, शहद, गन्ने का रस और घी का अर्पण करें, जिससे आपकी समृद्धि बढ़ेगी।
  • हर शनिवार बंदरों को खाना खिलाएं।
  • शनि आपकी राशि का स्वामी है। इसलिए इस मंत्र का जाप करें –
  • ।। नीलांजन समाभासम् रविपुत्रं यमाग्रजम्
    छायामार्तंड संभूतम् तं नमामि शनैश्चरम्।।

व्यक्तिगत मार्गदर्शन के लिए हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषी से सीधी बात करें।

गणेशजी के आशीर्वाद के साथ,
श्री धर्मेश जोशी
गणेशास्पीक्स दल
9909941816