२७ अक्तूबर २०१४, निफ़्टी भविष्यवाणी

Market Predictions

  • विक्रम संवत २०७१ के लिए राशि भविष्य तुला राशि
  • मंत्र :-
  • वृषतुरंगम् विक्रम विक्रमन्द्वि ज सुरार्चनदानमनाः पुमान्।
    शशिनि तौलिगते बहुदारभाग्विभव संभव संचित विक्रमः ।।
  • अर्थ :- जन्म के समय तुला राशि में चंद्र हो तो व्यक्ति बैल, घोड़ा, वगैरह वाहन रखने वाला, पराक्रमी, देव, ब्राह्मण वगैरह का भक्त, दानवीर, अनेक पत्नी वाला और वैभववान और संचित पुण्य से सुखी होता है।
  • विक्रम संवत 2071 – एक नज़र :- आपके लिए गुरू महाराज अभी शुभ परिमाण दे रहे हैं, जो व्यवसाय एवं उन्नति के लिए काफी फायदेमंद साबित होने वाला है। जुलाई के बाद आपकी संतान, विद्या एवं लाभ के लिए समय काफी बेहतर है। किन्तु नवंबर २०१४ से शनि महाराज आपके धन स्थान में आएंगे, जिसके कारण आपकी आमदनी में गिरावट देखने को मिल सकती है। इसके अलावा आपको राहु का प्रभाव भी परेशान कर सकता है। राहु के प्रभाव के कारण आपको आर्थिक नुकसान होने की संभावना है। हो सकता है कि इस समय आपको अदालत या अस्पताल के चक्कर काटने पड़े। इसका मुख्य कारण अच्छे एवं बुरे ग्रहों के बीच हो रहा संघर्ष है। गणेशजी कह रहे हैं कि कुल मिलाकर यह वर्ष बीते वर्ष के मुकाबले काफी बेहतर रहने की संभावना है।
  • आर्थिक तथा व्यवसाय :- आपकी चंद्र राशि के अनुसार आपके आर्थिक स्थान का स्वामी मंगल है एवं व्यवसाय के स्थान का स्वामी चंद्र है, यदि आप इन उपरोक्त बताए ग्रहों की पूजा करें एवं इनको बलवान करें तो आपको बहुत अच्छे लाभ प्राप्त हो सकते हैं। इसके अलावा व्यवसाय में प्रगति हो रही है, लेकिन आप आर्थिक लाभ से संतष्ट नहीं हैं। इसका मुख्य कारण व्यवसाय के स्थान में गुरू महाराज का शुभ एवं धन के स्थान में शनि अशुभ पारगमन है। गुरू व्यवसाय प्रगति दे रहा है, लेकिन शनि धन आने की चाल को कम कर रहा है। गणेशजी आपको सलाह देते हैं कि आप श्री यंत्र की पूजा करें, इससे आपका धन संकट दूर हो जाएगा।
  • स्थास्थ्य :- गणेशजी आपकी चंद्र राशि आधारित कुंडली के अनुसार बता रहे हैं कि इस समय आपको मौसमी बीमारियां होने की संभावना है क्योंकि आपके रोग स्थान में केतु पारगमन कर रहा है। इस वर्ष आप इसलिए भी परेशान होंगे कि आपकी मेडिकल रिपोर्ट आपको स्वास्थ्य बताएगी, लेकिन आप अस्वास्थ्य का अनुभव करेंगे। गणेशजी के अनुसार आपको एक अच्छे पंडित के पास से सर्पसूक्त का पाठ करवाना चाहिए, इससे आपकी मुश्किलें काफी हद तक ठीक हो जाएँगी।
  • प्रेम तथा वैवाहिक जीवन :- प्रेम संबंधों एवं वैवाहिकज जीवन के संबंध में गणेशजी ग्रहों की स्थिति देखने के बाद बता रहे हैं कि आप के लिए यह वर्ष न बहुत अच्छा है ना बुरा है। जुलाई के बाद आप पर गुरू महाराज की कृपा दृष्टि होगी। इस कारण आपके मन में किसी के प्रति प्रेम उमड़ेगा। गणेशजी की सलाह है कि प्रेम संबंध को प्रेम विवाह में बदलने से पहले आप अपनी दोनों की जन्म कुंडली का ज्योतिषीय तरीके से मिलान करवाएं। यह आप दोनों के भावी जीवन के लिए काफी अच्छा रहने वाला है।
  • करियर तथा शिक्षा :- गणेशजी के अनुसार करियर तथा शिक्षा के मामले में यह वर्ष काफी सुखद रहने की संभावना है। इसके अलावा लाभ के स्थान से गुजर रहा गुरू आपके पांचवें गृह पर दृष्टि डाल रहा है, जो आपको आगे बढ़ने में मदद करेगा। जो जातक मीडिया, मनोरंजन, ओटोमोबाइल के क्षेत्र में हैं, उनको जोरदार सफलता मिलने की संभावना है।
  • उपाय :- शुक्रवार को व्रत रखना चाहिए।
  • शुक्रवार को मछलियों को दाना डालें।
  • श्रीयंत्र की नियमित पूजा से तुला जातक का भाग्य चमकता है।
  • शनिवार के दिन सुन्दरकाण्ड का पाठ करें।

व्यक्तिगत मार्गदर्शन के लिए हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषी से सीधी बात करें।

गणेशजी के आशीर्वाद के साथ,
श्री धर्मेश जोशी
गणेशास्पीक्स दल
9909941816