For Personal Problems! Talk To Astrologer
X

तुला राशि के प्रेमव्यवहार

तुला राशि के प्रेमव्यवहार

तत्व :
वायु

गुण :
मूलभूत; पुरुषत्व; सकारात्मक

स्वामी ग्रह :
शुक्र

प्यार में देने वाले सबक :
सम्पूर्णता,सुन्दरता और संतुलन को समझने की क्षमता |

प्यार में सीखने वाले सबक :
सुन्दरता से प्यार हो सकता हैं पर सुन्दरता देखने वाले की आँखो में होती हैं |दिलो का मिलन दिखावे में नही बल्कि प्यार की गहराई में होता हैं |

व्यक्तिव :
तुला राशि, राशि चक्र के मध्य स्थिति में आता हैं और अपने चिह्न के अनुसार यह पूरी तरह से संतुलन को प्रदर्शित करता हैं |तुला राशि के जातकों को यह पता होता हैं कि अच्छा और बुरा,सफ़ेद और काला, अमीर और गरीब सभी जिन्दगी के अनुभवों और सम्पूर्णता में शामिल हैं और जिन्दगी इस पार या उस पार नहीं होती हैं बल्कि इनके मध्य में होती हैं अर्थात संतुलन ही जीवन का सच्चा अर्थ हैं | ये जीवन को बड़े परिप्रेक्ष्य में देखते हैं और इसमें परिवार,समाज आदि सारी चीजें शामिल होती हैं |तर्कशील और बुद्धिमान तुला राशि के लोग सिक्के के दोनो पहलु को सुक्ष्म रूप से आकलन करने में सक्षम होते हैं | तुला राशि के जातक अपने गुणों का प्रयोग करना जानते हैं | ये नेतृत्वशील होते हैं और दुसरो को पता नहीं चलने देते हैं कि ये उन्हे चला रहें हैं |ये संवेदनशील तो होते हैं पर उससे ज्यादा व्यवहारिक होते हैं और भावनाओं को अपने उपर हावी नहीं होने देते हैं |

मेष राशि के लिए प्यार :
समरसता और बुद्धि का मेल एक अनुपात में रिश्तों को एक खुशनुमा एहसास देता हैं | तुला राशि के सममित और सामंजस्यपूर्ण दुनिया में प्यार और सुंदरता एक दुसरे में समायोजित हैं |शुक्र तुला राशि का स्वामी ग्रह होने की वजह से इनमें समरुपता और समरसता का जन्मजात गुण होता हैं | यह बात तुला राशि के जातको के लिए समस्या का कारण बन सकता हैं क्योंकि ये प्यार की गहराई को समझ नहीं पाते हैं |ये अपने प्यार को समझने में भी काफ़ी समय लेते हैं क्योंकि ये हर चीज में पूरी तरह से संतुलित जीवन साथी चाहते हैं | आकर्षक और सुरुचिपूर्ण तुला राशि के लोगो को शायद ही कभी किसी मुश्किल का सामना करना पड़ता हैं अपने प्रशंसक और प्यार ढुढने में पर ये समय ज्यादा ले लेते हैं जिससे अगला इंतजार करते करते थक जाता है और निराश हो जाता हैं |पर तुला राशि के जातको को यह पता होता हैं कि उन्हे प्यार हो जायेगा और प्यारे-प्यारे उपहार इसमें शामिल रहेंगे |

प्रेम आचरण :
तुला राशि के जातक आकर्षक,उदार,प्यारे,समर्पित और रुचिकर साथी साबित होते हैं | उद्देश्यपरक और निष्पक्ष तुला राशि के लोग हाँ बोलने में समय लगाते हैं |पर यदि इन्होने एक बार अपना मन पक्का बना लिया तो फ़िर ये पीछे नहीं हटते हैं | ये अपने आकर्षण का प्रयोग जोड़-तोड़ करने में कर सकते हैं | ये अपने साथी के निर्णय और खुशी के प्रति जागरुक होते हैं | ये जिन्दगी को सुन्दर और धनी बनाने के लिए कभी-कभी गलत भी हो सकते हैं पर जल्द ही ये अपने साथी की चेतावनी पर धरती पर वापस आ जाते हैं | विनम्र, मिलनसार और सामाजिक प्राणि तुला राशि के जातक हमेशा अपनी उपस्थिति जताना चाहते हैं जो कभी-कभी उनके साथी को हैरानी में डाल देता हैं |

तुला साप्ताहिक राशिफल – 18-11-2018 – 24-11-2018

सुसंगतता

तुला राशि के बारे में जानिए

संस्कृत नाम : तुला | नाम का अर्थ : तराजु | प्रकार : वायु मूलभूत सकारात्मक | स्वामि ग्रह : शुक्र | भग्यशाली रंग : नीला, हरा | भाग्यशाली दिन : शुक्रवार