For Personal Problems! Talk To Astrologer
X

तुला नक्षत्र

तुला नक्षत्र

चित्रा नक्षत्र :
इस नक्षत्र के देव त्वाशतव और स्वामी मंगल है | इस नक्षत्र के जातक शौकीन मिजाज होते हैं | अनेक विषयों में शौक होने के कारण किसी एक विषय में ध्यान केंद्रित नही कर पाते हैं | घुमने-फ़िरने, कपड़ा, नाटक, सिनेमा और खाने-पीने का शौक होता है | ये बहुत चंचल होते हैं | इनसे सफ़लता की आशा कर सकते है पर ये ज्यादा मानसिक मेहनत नही करना चाहते है |
स्वाति नक्षत्र :
इस नक्षत्र के देव वायु और स्वामी राहु है | इस राशि के जातकों में एकाग्रता और सफ़ल होने के गुण पाए जाते हैं | ये अपना लक्ष्य निर्धारित करकेही आगे बढ़ते है | तुला राशि के सारे गुण इस नक्षत्र के जातकों में पाए जाते हैं | ये भाग्यवान होते हैं |
विशाखा नक्षत्र :
इस नक्षत्र के देव इन्द्र-अग्नि है और स्वामी गुरु है | तुला राशि और इस नक्षत्रमें जन्म लेने वाले जातकों में सफ़लता कम पायी जाती है | ये हमेशा मुश्किलों में घिरे रहते हैं | ये कम शौकीन होते हैं | इनके मन में हमेशा विरोधाभाषी विचार चलते रहते हैं अत: ये दुविधा में रहते हैं | शारीरिक सुख की इच्छा में भी दुविधा में रहते है अत: लाभ नही उठा पाते हैं |
 

तुला साप्ताहिक राशिफल – 20-05-2018 – 26-05-2018

सुसंगतता

तुला राशि के बारे में जानिए

संस्कृत नाम : तुला | नाम का अर्थ : तराजु | प्रकार : वायु मूलभूत सकारात्मक | स्वामि ग्रह : शुक्र | भग्यशाली रंग : नीला, हरा | भाग्यशाली दिन : शुक्रवार