https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

आधुनिक ज्योतिष में यूरेनस, नेप्च्यून और प्लूटो की अहमियत

आधुनिक ज्योतिष में यूरेनस, नेप्च्यून और प्लूटो की अहमियत

तीन सबसे बाहरी ग्रहों की खगोलीय खोज – यूरेनस, नेपच्यून और प्लूटो ने हमारे सौर मंडल की सीमाओं का विस्तार किया है। पश्चिमी ज्योतिष, जो भारतीय ज्योतिष से अधिक आधुनिक है, उसने इन ग्रहों को अपनी ज्योतिषीय गणना में शामिल किया। भारतीय ज्योतिष के कुछ वर्ग भी इन तीन बाहरी ग्रहों पर विचार करते हैं। आधुनिक ज्योतिष में यूरेनस, नेप्च्यून और प्लूटो की अहमियत को सहर्ष स्वीकार करते हुए ज्योतिषविद सटीक भविष्यवाणी में इनका उपयोग अब किया करते हैं। हालांकि, पश्चिमी और भारतीय ज्योतिष के तरीके में यूरेनस, नेप्च्यून और प्लूटो की व्याख्या करने के तरीके में कुछ अंतर हैं। प्रस्तुत आलेख में आधुनिक ज्योतिष में यूरेनस, नेप्च्यून और प्लूटो की अहमियत पर प्रकाश डालते हुए यह बताया गया है कि कैसे भारतीय ज्योतिष इन ग्रहों की व्याख्या करते हुए मानव भाग्य का आकलन या तरजुमा करता है। पढ़ते रहिये:

यूरेनस और ज्योतिष:

इंटेलिजेंस का प्रतीक

1781 ईस्वी में यूरेनस ग्रह की खोज हुई थी। भारतीय ज्योतिष में यूरेनस को ‘हर्षल’ या ‘प्रजापति’ भी कहा जाता है। ज्योतिष के अनुसार, यूरेनस और इसकी ऊर्जा काफी शक्तिशाली है। यह बुद्धि का प्रतीक है। इसलिए, यह अनुसंधान, तकनीकी प्रगति, सफलता और समग्र विकास के क्षेत्रों में बहुत योगदान देता है।

मौलिकता और विशिष्टता का पक्षधर

यूरेनस (Uranus) क्या है? एस्ट्रोलॉजी के अनुसार, यूरेनस आकाश और स्वर्ग का देवता है। यह कुंभ राशि का स्वामी भी है। यूरेनस आगे बढ़ने और आगे दिखने का प्रतीक है। इसमें परंपरा भी शामिल है और मौलिकता और व्यक्तित्व की पक्षधर है। यूरेनस प्रगतिशीलता से जुड़ा हुआ है। यह ज्ञान, निष्पक्षता, नवीनता और सरलता को भी व्यक्त करता है। यूरेनस की नकारात्मक अभिव्यक्ति व्यवस्था और गैर जिम्मेदाराना नीतियों के खिलाफ मोर्चा खोल देती है।

क्रांति या बड़े परिवर्तन का प्रतीक

यूरेनस की प्रकृति पुरानी मान्यताओं और कठोर विचारों को तोड़ते हुए नई संरचनाओं का पुनर्निर्माण करना है। इसे एक अत्यंत क्रांतिकारी ग्रह माना जाता है। यूरेनस लोकतंत्र और स्वतंत्र दिमाग में विश्वास करता है। यह अत्याचार सहन नहीं करता। यूरेनस किसी के नियंत्रण या दबाव में कुछ भी नहीं कर सकता है। यूरेनस अंतरिक्ष अनुसंधान, परमाणु अनुसंधान, पुरातत्व के क्षेत्र से भी संबंधित है।

नेपच्यून और ज्योतिष:

असाधारण विकास का जनक

सूर्य से सबसे दूर के ग्रह नेप्च्यून (Naptune) के बारे में वर्ष 1864 में पता चला। नेपच्यून ज्योतिष के अनुसार अंतर्ज्ञान की क्षमता का प्रतिनिधित्व करता है। जिनकी जन्मकुंडली या जन्मांग चक्र में, नेप्च्यून पहले, तीसरे, आठवें , पांचवे , नौवें या बारहवें में होता है वे जातक सहज ज्ञान युक्त होते हैं। नेप्च्यून जीवन में असाधारण घटनाओं और घटनाओं को ट्रिगर कर सकता है। कुछ हद तक नेप्च्यून ग्रह मंगल ग्रह जैसा दिखता है।

क्या आप अपने करियर से असंतुष्ट महसूस कर रहे हैं? सकारात्मक परिवर्तन के लिए हमारे ज्योतिष आचार्यों से अपनी कुंडली के अनुरूप सटीक मार्गदर्शन प्राप्त करें।

बेशुमार नामो-शोहरत देती है नेप्च्यून की कृपादृष्टि

जन्म कुंडली में, यदि नेप्च्यून लाभ ग्रहों के साथ 1, 5 वें और 9वें घरों में बैठा है, तो जातक शानदार सफलता, ऊंचाई और लोकप्रियता को प्राप्त करता है। यदि नेप्च्यून उन राशियों के साथ बैठा है जिनके स्वामी बहुत शक्तिशाली पोजीशन में हैं, तो जातक हमेशा लाइटलाइट में रहेगा।

हमारे अंदर के इंसाँ का प्रतिनिधि

नेप्च्यून हमारे आंतरिक मन, विचार, रचनात्मकता, अनुसंधान कार्य, वित्तीय बाजार, शेयर बाजार, विदेशों से जुड़े बिजनेस, पनडुब्बी, तेल और रासायनिक रिफाइनरी, एंटी बायोटीक दवा, नौसेना, कीटनाशक, समुद्री उत्पाद, खनिज की खान और कुछ हानिकारक प्रभाव वाले जहरीले रसायनों से संबंधित व्यापार का कारक है।

क्या आप अपना काम बदलने की योजना बना रहे हैं? क्या आपने कभी सोचा है कि आपका यह निर्णय सही है या नहीं? तजुर्बेकार पंडितों के पथ प्रदर्शन से अपने सारे दुखों – चिंताओं को रास्ते से हटा डालें। आज ही हमारे ज्योतिषों से संपर्क करें।

प्लूटो और ज्योतिष:

अंडरवर्ल्ड गतिविधियों का मालिक

प्लूटो (Pluto) को 1930 में खोजा गया था। 12 राशि चक्रों में भ्रमण को पूरा करने में इसे 246 साल लगते हैं। बड़े विनाश की घटनाएं प्लूटो के कारण होती है। यह एक बहुत ही दिलचस्प ग्रह है। अंडरवर्ल्ड गतिविधियां, धोखाधड़ी और घोटाले, राजनीतिक समस्याएं, पर्दे के पीछे की गतिविधियों इत्यादि का यह कारक है। प्लूटो यात्रा प्रवास, सफर, कई प्रकार की खोजों और आविष्कारों से भी संबंधित है।

विज्ञान के अध्ययन का प्रोत्साहक

प्लूटो किसी भी क्षेत्र में व्यक्ति को मास्टर बना सकने की काबिलीयत रखता है। प्लूटो प्लेनेट वैज्ञानिक कार्य और अनुसंधान विकास को प्रोत्साहित करता है। प्लूटो अवचेतन बल और सतह के नीचे पड़ी चीजों का प्रतीक है। प्लूटो नवीनीकरण और पुनर्जन्म से भी वास्ता रखता है।

मृत्यु और विनाश का प्रतीक है प्लूटो

प्लूटो दुनिया में कई विनाशकारी चीजों का शासक भी है। यह वृश्चिक चिह्न को नियंत्रित करता है। यह एक विस्फोटक ग्रह है। प्लूटो भूकंप, ज्वालामुखी से भी जुड़ा है। तो, कुल मिलाकर प्लूटो मृत्यु, विनाश, धन के बारे में बताता है। यह सेक्स, आतंकवाद, गूढ़ता और पुनरुत्थान को दर्शाता है। प्लूटो समस्याओं से निपटने के लिए नई तकनीकों का भी प्रतिनिधित्व करता है। यदि प्लूटो कुंडली के लग्न यानी पहले भाव में स्थित है, तो जातक लंबे समय तक अपनी आदतों को नहीं बदल पाएगा। यह व्यक्ति को बहुत कठोर और जिद्दी बना सकता है।

गणेशजी के आशीर्वाद सहित,
उज्जवल रावल
गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम

क्या आपको परेशानियों से मुक्ति का मार्ग नहीं मिल पा रहा है? हम आपकी मदद कर सकते हैं! अपनी समस्या के समाधान के लिए हमारे ज्योतिषी से बात कीजिए

Follow Us