नौ देवियों में से प्रत्येक किस ग्रह का प्रतिनिधित्व करती है? इस लेख में पता करें

Which Planet Does Each Of The Nine Goddesses Represent? Find Out In This Article

अध्यात्म और ज्योतिष एक ही सिक्के के दो पहलू हैं और देवताओं का नौ ग्रहों में से प्रत्येक के साथ एक मजबूत संबंध है। नवरात्रि वह त्योहार है जो देवी दुर्गा के नौ रूपों को समर्पित है और आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि ये 9 रूप ग्रहों के अनुरूप हैं। इस लेख में जानें कि पराक्रमी देवी का कौन सा रूप किस ग्रह का प्रतिनिधित्व करता है।

देवी शैलपुत्री की पूजा करने से आप सूर्यदेव को प्रसन्न कर सकेंगे
देवी ब्रह्मचारिणी की पूजा करके आप शनि ग्रह को शांत कर पाएंगे
देवी चंद्रघंटा की पूजा करके आप चंद्रमा ग्रह को शांत कर पाएंगे
देवी कुष्मांडा की पूजा करने से बृहस्पति ग्रह की शांति होती है
देवी स्कंदमाता की पूजा करने से मंगल ग्रह की शांति होती है
देवी कात्यायनी की पूजा करने से शुक्र ग्रह की शांति होती है
देवी कालरात्रि की पूजा करने से आप राहु ग्रह को शांत करते हैं
देवी महागौरी की पूजा करने से आप बुध ग्रह की शांति करते हैं
देवी सिद्धिदात्री की पूजा करने से आप केतु ग्रह की शांति करते हैं

यह नवरात्रि, विशेष रूप से अभिमंत्रित श्री यंत्र की सहायता से अपने जीवन में धन, सुख और सर्वांगीण समृद्धि को आमंत्रित करें।

गणेश द्वारा महा नवरात्रि के जीवन के उपाय:

गणेशजी सलाह देते हैं कि आप अपने जीवन को सुरक्षित करने के लिए महत्वपूर्ण उपायों का पालन करें।

विभिन्न समस्याओं से मुक्ति पाने के लिए दुर्गा की निम्न प्रतिमाओं का विसर्जन करें। विभिन्न पदार्थों की मूर्तियों का अपना महत्व है।
-बृहस्पति और बुध की शांति के लिए सोने की परत चढ़ी दुर्गा प्रतिमा का नदी में विसर्जन करें।

– चंद्रमा और शुक्र को शांत करने के लिए दुर्गा की चांदी की मूर्ति का विसर्जन करें।
-मंगल ग्रह के प्रतिकूल प्रभाव को दूर करने के लिए दुर्गा की मिट्टी की मूर्ति का विसर्जन करें।
– लोहे की मूर्ति शनि, राहु और केतु को शांत करने के लिए होती है।
ग्रहों की शांति के लिए इस पर्व पर दुर्गा मंत्र का उच्चारण करें: “ओम ह्रीं दम दुर्गाये नमः”
आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि यह मंत्र आठ ग्रहों के माध्यम से संचार करने वाली आठ प्रकार की ब्रह्मांडीय ऊर्जा को कैसे आकर्षित करेगा।

आइए मंत्र को भागों में तोड़ते हैं और यह पता लगाते हैं कि यह किस ग्रह से जुड़ा है।

“ओम” सूर्य को शांत करेगा। यह आपको ऊर्जा और सकारात्मकता प्रदान करेगा।

ह्रीं के द्वारा चंद्रमा को शांत किया जा सकता है। आपके मन में जो कुछ चल रहा है उसे इस जाप से पहचाना जा सकता है।

“दम” मंगल को प्रज्वलित करेगा। यह आपको शक्ति और साहस के साथ सशक्त करेगा।
“डूर” बुध को प्रसन्न करेगा। यह आपको बुद्धि प्रदान करेगा।
“गा” बृहस्पति को मज़बूत करेगा। यह आपके ज्ञान, आध्यात्मिकता, धन को बढ़ावा देगा।
“येई” शुक्र को सशक्त करेगा। यह आपको समग्र खुशी बढ़ाने में मदद करेगा।
“ना” शनि को प्रसन्न करेगा।
“मह” राहु और केतु को प्रसन्न करेगा।

गणेश की कृपा से,
गणेशास्पीक्स.कॉम टीम

View All Festivals