ज्योतिषी से बात कीजिए
X

कर्क वार्षिक प्रेम और संबंध राशिफल

यह साल (2017)

सातवें स्थान पर गुरू की दृष्टि के कारण वैवाहिक योग प्रबल बनेगा। पति-पत्नी के बीच मेल रखेगा। दांपत्यजीवन में मधुरता आएगी। वैचारिक तालमेल अच्छा रहेगा। असंयमित व अमर्यादित प्रेमसंबंध आपकी प्रतिष्ठा को नुकसान पहुँचाएंगे। शनि के वक्री भ्रमण के दौरान 21-6 के बाद अक्टूबरतक प्रेम प्रसंग सार्वजनिक हो जाने की संभावना रहेगी। प्रेम संबंधों के चक्कर में अपने कैरियर को दांव पर न लगाएं। 16-8 के बाद का राहु का भ्रमण प्रेम विवाह की संभावना बढ़ाएगा। 13-09-2017 के बाद चौथे स्थान से गुरू का भ्रमण कभी-कभी मतभेद खड़े कर सकता है। छठे भाव से शनि के भ्रमण के कारण ननिहाल पक्ष से लाभ होगा। दूसरे राहु के भ्रमण के कारण परिवार के सदस्यों के साथ अनबन रहेगी। इस वर्ष शनि के छठे भाव में भ्रमण से शत्रु नष्ट होगा। 20-06-2017 से 25-10-2017 तक शनि का वृश्चिक राशि अर्थात् आपकी राशि से पांचवें स्थान पर भ्रमण आपको संतान संबंधी चिंता कराएगा। परंतु 21-6 के बाद वक्री होने के कारण अक्टूबरतक कोर्ट केस अथवा सरकारी विषयों में परेशानी भरी स्थिति रखेगा। छठे भाव में शनि का भ्रमण लक्ष्मी का आगमन कराएगा, फिर भी कभी आवश्यकता से अधिक खर्च से मन में उद्वेग रहेगा। समाज में मान-प्रतिष्ठा बढ़ेगी। राहु दूसरे स्थान में स्थित होने से भरोसे तथा विश्वास में आपका साथ होगा। हालांकि, अपनी किसी भी चाल से शत्रु का कुछ भी नहीं बिगाड़ पाएंगे। वैवाहिक स्थान में राहु का गोचर भ्रमण 16-8 के बाद आपको स्वार्थ परायणता तथा दंभ की तरफ धकेलेगा। कितनी ही बार आप समाज के नीति-नियमों से विरूद्ध व्यवहार करेंगे। गोचर में गुरू की नवम दृष्टि 13-9 तक बड़े-बुजुर्गों के साथ संबंध सुधारेगी। बड़े-बुजुर्गों, मित्र तथा बड़े व्यक्तियों से आर्थिक लाभ होगा।
#

Trending (Must Read)

कर्क साप्ताहिक राशिफल – 13-08-2017 – 19-08-2017

कर्क मासिक राशिफल – Aug 2017

कर्क राशि के बारे में जानिए

संस्कृत नाम : कर्कट | नाम का अर्थ : केकड़ा | प्रकार : जल मूलभूत नकारात्मक | स्वामि ग्रह : चद्रंमा | भग्यशाली रंग : नारंगी | भाग्यशाली दिन : सोमवार, गुरुवार

अधिक जानें कर्क