जसप्रीत बुमराह की कुंडली में बैठे इन ग्रहों ने बिगाड़ी लाइन-लेंथ


Share on :


साल 2016 में डेब्यू के बाद से ही अपने सफल गेंदबाज़ी आंकड़ों के लिए सुर्खियों में रहने वाले भारतीय तेज गेंदबाज़ जसप्रीत बुमराह, एक बार फिर सुर्खियों में है। हाल ही में न्यूजीलैंड दौरे पर वनडे में करारी शिकस्त के बाद टीम इंडिया और उसके प्रशंसकों में ख़ासी नाराज़गी देखने को मिल रही है। पहले टेस्ट में भी टीम इंडिया कुछ खास नहीं कर पायी और उसे शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा। हालांकि वनडे और टेस्ट में टीम के खराब प्रदर्शन के पीछे कप्तान विराट कोहली के कुछ खराब निर्णयों को भी वजह माना जा रहा है। लेकिन न्यूजीलैंड सीरिज़ में एक खिलाड़ी के नाम की सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है, वह है जसप्रीत बुमराह! कभी अपनी धारदार गेंदों से विरोधी बल्लेबाज़ों के विकेटों की झड़ी लगा देने वाले बुमराह फिलहाल एक-एक विकेट को भी तरस रहे हैं। सितंबर 2019 में अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरिज़ में स्ट्रैस फरैक्चर के कारण बाहर हुए बुमराह को जनवरी 2020 में श्रीलंका के खिलाफ टी20 सीरिज़ में वापसी करने का मौका मिला था।

प्रसंशा से आलोचनाओं तक

बुमराह की वापसी के कुछ ही दिनों बाद आस्ट्रेलिया ने भारत का दौरा किया, लेकिन वहां भी बुमराह कुछ खास नहीं कर पाए। फिलहाल टीम इंडिया का न्यूजीलैंड दौरा जारी है, लेकिन अभी तक तो बुमराह ने अपने प्रदर्शन से निराश ही किया है। उन्होंने चोट से उभरने के बाद सात वनडे मैचों में महज 2 विकेट लिए है। ऐसे में उनके प्रदर्शन पर सवाल उठना शुरू हो गए हैं। हालांकि उनके करियर ग्राफ़ को देखें तो एक समय वे टीम इंडिया के लिए मैच विनर साबित हुए हैं। उनके पिछले साल के प्रदर्शन पर नजर डाले तो उन्होंने आस्ट्रेलिया, साउथ अफ्रीका, इंग्लैंड और वेस्टइंडीज में 12 टेस्ट मैचों में 19.24 की औसत से 62 विकेट चटकाए थे। ऐसे में उनके मौजूदा प्रदर्शन को लेकर कई सवाल लोगों के जहन में उठ रहे हैं। हमने इन्हीं सवालों के जवाब जसप्रीत बुमराह की कुंडली में तलाशने की कोशिश की और जो तथ्य हमारे सामने आए वे काफी चौंकाने वाले हैं।

जसप्रीत बुमराह की कुंडली

जन्म दिनांक – 6 दिसंबर 1993

जन्म स्थान – अहमदाबाद, गुजरात

समय – अज्ञात


कुंडली में ग्रहों की स्थिति

जसप्रीत बुमराह की सूर्य कुंडली में ग्रहों की स्थिति की बात करें तो उनके लग्न भाव में पांच ग्रहों का संयोजन नजर आता है। कुंडली में बुध, राहु, शुक्र, सूर्य और मंगल पहले भाव में बैठे हैं। वहीं शनि सुख स्थान पर और केतु सातवें भाव में बैठे हैं, चंद्रमा दसवें भाव में कर्म स्थान पर वहीं गुरू व्यय स्थान पर बारहवें भाव में बैठे हैं।

क्यों लगातार विफल हो रहे बुमराह

जसप्रीत बुमराह की सूर्य कुंडली में हमने इस सवाल का जवाब ढूंढने की कोशिश की, कुंडली के गहन अध्ययन के बाद पता चलता है, कि मंगल जो कुंडली में आत्मकारक ग्रह हैं। वह अपनी ही राशि वृश्चिक में बैठे हैं। लेकिन गोचर मंगल गोचर केतु के प्रभाव में हैं, और यही कारण है कि बुमराह को सफल वापसी करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। गोचर मंगल और केतु के प्रभावों के कारण ही बुमराह को अपने पेशे में सफलता प्राप्त करने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है, और वे अपना पुराना प्रदर्शन नहीं दोहरा पा रहे हैं। फिलहाल वे विकेट लेने में सफल नहीं हो पा रहे, लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि वे अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रहे हैं। फिलहाल उन्हें गोचर मंगल और केतु परेशान कर रहे हैं, लेकिन जल्द ही गुरू के सकारात्मक प्रभाव उन्हें लाभ दे सकते हैं।

कुंडली में वापसी के सफल योग

बुमराह की सूर्य कुंडली में ग्रहों की स्थिति को बड़े परिप्रेक्ष्य में देखने पर पता चलता है, कि यह दौर बहुत छोटा, और उनका आगामी करियर काफी बड़ा है। निश्चित अवधि की बात करें तो मध्य मार्च 2020 के बाद से उनके प्रदर्शन में सुधार आने की पूरी संभावना नजर आती है। इस दौरान उनके जीवन में कुछ सकारात्मक बदलाव देखने को मिलेंगे और इसका लाभ उन्हें करियर में भी मिल सकता है। कुंडली में गुरू की स्थिति को देखें, तो गुरू अपने स्थान से शनि पर दृष्टि डाल रहे हैं। इसी के साथ आत्मकारक ग्रह मंगल भी बुमराह को अपने निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करने वाले हैं। उल्लेखित समयावधि के दौरान गुरू और मंगल के सकारात्मक प्रभावों से बुमराह सफल वापसी करने में सफलता प्राप्त कर सकते हैं। अपनी गतिशीलता के लिए पहचाने जाने वाले बुमराह इस समयावधि में सफल वापसी करने की पूरी संभावना रखते हैं, और अपने प्रशंसकों को फिर अपने प्रदर्शन से कायल कर सकते हैं।क्या इस साल आप भी कर पाएंगे अच्छा प्रदर्शन, इस सब जान सकते हैं अपने वार्षिक राशिफल 2020 की सहायता से।


जसप्रीत बुमराह की कुंडली का गहन अध्ययन करने पर पता चलता है, कि उनके मन में भी सफलता और निर्धारित लक्ष्य तक पहुंचने की तीव्र इच्छा होगी। कुंडली में ग्रहों की स्थिति बताती है,, कि वे अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए गंभीर प्रयास कर सकते हैं। गाणेशास्पीक्स के अनुसार बुमराह न सिर्फ जीवन में अपने लक्ष्यों को पहचानते हैं, बल्कि स्वप्रयासों से उन्हें प्राप्त भी कर सकते हैं। उनकी कुंडली के अनुसार मौजूदा दौर थोड़ा कठिन और मुश्किलों भरा ज़रूर है, लेकिन आने वाले समय में वे पुनः सफल वापसी करने की पूरी संभावना रखते हैं।

बुमराह के चोटिल होने के पीछे ये थी वजह

सितंबर 2019 में जसप्रीत बुमराह के चोटिल होने के पीछे गोचर ग्रहों के प्रतिकूल प्रभाव का भी हाथ हो सकता है। सितंबर 2019 की अवधि के दौरान गोचर मंगल, चंद्रमा के ऊपर से गुजर रहे थे। इसी के साथ गोचर मंगल बुमराह की सूर्य कुंडली के सूर्य-मंगल और शनि को भी प्रभावित कर रहे थे। बुमराह की सूर्य कुंडली में मंगल आत्मकारक है, और उन पर सुख स्थान पर बैठे शनि भी दृष्टि डाल रहे है। ठीक इसी प्रकार लग्न में बैठे मंगल भी शनि पर दृष्टि डाल रहे है। वैदिक ज्योतिष में मंगल और शनि को विरोधी ग्रह माना गया है। मंगल का जातक के शरीर में खून पर प्रभुत्व होता है वहीं शनि शरीर की हड्डियों और जोड़ों का प्रतिनिधित्व करते हैं। अब पुनः सितंबर 2019 की गोचर स्थिति पर आते हैं उस दौरान गोचर मंगल चंद्रमा से गुज़र रहे थे। सूर्य कुंडली में ग्रहों की स्थिति के अनुसार 2019 सितंबर में गोचर मंगल का चंद्रमा पर से गुजरना हड्डियों और जोड़ों को प्रभावित करने की क्षमता रखता है। ग्रहों की स्थिति को देखते हुए ज्योतिषीय आधार पर यह कहना गलत नहीं होगा कि उस दौरान ग्रहों की नकारात्मक स्थिति के कारण बुमराह को स्ट्रैस फरैक्चर झेलना पड़ा और लंबे समय तक टीम से बाहर रहकर मुश्किलों का सामना करना पड़ा। यदि आप भी कर रहे हैं जीवन में मुश्किलों का सामना तो लीजिये सलाह हमारे ज्योतिषीय विशेषज्ञों की।


स्वास्थ्य के लिहाज से कैसे रहेगा साल 2020

बुमराह की कुंडली देखने पर पता चलता है, कि स्वास्थ्य के लिहाज से साल 2020 उनके लिए औसत रहने वाला है। क्योंकि शनि का वर्तमान गोचर सूर्य कुंडली के चंद्रमा से छठे स्थान पर हो रहा है, इसलिए उन्हें स्वास्थ्य के प्रति सतर्क रहने की सलाह है। हालांकि कोई बड़ी स्वास्थ्य समस्या की संभावना नजर नहीं आती, लेकिन ग्रहों की स्थिति के अनुसार उन्हें छोटी-मोटी स्वास्थ्य समस्याओं के प्रति सचेत रहने की सलाह है। गणेश जी के आशीर्वाद से गणेशास्पीक्स की टीम जसप्रीत बुमराह की सफल वापसी की कामना करती है।

अपने व्यक्तिगत समाधान प्राप्त करने के लिए, एक ज्योतिष विशेषज्ञ से बात करें अभी!
गणेशजी की कृपा से,
गणेशस्पीक्स.कॉम टीम

28 Feb 2020


View All blogs

More Articles