उर्जित पटेल भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए गेम चेंजर साबित हो सकते हैं


Share on :


मित्रों! जब बात इंसानी योग्यताओं, उपलब्धियों आैर क्षमताओं की जाती है तो उस तस्वीर में उर्जित पटेल बिल्कुल फिट बैठते हैं। आप हैरान हो रहे है ना! भारतीय रिजर्व बैंक के इस नए गर्वनर के गुणों व प्रतिभाओं को जानकर आप दांतों तले उंगली दबा लेंगे। लंदन स्कूल आॅफ इकोनॅामिक्स से बेचलर की उपाधि, आॅक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से एम फिल की डिग्री आैर येल विश्वविद्यालय से डॅाक्ट्रेट की उपाधि प्राप्त करने वाले इस चश्माधारी सज्जन ने कर्इ महत्वपूर्ण पदों पर काम और अध्यक्षता की है। और तो और विभिन्न उच्च स्तरीय समितियों का हिस्सा भी रहे हैं। इनकी नियुक्ति भारत के केन्द्रीय आर्थिक मशीनरी के अगले ‘बिग बॅास’ के रूप में जनता द्वारा स्वीकार की गर्इ है। अब  देखना ये है कि सितम्बर में रघुराम राजन की जगह लेने के पश्चात  ये अपनी क्षमताओं का एकाएक प्रदर्शन करेके कैसे सबको अाश्चर्यचकित करते हैं। इस लेख में गणेशजी उर्जित पटेल की सूर्य कुंडली का ज्योतिषीय विश्लेषण करते हुए इनके संभावित प्रदर्शन पर अपना विचार प्रस्तुत करते हैं।

उर्जित पटेल – रिजर्व बैंक के गवर्नर
जन्म तिथि: 28 अक्टूबर 1963
जन्म समय: अनुपलब्ध
जन्म स्थान: मोडासा, गुजरात, भारत
उर्जित पटेल की सूर्य कुंडली


[उर्जित पटेल के विश्वसनीय जन्म समय की अनुपलब्धता के कारण, विश्लेषण और भविष्यवाणियां सूर्य कुण्डली के आधार पर तैयार की गयी हैं। यह कुण्डली इनके जन्म की तारीख और जन्म स्थान पर आधारित है।]


नए एफबीआई बॉस की सूर्य कुंडली का ज्योतिषीय विश्लेषण:

ग्रहों की अनुकूल स्थिति
उर्जित की सूर्य कुंडली में वित्त से जुड़े द्वितीय भाव का स्वामी मंगल अपनी स्वराशि में विराजमान है  और बृहस्पति द्वारा देखा जा रहा है। मंगल अपनी स्वराशि में स्थिति है। दशम भाव जातक के यश – सम्मान और सरकारी सेवा को प्रदर्शित करता है। इस स्थान का स्वामी चंद्र इनकी कुंडली में पंचम भाव में है। साथ ही शेष चारों अहम ग्रह यानीकि शुक्र, मंगल, शनि और गुरू बृहस्पति अपनी-अपनी राशियों में स्थित हैं। इस प्रकार से हम देखते हैं कि ग्रहों का यह अद्भुत विन्यास इनके शीर्ष स्थान पर पहुंचने की कहानी बयां कर रहा है।

महत्वाकांक्षी पटेल:
दशम भाव के अधिपति के पंचम भाव में होने से ये बेहद महत्वाकांक्षी होंगे। स्वयं के प्रयासों से जीवन में सफलता प्राप्त करेंगे। आप जो भी कार्य हाथ में लेंगे उसमें विजयश्री हासिल होगा। व्यावसायिक जीवन में बहुत प्रसिद्धि और सम्मान अर्जित करने के अतिरिक्त अपना एक अलग दबदबा रखेंगे। इसके अलावा, ये संचार में कुशल होने के साथ ही एक अच्छे वार्ताकार भी हैं।

तीक्ष्ण बुद्धि और अभिनव क्षमाता- महत्वपूर्ण ताकत

यह बात बड़ी उल्लेखनीय है कि उर्जित पटेल की कुंडली में बुध तुला राशि में शुक्र के साथ युति में है। इससे इनको अच्छे निर्णय लेने में मदद मिलेगी। ये संतुलित दृष्टिकोण रखने की चेष्टा करेंगे। इसके अलावा, इनके सितारें ये संकेत कर रहे हैं इनका परिपक्व मस्तिष्क है जो मौलिक होने के साथ ही हमेशा कुछ नया करने के लिये उद्यत रहता है।

सिक्के का दूसरा पहलू
अब हम इनकी कुंडली में नकारात्मक ग्रहों के विन्यास का विचार करते हैं। इनकी कुंडली की जन्मकालीन सूर्य नीच का है और अपने शत्रु ग्रह शुक्र के साथ है। इसलिए, इनकी कुछ शीर्ष अधिकारियों व मंत्रियों के साथ किसी प्रकार की गलतफहमियां हो सकती हैं। हालांकि, गुरू बृहस्पति की अनुकूल स्थिति योजनाओं को सुचारू रूप से अमल में लाने,अधिकारियों और मंत्रियों के साथ सौहार्दपूर्ण संबंध बनाने में भी खूब मददगार रहेगी।

सिंहावलोकन
कुल मिलाकर, यदि देखें तो गणेशजी को एेसा लगता है कि मौजूदा आर्थिक मामलों में उर्जित पटेल कुछ महत्वपूर्ण रणनीतिक निर्णय ले सकते हैं। अपनी स्थिति को मजबूत बनाए रखने का पूरजोर प्रयत्न करेंगे। इससे घरेलू निवेशकों का भी विश्वास इनके ऊपर बढ़ेगा। सितंबर 2017 तक की अवधि के दौरान इनका ध्यान अर्थव्यवस्था के स्थिरीकरण और इसे सुदृढ़ करने की ओर रहेगा। लेकिन, उक्त अवधि के पश्चात इनके मन में नित नए-नए विचारों का प्रस्फुटन होगा। यह समय इनके द्वारा नई मौद्रिक नीतियों के आरंभ करने का भी हो सकता है। गणेशजी का कहना है कि आगे आने वाले समय में ये भारत में होने वाले आर्थिक परिवर्तनों के गवाह रहेंगे।

गणेशजी के आर्शीवाद सहित
तन्मय के ठाकर
गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम टीम

क्या आप जानना चाहते हैं कि आगामी वर्ष में आप अपने करियर में कैसा प्रदर्शन करेंगे? क्या आपकी प्रोफेशनल लाइफ में कुछ समस्याएं आ रही हैं। तो हमारे द्वारा अापके लिए खासतौर से तैयार की जाने वाली करियर रिपोर्ट आगामी एक वर्ष के लिए आपको सही राह दिखा सकती है। आज ही आॅर्डर करें!

01 Sep 2016


View All blogs

More Articles