विक्रम संवत 2073 के पूर्वार्द्ध में शेयर बाजार करेगा वृद्घि, सर्राफा बाजार में दिखेगी तेजी


Share on :


मोदी के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार में विक्रम संवत 2072 की शुरूआत बहुत सारी उम्मीदों के साथ हुर्इ। जहां भारतवासी मार्केट में आए कर्इ उतार-चढ़ाव के साक्षी बनें। इन प्रमुख घटनाओं में ब्रेगजिट, अमेरिकी चुनाव, नाॅर्थ कोरिया द्वारा न्यूक्लीयर परीक्षण के कारण विश्व के मार्केट पर लगने वाले झटके, आरबीआर्इ गर्वनर रघुराम राजन का निष्कासन आैर नए आरबीआर्इ गवर्नर उर्जित पटेल की नियुक्ति के साथ ही भारतीय सेना की सर्जिकल स्ट्राइक का प्रभाव विशेष रूप से छाया रहा। इस तरह की अन्य कर्इ घटनाआें के परिणामस्वरूप, बाजार में एक से अधिक अवसरों पर उछाल देखा गया। इसके अलावा, भारतीय बाजारों में भी लगातार वैश्विक झटके लगते रहे आैर ये एक उभरती अर्थव्यवस्था के रूप में बने रहने में सफल रहा। 

दोस्तों, विक्रम संवत 2073 आ चुका है। इस नए साल की शुरूआत इस उम्मीद के साथ हुर्इ है कि जिस तरह दीपावली की अंधियारी रात में छोटे से दीपक भी चारों आेर अपनी रोशनी फैलाते हैं, उसी तरह से शेयर बाजार भी आशा की नर्इ किरण के साथ चमकेगा। 

आगे क्या होगा ? 
अब हम गोचर के ग्रहों की स्थिति और स्वतंत्र भारत की कुंडली को देखते हैं। जिस समय ये आर्टिकल लिखा गया, उस वक्त सेंसेक्स 28100 अंक आैर निफटी 8700 अंक पर था। विक्रम संवत 2073 की शुरूआत थोड़ी-सी धीमी रह सकती है, लेकिन बाजार नवम्बर 2016 के दूसरे पखवाड़े में गति पकड़ेगा। इस समय काॅल रेशियो के बढ़ने की संभावना है। दिसंबर 2016 के तहत पूर्व के निवेश से मुनाफा कमाने का अवसर मिलने की उम्मीद कर सकते है। लेकिन आपको दिसम्बर 2016 में व्यापार करने के दौरान थोड़ा-सा सावधान रहने की सलाह दी जाती है। खैर, क्रिसमस के बाद, जनवरी 2017 के दूसरे सप्ताह से विदेशी निवेशक फिर से सक्रिय रूप से व्यापार कर सकते हैं जिसके फलस्वरूप बाजार फिर से उठने और सुस्त स्थिति से बाहर निकालने की कोशिश करेगा। जनवरी 2017 के दूसरे पखवाड़े और फरवरी 2017 के पहले पखवाड़े में बाजार थोड़ा सुस्त रह सकता है। हालांकि, इसके बाद मार्च 2017 तक स्थानीय फंड हाउस की सक्रियता और बजट के माहौल के बीच बाजार बेहतर प्रदर्शन करेगा। इसके अलावा अप्रैल 2017 में जीएसटी लागू होने की संभावना है, जो कि बाजार को एक नया आयाम देगा। 

जून 2017 के दौरान बाजार खासतौर से तेजी का रूख करेगा। लेकिन, जुलार्इ और अगस्त 2017 में बाजार स्थिरता हासिल करने के लिए कुछ सुधार कर सकता है। एक आशावादी नजरिया रखते हुए गणेशजी कहते है कि बाजार सितंबर और अक्टूबर 2017 के दौरान एक बार फिर से ऊंचार्इयों को छूएगा। आप हमारी एक्सक्लूजिव स्टाॅक मार्केट रिपोर्ट से इस पर बढ़त पाने में सक्षम होंगे, तो अभी आॅर्डर करें !

 
क्या सोना-चांदी चमकेंगे ? 
विक्रम संवत 2073 की पहली छमाही में सर्राफा बाजार स्थिर रहेगा। शुरूआती तीन महीनों में सोने आैर चांदी के बाजार में मामूली उतार-चढ़ाव देखे जा सकते हैं और अंततः पहले की कीमतों की तुलना में नीचे जाएगा। लेकिन इसके अगले तीन महीने, यानीकि फरवरी 2017 से अप्रैल 2017 के अंत तक थोड़े महत्वपूर्ण हो सकते हैैं। इस अवधि के दौरान खासतौर से वैश्विक रूख के कारण, सोने आैर चांदी की कीमतों में जाहिर तौर से कमी आ सकती है। इसलिए, मंदी का दौर शुरू होने से पहले आपको अपने पूर्व के निवेश से मुनाफा सुरक्षित करने की सलाह दी जाती है।  हालांकि, सर्राफा बाजार मर्इ 2017 के बाद तेजी की आेर रूख कर सकता है। जो दीर्घकालीन निवेश की योजना बना रहे हैं, उन्हें जब भी अवसर मिले तो थोड़े से पैसाें का निवेश करना चाहिए। इसके परिणामस्वरूप आप अगली दीवाली पर अच्छा मुनाफा कमाकर एक फलदायक अवधि का जश्न मना सकते हैं। 

हम उम्मीद करते हैं ये साल आपके और देश की अर्थव्यवस्था के लिए काफी प्रगतिकारक रहेगा। भगवान गणेशजी सभी को आशीर्वाद प्रदान करें।  

शुभकामनाएं आैर नया साल मुबारक हो। 

गणेशजी के आशीर्वाद सहित,

क्या आपके मन में जीवन के विभिन्न क्षेत्रों को लेकर कुछ सवाल है ? तो उलझनों में क्यूं रहें ? तुरंत ज्योतिषी से बात कीजिए और सभी उलझनों को दूर करें।

09 Nov 2016


View All blogs

More Articles