सावन में राशि अनुसार करें भगवान शिव की आराधना, दूर होंगे सभी दुख


Share on :


जब मेघ अपनी बूंदों से धरती की तृष्णा शांत करते हैं, तब हिंदू  कैलेंडर के अनुसार सावन या श्रावण महीने की शुरुआत होती है। साल 2020 में श्रावण या सावन महीना 6 जुलाई से शुरू होकर 3 अगस्त तक चलने वाला है। कई पौराणिक धर्म ग्रंथों के अनुसार सावन का मास भगवान शिव का सबसे प्रिय महीना है। माना जाता है इस दौर वे धरती पर ही मौजूद होते हैं और अपने भक्तों पर विशेष कृपा बरसाते हैं। श्रावण के महीने में भगवान शिव की विशेष पूजा की जाती है। विभिन्न मंदिरों और ज्योतिर्लिंगों में भगवान का विशेष श्रृंगार  किया जाता है, और देशभर के श्रद्धालु भगवान की कृपा पाने के लिए कई तरह के उपाय करते है। लेकिन श्रावण या सावन का ज्योतिष से भी गहरा नाता है। सावन में अपनी राशि के अनुसार भगवान शिव की आराधना करने से भगवान शिव का विशेष आशीर्वाद मिलता है, और कई तरह के दुखों से मुक्ति मिलती है। 

सावन में राशि अनुसार करें शिव आराधना…..

 

मेष

राशि – मेष राशि के जातकों को सावन के दौरान दही से शिवलिंग का अभिषेक करना चाहिए और लाल गुलाल और फूल अर्पित करते हुए ओम नागेश्वराय नमः मंत्र का जाप करना चाहिए। 

वृषभ राशि

– वृषभ राशि जातक सावन के दौरान प्रत्येक सोमवार को कच्चे दूध में जल मिश्रित कर शिवलिंग पर चढ़ाएं। इसी के साथ दही, चंदन और सफेद फूल भी अर्पित करें। इस दौरान रूद्राष्टक का पाठ भी फलदायी रहेगा।

मिथुन

– मिथुन राशि जातक सावन के प्रत्येक सोमवार को अनार या गन्ने के रस से भगवान शिव शंकर का अभिषेक करें और बेल पत्र पर सफेद चंदन लगाकर अर्पित करें। इस दौरान ओम नमः शिवाय मंत्र का जाप करें। 
  

कर्क राशि

सावन मास के दौरान कर्क जातकों को प्रत्येक सोमवार को शुद्ध घी से शिवलिंग का अभिषेक करना चाहिए और मावे से बनी मिठाई का भोग लगाना चाहिए। ओम सोमनाथाय नम: मंत्र का जाप करें।

सिंह

सिंह राशि जातकों को सावन के दौरान प्रत्येक सोमवार को गुड़ मिश्रित जल शिवलिंग पर चढ़ाना चाहिए और महामृत्युंजय मंत्र का जाप करना चाहिए। इसी के साथ भगवान के सामने गाय के घी का दीपक भी जलाना चाहिए। 

कन्या राशि

कन्या राशि के जातकों को सावन सोमवार के दौरान गन्ने का रस या जल में बेल पत्र डालकर शिवलिंग का अभिषेक करना चाहिए। इसी के साथ आपको ओम नमः शिवाय मंत्र का जाप करना चाहिए। 


तुला राशि

तुला राशि वाले लोग भगवान शिव पर इत्र या सुगंधित जल चढ़ाएं इसी के साथ शिव सहस्त्रनामों का पाठ करें। शिवजी को श्रीखंड, चंदन और सफेद चंदन लगी बिल्व पत्र अर्पित करें। 

वृश्चिक राशि

– वृश्चिक जातकों को सावन के प्रत्येक सोमवार को पंचामृत से भगवान शिव का अभिषेक कर, रूद्राष्टक का पाठ करना चाहिए। इससे व्यापार से संबंधित सभी समस्याओं का हल होता है। 

धनु राशि

धनु राशि जातक सावन के प्रत्येक सोमवार को गाय के दूध में केसर मिलाकर शिवलिंग का अभिषेक करें। इसी के साथ एक बिल्वपत्र पर चंदन लगाकर शिवलिंग पर अर्पित करें। पंचाक्षरी मंत्र का जाप करें।

मकर राशि

– मकर जातकों को सावन के हर सोमवार को जल में कुशा डालकर भगवान का अभिषेक करना चाहिए। गेहूं का दान करें और पंचाक्षर मंत्र ओम नमः शिवाय का जाप करें 

कुंभ राशि

–  कुंभ राशि जातक सावन के प्रत्येक सोमवार जल में तिल डालकर शिवलिंग का अभिषेक करें और सरसों के तेल का दीपक भगवान के समक्ष जलाएं। इसी के साथ भगवान शिव के षडाक्षर मंत्र का ग्यारह बार जाप करें। 

मीन

– मीन जातकों को सावन के दौरान प्रत्येक सोमवार को दूध अथवा पानी में हल्दी मिलाकर भगवान का अभिषेक करना चाहिए और शिव तांडव का पाठ करना चाहिए। 



03 Jul 2020


View All blogs

More Articles