For Personal Problems! Talk To Astrologer
X

मेष राशि में बुध का राशि परिवर्तन 2018 : जानिए राशिनुसार बुध का फल


Share on :

 

बुध और ज्योतिष

बुध ग्रह ज्योतिष विज्ञान के अनुसार समस्त ग्रहों में युवराज है। काल पुरुष की कुंडली में बुद्धि का कारक बुध है। सौर मंडल में यह सूर्य के सबसे नजदीक का ग्रह है। शुभ बुध ग्रह के प्रभाव से बुद्धि, वाक्चातुर्य, समझ शक्ति और सौम्यता में वृद्धि होती है। कुंडली में शक्तिशाली बुध वाला व्यक्ति अपनी वाणी के बल पर किसी भी व्यक्ति से अपनी बात को मनवाने का सामर्थ्य रखता है। एेसा जातक दीर्धायु जीवन जीता है। राशि चक्र में बुध को मिथुन और कन्या राशि का स्वामी कहा गया है। बुध उत्तर दिशा में बलवान बनता है। अपनी कन्या राशि में बुध उच्च का हो जाता है। अगर आपकी कुंडली में बुध राहु या केतु के साथ युति या मेल में है तो यह बुध दोष थाइराइड रोग दे सकता है। सूर्य से इसका अंतर 28 से ज्यादा नहीं होता। यही कारण है कि आप जब भी अपनी कुंडली देखेंगे तो इसे या तो सूर्य के साथ या फिर इसके आसपास पाएंगे। सूर्य, शुक्र और राहु इसके मित्र ग्रह है जब कि मंगल, चंद्र और गुरु इसके शत्रु ग्रह है। शनि तटस्थ ग्रह है। ये वैश्यों और शुद्रों का कारक ग्रह है। शरीर में त्वचा पर इसका प्रभुत्व होता है। बुध का हरा रंग है। चारों वेदों में यह अर्थवेद का स्वामी है। अंक शास्त्र के अनुसार बुध का अंक 5 है।

 

बुध चरित्र वाले व्यक्तियों की पहचान

उत्तम बुध चरित्र वाला व्यक्ति मस्तमौला, मिलनसार, हंसीमजाक और विनोदी होता है। यह वात, कफ और पित्त इन तीनों की मिलीजुली प्रकृति को अपने अंदर लिए रहता है। इसे मिश्र रस वाले पदार्थ ज्यादा अच्छे लगते हैं। बुध आदमी को एक अच्छी विश्लेषण शक्ति से युक्त करता है। जातक को कैलक्युलेटिव बनाता है। कुंडली में अपनी अच्छी में रहने पर बुध से संबंधित व्यापारव्यवसाय जैसे बैंकिग, फाइनेंस और कमीशन से जुड़े कामकाजों में काफी सफलता मिलती है।

 

खराब बुध के लक्षण

बुध ग्रह के रोग या खराब बुध के लक्षणों की बात करें तो कुंडली में यदि बुध कमजोर हो, पाप ग्रह के साथ मिलकर युति बना रहा हो अथवा पाप ग्रहों की दृष्टि में हो तो जातक को गुप्त रोग, वायु विकार, बोलने की तकलीफ (गूंगापन या बोली में तुतलाहट), त्वचा रोग, चित्त भ्रम, बुद्धि या विवेक का अभाव इत्यादि देखने को मिलता है।

 

मेष राशि में बुध का राशि परिवर्तन 2018

वैदिक ज्योतिष के अनुसार, दिनांक 9-5-2018 के दिन की शाम 17.28 बजे से बुध का मेष राशि में गोचर होता है। यह दिनांक 27-5-2018 के दिन सवेरे 6.24 बजे तक वहीं रहेगा। दिनांक 9-5 से 18-5 तक बुध अश्विनी नक्षत्र में, 18-5 से 25-5 तक भरणी नक्षत्र में और 25-5 से 27-5 तक कृतिका नक्षत्र में विद्यमान रहेगा। 12 राशियों में बुध का फल कैसा रहेगा इसका स्पष्ट खुलासा यहां किया गया है।

 

(कृपया ध्यान दें: इन भविष्यवाणियों को चंद्र राशि के अनुसार दिया गया है। परन्तु, कुछ प्रभावों को लग्न राशि से भी देखा जा सकेंगा। यदि आप अपनी लग्न राशि जानना चाहते हैं, तो कृपया यहां क्लिक करें।)

 

मेष राशि

मेष राशि के जातकों के लिए बुध कुंडली के तीसरे और छठें स्थान का मालिक है। बुध प्रथम भाव में से प्रसार करता है। बुध राशि परिवर्तन की बात करें तो मुख्य रूप से नौकरचाकर, एक्टिवटी, मित्रों, छोटे भाईबहन, रोगशत्र, ननिहाल पक्ष वगैरह के मामलों में बुध का गोचर दिनांक 18-5 तक कमजोर अथवा अपेक्षा से कम फल देने वाला होगा। वहीं इसके बाद के समय में आप एक अच्छे फल की आशा कर सकते हैं।

 

क्या आपको करियर में कोई प्रश्न है? हमारी करियरएक प्रश्न पूछें खरीदें और सुनहरा मार्गदर्शन प्राप्त करें।

 

वृषभ राशि

वृषभ राशि के जातकों के लिए बुध दूसरे और पांचवें स्थान का मालिक बनता है। धनेश बुध द्वादश भाव में से भ्रमण करता है। ता.18-5 तक वैवाहिक जीवन में होने वाले कम्युनिकेशन में आपको ध्यान रखना होगा। विचारों से नकारात्मकता झलक सकती है। आर्थिक और कौटुंबिक मामलों में आपको अपेक्षित सफलता नहीं मिलेगी। लोगों की तरफ से पूरा समर्थन नहीं मिलेगा। हालांकि, इस अवधि के बाद का समय आपके लिए अनुकूलताओं वाला रहेगा। आप शेयरसट्टे जैसी चीजों में जोखिम उठाकर कमाई करने में भाग्यशाली रहेंगे। खेलकूद से जुड़े जातकों का परफॉरमेंस इम्प्रूव होगा। संतान के साथ संबंधों में सुधार आएगा। संतान की बदौलत आपको सुख प्राप्ति होगी।

 

हम आप के व्यवसाय का साल 2018 में तेज़ी से विकास करने में सहायक हो सकते हैं। हमारी 2018 बिजनेस रिपोर्ट आपकी मददगार सिद्ध हो सकती है।

 

मिथुन राशि

आपकी राशि से बुध एकादश भाव में से बुध का गोचर भ्रमण होता है। मिथुन राशि में बुध प्रथम स्थान और सुख स्थान का मालिक बनता है। बुध गोचर के दौरान ता. 18-5 तक चलअचल संपत्ति से जुड़े मामलों में सचेत रहें। माता से जुड़ी चिंता से दुखी रहेंगे। हालांकि, इसके बाद के चरण में आपको इन दोनों मसलों पर कुछ सुधार नजर आएगा। दिनांक 18-5 के बाद की अवधि में शिक्षण संबंधी मामलों में सफलता प्राप्त कर सकेंगे। किसी नए विषय में ज्ञानवृद्धि करेंगे। मन के स्थिर रहने से अब आप महत्वपूर्ण मामलों पर भी गंभीरतापूर्वक विचार कर पाएंगे।

 

क्या आप तेजी से 2018 में अपने कैरियर में विकास चाहते हैं? तो 2018 कैरियर रिपोर्ट की मदद क्यों नहीं लेते।

 

कर्क राशि

कर्क राशि के जातकों के लिए बुध बारहवें और तीसरे स्थान का मालिक है। आपकी राशि के दसवें स्थान यानी कर्म स्थान से यह प्रसार करेगा। 18-5 ता. तक आपको छोटे भाईबहनों के साथ संबंधों में तनाव रहेगा। कम दूरी की यात्राओं में भी सावधानी बरनती होगी। आकस्मिक खर्चों की आशंका को देखते हुए व्यवस्थित रूप से बजट बनाकर ही आगे बढ़ें। किसी पुराने रोग में उपचार का कम असर दिखाई देगा। हालांकि, इसके बाद का समय आपके लिए सकारात्मक होने से उपरोक्त मामलों में सुधार परिलक्षित होगा। जातक उत्तरार्ध के समय में खर्च को टालने में समर्थ रहेगा।

 

अपने व्यवसाय से जुडी बातों के लिए गणेशास्पिक्स की टीम से सलाह मशवरा कीजिए जिससे आप योग्य दिशा चुन सकें। हमारी सेवा व्यवसायएक प्रश्न पूछें रिपोर्ट खरीदें।

 

सिंह राशि

बुध सिंह राशि के जातकों के लिए दूसरे और ग्यारहवें स्थान का मालिक है। बुध नवम भाव में से यानी आपके भाग्य स्थान से भ्रमण करता है। बुध गोचर के पूर्वार्ध समय में आपको बहुत चौकन्ने रहना होगा। आर्थिक, पारिवारिक मामलों, मित्रों और बड़े भाईबहन से मिलने वाले सहयोग के मामलों में 18-5 ता. तक आपको समाधान का रुख अपनाना होगा। इस समय दौरान आपको अपनी अपेक्षाएं भी घटानी होगी। हालांकि, इसके बाद के समय में आपके लिए एक शुभ समय का आगाज होने से परिस्थितियां खुदखुद आपके हक में आ जाएंगी। जो लोग आपको सपोर्ट नहीं कर रहे थे अब वहीं लोग मददगार बनकर आपके साथ खड़ नजर आएंगे।

 

क्या आप व्यवसाय में किसी परेशानी का सामना कर रहे हैं? यदि हां, तो करियरएक प्रश्न पूछें की तुंरत सहायता लेनी जरूरी है।

 

कन्या राशि

कन्या राशि का मालिक बुध होता है। कुंडली में यह आपके प्रथम और दशम स्थान का मालिक बनता है। कन्या की कुंडली में बुध अष्टम भाव से गुजरता है। ता. 18-5 तक आपको शारीरिक और मानसिक सुख के मामलों में अधिक अलर्ट रहना चाहिए। कार्यक्षेत्र में दूसरों के साथ बोलने या कम्युनिकेशन करते समय आपके शब्दों का उलटा अर्थ लगाया जा सकता है। यदि बुध आठवें भाव में से प्रसार हो रहा हो तो व्यवहार में पारदर्शिता रखें। पूर्व के चरण में आपके भीतर स्वास्थ्य सुधार रहेगा। पिता के साथ संबंधों में मजबूती आएगी। सत्ता से जुड़े मसलों को अपनी होशियारी व सूझबूझ से आसानी से सुलझा लेंगे।

 

साल 2018 में अपने कैरियर संबंधी संभावनाओं को जानकर तदनुसार योजना बनाएं। 2018 कैरियर रिपोर्ट आपके काफी काम आ सकती है।

 

तुला राशि

बुध तुला राशि में बाहरहवें और नौवें स्थान का मालिक बनता है। यह आपकी राशि से बुध सप्तम भाव में से अर्थात जीवनसाथी और भागीदारी के स्थान में से भ्रमण करता है। बुध के गोचर की शुरूआत का समय यानी ता.18-5 तक भाग्यवृद्धि के अवसरों में अवरोध ला सकता है। जीवन साथी के साथ संबंधों में भी नीरसता रहेगी। विवाहितों को अपनी उम्र से कमर के सालेसालियों में ध्यान रखने की जरूरत होगी। आकस्मिक खर्च की संभावना से भी इंकार नहीं किया जा सकता। हालांकि, बुध भाग्येश होने से उत्तरार्ध के समय में आपके लिए इनकम की संभावनाएं पैदा करेगा। भागीदार की तरफ से समर्थन और लाभ की राशा कर सकते हैं। आकाशीय ग्रह आपके लिए लंबी अवधि कि यात्रा के अवसर पैदा करेंगे।

 

जानिए साल 2018 में आपके धंधेकारोबार की स्थिति कैसी रहेगी, हमारी सेवा 2018 बिजनेस रिपोर्ट के द्वारा।

 

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि में बुध छठे भाव में से यात्रा करता है। वृश्चिक वालों के लिए बुध ग्यारहवें और आठवें स्थान का स्वामी बनता है। दिनांक 18-5 तक आपको दैनंदिन इनकम के साधनों पर प्रतिकूल असर पड़ने की आशंका रहेगी। बड़े भाईबहन और मित्रों के साथ चर्चा करते समय विनम्रता व शिष्टता से पेश आएं। हो सकता है कि खगोलीय ग्रहों का भ्रमण दैवयोग से आपके बीच होने वाली रोजमर्रा की बातों में बहस, बोलचाल या झगड़े की नौबत ला दे। मिलने वाले आर्थिक लाभों में भी अवरोध आने की आशंका रहेगी। दिनांक 18.5 के बाद आपकी पुश्तैनी संपत्तियों का समाधान निकलेगा। चिंता में रहने के बावजूद आशावान रहेंगे। पुरानी बीमारियों में जातक को रोग कुछ मिटते नजर आएंगे। आपके अटके हुए लाभ भी मिल सकते हैं।

 

क्या आपको व्यवसाय में समस्याएं आ रही हैं? हमारी व्यवसायएक प्रश्न पूछें रिपोर्ट खरीदें और अपनी समस्या का उत्तर पाएं।

 

धनु राशि

धनु जातकों के लिए बुध सातवें और दसवें स्थान का मालिक बनता है। आपकी राशि में बुध पंचम भाव में से यानी कुंडली के त्रिकोण स्थान से गतिमान होता है। दिनांक18-5 तक दांपत्य जीवन, व्यक्तिगत जीवन, भागीदार के साथ संबंधों, सार्वजनिक जीवन में आपकी सक्रियता, कर्मक्षेत्र, पिता के साथ संबंध, सरकारी और कानूनी मामलों में कमजोर और प्रतिकूल परिणाम दे सकता है। वहीं उत्तरार्ध के समय में आप हालातों को अपनी तरफ मान सकते हैं।

 

क्या आप अपनी करियर संबंधी समस्या को सुलझाना चाहते हैं तो तुरंत ही करियरएक प्रश्न पूछें रिपोर्ट खरीदें।

 

मकर राशि

मकर राशि के जातकों के लिए बुध छठे और नौवें स्थान का स्वामी होता है। मकर में बुध चौथे भाव में से भ्रमण करता है। बुध के गोचर के दौरान मुख्य रूप से पूर्वार्ध के समय में रोग और शत्रुओं से अपनी सुरक्षा करनी होगी। धार्मिक मामलों में खर्च की संभावना रहेगी। हालांकि, धार्मिक आशय से मुसाफिरी का आयोजन होगा। संभावित चोटों से अपनी रक्षा करें। ननिहाल पक्ष के साथ संबंध भी ठीकठाक रहेंगे। दिनांक 18-5 के बाद आपको नौकरचाकर का सुख मिलेगा। आपके हाथ के नीचे काम कर रहे लोगों की मदद मिलेगी। भाग्यवृद्धि के अवसर आपके समक्ष आएंगे। छोटे सालासाली के साथ आपके संबंध अच्छे रहेंगे। आपके हाथों परोपकार का काम होगा।

 

क्या आप अपने व्यवसाय में विकास के अभिलाषी हैं तो 2018 बिजनेस रिपोर्ट खरीदें और भविष्य को समझते हुए सुचारु रूप से एक ठोस योजना बनाएं।

 

कुंभ राशि

कुंभ राशि में बुध तृतीय भाव में से पारगमन करता है। बुध आपके लिए पंचम और अष्टम स्थान का मालिक है। ता. 18-5 तक प्रेम संंबंधों, संतान से संबंधित मामलों, खेलकूद, शेयरसट्टे से जुड़ी प्रवृत्तियों, वसीयत, आर्थिक व्यवहारों आदि में अपेक्षा से कम फल मिलेगा। लेकिन, उत्तरार्ध के समय में आप अपने प्रिय के साथ संबंधों में निकटता आने की आशा कर सकते हैं। विवाहित जनों के संतान प्राप्ति से जुडे़ प्रश्नों का निपटारा हो सकता है। जो लोग संतान से धन्य हैं उनको उनके द्वारा किसी प्रकार की खुशी मिल सकती है।

 

क्या करियर से संबंधित परेशानियों से आप की रातों की नींद उड़ गयी है? उत्तर हमारे पास है। 2018 कैरियर रिपोर्ट के जरिए अपने कैरियर के भविष्य को पता करके आगे बढ़ें।

 

मीन राशि

मीन राशि के जातकों के लिए बुध चौथे और सातवें स्थान का मालिक बनता है। यहां बुध दूसरे भाव में से यानी कि धन स्थान से निकलता है। स्थायी मिल्कियतों से जुड़े प्रश्न ता.18-5 तक अटके हुए रहेंगे। इस समय तक में आपको माता से संबंधित चिंता सताती रहेगी। वाहन सुख से अलहदा रहेंगे। वाहन में किसी प्रकार की रिपेयरिंग इत्यादि आ सकती है। हालांकि, 18-5 ता. के बाद स्थिति में सुधार आने से दांपत्य जीवन, व्यक्तिगत जीवन और सार्वजनिक जीवन के सुख अच्छी तरह से उठाने में सफल रहेंगे। उत्तरार्ध की अवधि में आप नयी भागीदारी या नया करार कर सकते हैं। वर्तमान भागीदारी भी एक नई ऊंचाई तक पहुंचेगी। स्थायी और चल संपत्तियों के मामले सुलझने से आप राहत का अनुभव करेंगे।

 

हमारी सेवा व्यवसायएक प्रश्न पूछें रिपोर्ट की मदद से अपने बिजनेसव्यवसाय संबंधी उलझनों को दूर करें।

 

गणेश के आशीर्वाद के साथ,
प्रकाश पंड्या

गणेशास्पीक्स डाॅटकाॅम टीम


क्या आपको अपनी चिंताओं से बाहर निकलने का रास्ता नहीं सूझ रहा है? म आपकी मदद कर सकते हैं! अपनी समस्या के समाधान के लिए हमारे दैवज्ञ ज्योतिषी से बात कीजिए

09 May 2018


View All blogs

More Articles