बुध पारगमन 2017, बुध कुंभ में


Share on :


बुध कुंभ राशि में : समय प्रयोग करने का है आैर उन विचारों या अवधारणाआें से छुटकारा पाने का है जो निरर्थक है 

बुध पारगमन की तारीखेंः
बुध 22 फरवरी 2017 को कुंभ राशि में प्रवेश करेगा आैर उसमें 11 मार्च 2017 तक रहेगा। इसके बाद वो अपनी नीच राशि मीन में प्रवेश करेगा। 

बुध वक्री 2017: हालात अव्यवस्थित हो उससे पहले चीजों की अच्छे से योजना बना लें। ये बात गौर करने की है कि बुध 10 अप्रेल 2017 से 3 मर्इ 2017 के बीच वक्री गति में यात्रा करेगा। एेसे में ये बेहतर होगा कि फाइनेंस, डाॅक्यूमेंटेशन, लीगल एग्रीमेंट या कांट्रेक्ट से संबंधित महत्वपूर्ण मामलों को अंतिम रूप देने की प्रक्रिया पूरी कर लें। 

बुध कुंभ में – घटना को समझे 
बुध एक एेसा ग्रह जो हमारी बातचीत, कम्यूनिकेशन, अभिव्यक्ति, चीजों का अनुभव करने आैर उसे समझने के तरीके पर प्रभाव ड़ालता है। छोटा लेकिन अत्यधिक महत्वपूर्ण ग्रह हमारी बुद्घिमता आैर तार्किक ढंग से सोचने की क्षमता को लक्षित करता है। इस प्रकार एक महत्वपूर्ण ग्रह वायुतत्व राशि – कुंभ में प्रवेश करेगा, जो अभिनव आैर वैज्ञानिक सोच का प्रतीक है। 

बुध का कुंभ में गोचरः अपने सामान को संभाल कर रखें, चोरी की संभावना है 
बुध एक एेसा ग्रह है, जो हमारे सोचने, याद करने आैर चीजों के स्मरण करने की क्षमता को दर्शाता है। जब इस ग्रह की राहु-केतु की साथ युति हो रही हो, तो हमें अधिक सावधान रहना होगा। एेसा इसलिए क्यूंकि राहु आैर केतु वे ग्रह है जो उलझन आैर भ्रम उत्पन्न करते है। इसके परिणामस्वरूप, हम चीजों को भूलने लगते है।   

उदाहरण के तौर पर, आप अचानक ये भूल सकते है कि आपने कार की चाबी कहां रखी है या फिर एेसा हो सकता है कि एटीएम से निकलने से पहले आप अपना सामान लेना भूल सकते है। या, फिर आप कोर्इ कीमती चीज खो सकते है, इसके अलावा चोरी जैसी घटनाएं भी हो सकती है। एेसे में अत्यधिक सावधान रहें आैर अपने सामान का ध्यान रखें। 

बुध कुंभ मेंः सभी राशियों के लिए भविष्यवाणियां 
[कृपया ध्यान देंः ये भविष्यवाणियां चंद्र राशि को ध्यान में रखकर की गई हैं। लेकिन, इसका कुछ प्रभाव लग्न राशि वालों पर भी लागू होंगे]

कुंभ राशि में बुध का गोचर – मेष राशि पर प्रभाव 

– बुध ग्यारवें भाव में 
जब बुध कुंभ में पारगमन करेगा आपको दोस्तों का साथ अच्छा लगेगा। आपकी दोस्त आपकी कंपनी का आनंद लेंगे। आपके काम को सराहा जाएगा आैर यहां तक कि आपको अपने कार्यस्थल से लाभ मिल सकता है। इस अवधि के दौरान आपकी सेहत अच्छी रहेगी। आप अपने दोस्तों के साथ एक ट्रिप की योजना बनाएंगे आैर वहां बेहतरीन समय बिताएंगे। आप नए कम्यूनिकेशन उपकरण जैसे मोबाइल फोन खरीद सकते है या कोर्इ आपको उपहार दे सकता है। 

संभावित समस्याएं: आपके भार्इ-बहिनों के साथ आपके रिश्ते में कुछ गलतफहमियां हो सकती है या उनके साथ तर्क हो सकते है। 


कुंभ राशि में बुध का गोचर – वृषभ राशि पर प्रभाव
 
– बुध दशम भाव में 
गणेशजी के अनुसार कुंभ में बुध के गोचर के दौरान कार्यस्थल पर अाप किसी के प्यार में पड़ सकते है, इसकी प्रबल संभावना है। ये अवधि वित्तीय लाभ के मामले में सकारात्मक रहेगी। कार्यस्थल पर आपको सम्मानित किया जा सकता है। आपका कोर्इ परिजन आपके घर आ सकता है या फिर आप अपना समय आैर पैसा अपने रिश्तेदारों पर खर्च कर सकते है। 

संभावित समस्याएं: बुध के गोचर के दौरान आप बड़ी आसानी से विचलित हो सकते है। एेसे में आपको निश्चित लक्ष्य निर्धारित करने हाेंगे आैर उन्हें प्राथमिकता दें। 


कुंभ राशि में बुध का गोचर – मिथुन राशि पर प्रभाव 

– बुध नवम भाव में 
जब बुध कुंभ राशि में पारगमन करेगा तब आप उच्चस्तरीय शिक्षा में अच्छा प्रदर्शन करेंगे। आप किसी दीर्घामी धार्मिक यात्रा की भी योजना बना सकते है। आपको वाहन से लाभ मिलेगा या आप नया वाहन लेने की योजना बना सकते है। आप खुद को एेसी गतिविधियों में लिप्त पाएंगे जो आपको संतुष्टि दें। 

संभावित समस्याएं: आपको नए एग्रीमेंट में शामिल होने से पहले अत्यधिक सावधानी बरतनी होगी। 


कुंभ राशि में बुध का गोचर – कर्क राशि पर प्रभाव 

– बुध आठवें भाव में 
बुध के गोचर के दाैरान आपको यात्रा के दौरान परेशानियां आ सकती है। वहीं इस अवधि के दौरान आपकी निजी जिंदगी में अशांति रह सकती है। हालांकि इस समय आपको अपनी उधारी चुकाने का अवसर मिलेगा। वहीं आप अपने ससुराल पक्ष के लोगों पर खर्चा कर सकते है। आप संचार में कठिनार्इयों का सामना करेंगे। तर्क आैर गणित में अच्छे नंबर हासिल करना आपके लिए कठिन होगा। 

संभावित समस्याएं: कम्यूनिकेशन में कुछ समस्याएं हो सकती है। आपको लिखित संवाद में खासतौर से सावधानी बरतनी होगी। 


कुंभ राशि में बुध का गोचर – सिंह राशि पर प्रभाव 

– बुध सातवें भाव में 
बुध के कुंभ राशि में पारगमन के दौरान आप अपने जीवनसाथी के साथ अच्छा समय बिताएंगे। साथ ही आपको अपने दोस्तों की कंपनी अच्छी लगेगी। आपको अपने किसी परिजन से सप्राइज गिफट मिल सकता है। आप भी अपने करीबी अौर प्रियजन पर खर्च कर सकते है। 

संभावित समस्याएं: हालांकि, ये अच्छा समय होगा, लेकिन बुध के साथ केतु की युति बाद में कुछ गलतफहमियां उत्पन्न करेगा। एेसे में बुद्घिमतापूर्वक नए संपर्क चुनें। 


कुंभ राशि में बुध का गोचर – कन्या राशि पर प्रभाव 

– बुध छठें भाव में
जब बुध का कुंभ राशि में गोचर होगा तब आपको अपनी सेहत का ख्याल रखना होगा। इस अवधि में स्वास्थ्य की परवाह ना करना आपको नुकसान पहुंचाएगा। नियमित व्यायाम करें आैर हेल्दी खाना खाने की आदत ड़ालें। इस समय आप कुछ सेहत संबंधी मसलों का अनुभव कर सकते है। जो काम आपको सौंपे गए है उनको पूरा करने में देरी हो सकती है। पेशेवर मोर्चे पर ये समय अच्छा नहीं है। 

संभावित समस्याएंः कार्यस्थल पर लोगों के साथ कुछ गलतफहमियां हो सकती है। टकराव करने से बचें।  


कुंभ राशि में बुध का गोचर – तुला राशि पर प्रभाव 

– बुध पांचवें भाव में
बुध के कुंभ में राशि में पारगमन के दौरान आपका वैवाहिक जीवन अच्छा रहेगा आैर आप दोनों एक-दूसरे के साथ अच्छा समय बिताएंगे। बल्कि आप अपने प्रिय के लिए कुछ खर्चा कर सकते है आैर यहां तक कि आप उसे कोर्इ कीमती तोहफा उपहार दे सकते है। उच्च शिक्षा के लिए ये समय अच्छा है आैर आपको कम्यूनिकेशन से लाभ मिलेगा। आप किसी धार्मिक यात्रा पर जाने का फैसला कर सकते है।  

संभावित समस्याएंः शेयर बाजार या सट्टेबाजी से जुड़े मामलोें को लेकर ये समय अच्छा नहीं होगा। 


कुंभ राशि में बुध का गोचर – वृश्चिक राशि पर प्रभाव 

– बुध चौथे भाव में 
जब बुध कुंभ राशि में गोचर करेगा तब इस अवधि में आप अपने दोस्तों के साथ अच्छा समय बिताएंगे। आपके ससुराल पक्ष से कोर्इ व्यक्ति आपके घर आ सकता है। आप उस पर कुछ खर्चा कर सकते है या अपने दोस्तों के साथ घर पर पार्टी कर सकते है। वाहन पर होने वाला आकस्मिक खर्च आपको परेशान कर सकता है। वहीं आपकी मां की सेहत भी आपको चिंतित कर सकती है।  

संभावित समस्याएंः विरासत से जुड़े मामले अचानक जटिल हो सकते है।  


कुंभ राशि में बुध का गोचर – धनु राशि पर प्रभाव 

– बुध तीसरे भाव में 
बुध के पारगमन के दौरान आप अपनी पत्नी के साथ अच्छा समय बिताएंगे। आपकी कम्यूनिकेशन स्किल में भी सुधार आएगा आैर अगर आप किसी परीक्षा की तैयारी कर रहे है तो ये समय सकारात्मक रहेगा। पेशेवर आवश्यकताआें के कारण इस अवधि में आप खूब यात्राएं करेंगे। वहीं आपके काम को सराहा जाएगा। 

संभावित समस्याएंः कार्यस्थल पर सीनियर्स से बातचीत के दौरान सतर्क रहें। इसके अलावा,पेशेवर क्षेत्र में प्रतिक्रिया देने में फुर्तीला बनें।  


कुंभ राशि में बुध का गोचर – मकर राशि पर प्रभाव 

– बुध दूसरे भाव में 
बुध के कुंभ राशि में गोचर की अवधि में भाग्य अापके पक्ष में रहने वाला है आैर आपको वित्तीय लाभ पाने के कर्इ अवसर मिलेंगे। यानि भाग्य की देवी आपके पक्ष में होगी। हालांकि आपको सेहत संबंधी मसलों पर कुछ पैसे खर्च करने पड़ सकते है। आपके दुश्मनों की ताकत कमजोर हो जाएगी आैर वे आप पर जीत हासिल करने में सक्षम नहीं होंगे।  

संभावित समस्याएंः वित्तीय रूप से बड़ा कदम उठाने के लिए आप प्रलोभन दे सकते है, लेकिन ये वांछित परिणाम नहीं देगा। एेसे में मामलों में पेशेवर मार्गदर्शन लेना बेहतर रहेगा। 


कुंभ राशि में बुध का गोचर – कुंभ राशि पर प्रभाव 

– बुध प्रथम भाव में 
जब बुध का कुंभ राशि में गोचर होगा तो ये अवधि किसी रिश्ते में जुड़ने के लिए ये समय अनुकूल रहेगी। इस चरण में आपका साथी आपको खुश रखेगा। अपने किसी बड़े के मृत्यु का दुखद समाचार आपको मिल सकता है। आपको अपने ससुराल पक्ष से अनपेक्षित मदद मिल सकती है। इस चरण में आपकी कम्यूनिकेशन स्किल बढ़ेगी आैर आप आसानी से खुद को व्यक्त करने में सक्षम होंगे। 

संभावित समस्याएंः आपके अपने परिवार में अपने किसी बड़े की सेहत का ख्याल रखने की जरूरत हो सकती है। 


कुंभ राशि में बुध का गोचर – मीन राशि पर प्रभाव 

– बुध द्वादश भाव में
बुध के पारगमन के दौरान आपको अपनी भावनाआें को व्यक्त करने में आपको परेशानियां आएगी। आकस्मिक खर्चे आपको लगातार परेशान कर सकते है। इस अवधि के दौरान आपके अपने जीवनसाथी के साथ मतभेद होंगे। आप शांति की कमी महसूस करेंगे। आपको वाहन पर खर्च करना पड़ सकता है। वहीं प्रतिस्पर्धी परीक्षाआें में आपको वांछित परिणाम नहीं मिल पाएगा।  

संभावित समस्याएं: आपको वाहन चलाते समय अत्यधिक सावधानी बरतनी होगी आैर ये सुनिश्चित करना होगा कि आपका वाहन अच्छी स्थिति में है। 


गणेशजी के आशीर्वाद सहित,
भावेश पंडया 
(स्पेशल इनपुटः अादित्य सांर्इं) 

ग्रहों के पारगमन से जुड़े अन्य लेख पढ़ना ना भूलें 







18 Feb 2017


View All blogs

More Articles