यदि कुंडली में है शादी से संबंधित रूकावटें तो आजमाएं ये सटीक उपाय, जल्द हो जाएगा विवाह


Share on :


किसी भी व्यक्ति के जीवन में शादी एक महत्वपूर्ण पड़ाव होता है, इसीलिए भारतीय संस्कृति में शादी के लिए लड़के अथवा लड़की का चुनाव परिवार व समाज के बड़े बुजूर्गों की देखरेख में किया जाता रहा है। लेकिन कई बार परिवार, परिजन और सामाजिक लोगों के भरपूर प्रयासों के बाद भी कुछ लोगों की शादी नहीं हो पाती है। कई मामलों में तो लड़के अथवा लड़की के सर्वगुण संपन्न होने के बाद भी उनकी शादी के योग नहीं बन पाते और किसी ना किसी वजह से शादी के प्रयास विफल हो जाते है। कई बार शादी का रिश्ता पक्का होते-होते अंत में किसी कारणवश टूट जाता है। लड़की की शादी को लेकर तो कई बार बात पारिवारिक दुश्मनी तक पहुंच जाती है। फिर आपको कुछ ऐसे उदाहरण भी देखने को मिलेंगे जहां पट मंगनी और झट विवाह हो गया हो। तब आपके मन में यह विचार जरूर आया होगा कि विवाह तो भाग्य का खेल है। लेकिन कभी आपने यह सोचा है कि भाग्य क्या है? और वह आपके या आपके किसी प्रिय के ही विवाह में क्यों अड़चनें खड़ी कर रहा है। यदि आपने कभी ऐसा सोचा है तो आज हम आपके मन में उठ रहे इस तरह के सभी सवालों को हल करने के साथ उनके समाधान भी सुझाएंगे ताकि आप भी अपने या अपने किसी प्रिय के विवाह में आ रही समस्याओं को दूर कर ग्रहस्थ जीवन का लाभ उठा सकें। 


विवाह नहीं होने के पीछे हो सकती है ये वजह

हमने बचपन से सुना है कि जोड़ियाँ ऊपर से बनकर आती है, लेकिन क्या कभी आपने इसका अर्थ जानने का प्रयास किया है? क्या आप जानते है इसके पीछे छिपे अर्थ को, यदि आपका जवाब नहीं है तो चलिए आपको बताते है भाग्य क्या है?  भाग्य आपकी कुंडली, और इसमे बनने वाली स्थितियों को कहा जाता है। कई बार कुंडली में बनी कुछ नकारात्मक स्थितियां आपके विवाह के योग नहीं बनने देती। इसीलिए कुंडली मे बने कुछ नकारात्मक योग भी आपके विवाह में बाधा पहुंचा सकते है। इसके अलावा यदि आप मांगलिक है तो भी आपके विवाह में आपको कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। यदि कुंडली के सातवें भाव अर्थात सप्तमेष में किसी नीच ग्रह या अशुभ ग्रह की मौजूदगी भी, आपके विवाह में बाधा डाल सकती है। इसके अतिरिक्ति यदि आपका जन्म श्रवण नक्षत्र में हुआ हो और कुंडली में कहीं भी मंगल एवं शनि का योग हो तो भी शादी तय होने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है अथवा विवाह तय होकर टूट सकता है। 

लेकिन आपको उपरोक्त स्थितियों से घबराने की जरूरत नहीं है बल्कि इन सभी स्थितियों के लिए वैदिक ज्योतिष में सरल और आसान उपायों का उल्लेख मिलता है। आईए जानते है कुछ सरल उपाय जिन्हे अपनाकर आप अपने जीवन साथी की तलाश पूरी कर सकते है। 


इन सरल उपायों से पूरी होगी आपके विवाह की तमन्ना

– यदि किसी लड़के अथवा लड़की की कुंडली में सूर्य की वजह से विवाह में बाधा आ रही हो तो उन्हे प्रतिदिन ब्रह्रामुहूर्त में सूर्य को जल चढ़ाते हुए “ऊॅ सूर्यायः नमः” मंत्र का जाप करना चाहिए। 

– हर शनिवार को शिव लिंग पर काले तिल चढ़ाएं, इससे शनि की बाधा समाप्त होती और शीघ्र ही विवाह हो जाता है।

– यदि किसी की कुंडली में मंगल के कारण विवाह में देरी हो रही हो तो उसे चांदी का एक चौकोर टुकड़ा सदैव अपने पास रखना चाहिए। इससे मंगल के कारण आ रही बाधाएं समाप्त हो जाती है। 

– सूर्य के कारण विवाह में आ रही बाधा को दूर करने के लिए तांबे का एक चौकोर टुकड़ा जमीन में दबा दें, इससे सूर्य की बाधा समाप्त हो जाएगी और शीघ्र ही विवाह पक्का हो जाएगा। 

– विवाह तय होने में राहु के कारण आ रही बाधा को दूर करने के लिए शनिवार को बहते पानी में नारियल बहाएं इससे राहु की बाधा दूर हो जाएगी।

– रोजाना दुर्गासप्तषती से अर्गलास्तोत्रम् तक का पाठ करें।

– जब कभी लड़का या लड़की देखने जाएं तो घर से गुड खाकर निकलें।

– गणेश जी को पीले रंग की मिठाई का भोग लगाने से भी विवाह में हो रही देरी खत्म होती है।

– प्रत्येक गुरूवार पानी में एक चुटकी हल्दी डालकर स्नान करें

– पीपल की जड़ में लगातार 13 दिनों तक जल चढ़ाने से शादी में आ रही रूकावटें दूर हो जाती है। 


अपने व्यक्तिगत समाधान प्राप्त करने के लिए, एक ज्योतिषी विशेषज्ञ से बात करें अभी!

गणेशजी की कृपा से,

गणेशस्पीक्स.कॉम टीम


05 Jun 2020


View All blogs

More Articles