क्या रत्न ला सकते हैं प्रसिद्धि?जानिए कौन-सा सेलिब्रिटी कौन सा रत्न पहनता है


Share on :


लाइफ में सक्सेस अचानक से मिलना किसी चमत्कार से कम नहीं होता है। एस्ट्रोलॉजी के अनुसार कोई भी रत्न सफलता दिलाने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। हमारे आसपास ऐसे ना जाने कितने उदाहरण है, जो फर्श पर थे, रत्न धारण करने के बाद उनके जीवन की दिशा और दशा दोनों बदल गई। बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन से लेकर गोकुलधाम सोसाइटी के जेठालाल गढ़ा यानी कि दिलीप जोशी तक ने रत्नों को आजमाया और दिन-दुनी रात चौगुनी उन्नति करने लगे। किसी ने दांये तो किसी ने बांये हाथ में रत्न पहने हैं। रत्नों के प्रभाव से आज हम आपको बॉलीवुड के कुछ ऐसे ही सितारों से मिलवाने जा रहे हैं, जिन्होंने अपने कॅरियर को ऊंचाइयों का पंख लगाने के लिए मेहनत के साथ रत्नों का भी सहारा लिया। सबसे शक्तिशाली रत्न ने उनके नेम-फेम की चमक को और बढ़ा दिया। 


अमिताभ बच्चन  – Blue Sapphire (नीलम)


अमिताभ बच्चन के हाथ में कई बार ब्लू सफायर यानी कि नीलम की अंगूठी पहनी हुई हम सभी ने देखी है। 70 के दशक में दर्शकों के दिलों पर राज करने वाले अमिताभ के हाथ से जब बॉलीवुड से लेकर पॉलिटिकल कॅरियर खिसकने लगा था और उनकी कंपनी एबीसीएल कर्ज में डूब चुकी थी, तब अमिताभ को नीलम पहनने की सलाह दी गई। उन्होंने पूरे विश्वास के साथ शनि के इस प्रिय रत्न नीलम को अपने दांए हाथ की मध्यमा अंगुली में धारण किया। इसके बाद फिर से उनकी डगमगाते कॅरियर की कश्ती ने जोर पकड़ा। अमिताभ बच्चन के व्यक्तित्व में नीलम पहनने का जबरदस्त असर हुआ। वे अपनी जिंदगी में पॉजिटिव सोच रखने लगे। जितना वे 70 के दशक में लोगों के प्रिय थे, उससे ज्यादा अब वे युवा दिलों के प्रेरणा स्रोत है। उन्होंने खुद एक इंटरव्यू में नीलम से मिली सफलता के बारे में जिक्र किया है। नीलम शनि का रत्न है। यह धारण करने वाले व्यक्ति को समाज में नाम और प्रतिष्ठा जरूर मिलती है। यदि व्यक्ति को नीलम जंच जाएं, तो रंक को भी राजा बना सकता है। इसे धारण करने से पहले अपनी कुंडली विश्लेषण जरूर करवा लेना चाहिए।



शिल्पा शेट्टी – Emerald  (पन्ना)


शिल्पा जितनी खूबसूरत हैं, उतनी ही बुद्धिमान भी और उतनी अच्छी व्यवसायी भी। जब उनकी फिल्में प्लॉप होने लगी, तो शिल्पा अमेरिका गई। उन्हीं दिनों उन्हें अमेरिकी टीवी शो बिग ब्रदर में एंट्री मिली। वहीं रंगभेद का शिकार हुई, लेकिन फिर भी शो जीतने में कामयाब हुई। उन दिनों से उनके हाथ में पन्ना जरूर देखा गया है। पन्ना बुध का कारक है। बुद्धिमान बनाता है और क्रिएटिविटी को निखारता है। शिल्पा ने अपनी बॉडी योग के जरिए परफेक्ट शेप में रखा है। पन्ना पहने व्यक्ति को किसी इंस्पीरेशन की जरूरत नहीं होती है। शिल्पा के लिए भी यह कहा जा सकता है। उन्हें किसी के इंस्पीरेशन की जरूरत नहीं, बल्कि वे खुद कई लोगों के लिए प्रेरणा का एक स्रोत है।



करीना कपूर – Pearl and Coral (मोती और मूंगा)


करीना कपूर की जिंदगी हमेशा ही खुली किताब रही है। चाहें उनकी जिंदगी से शाहीद का जाना और सैफ का आना हो, या फिर तैमूर की पेरेंटिंग को लेकर चर्चाएं या बॉलीवुड के गलियारों में उनके लिए गॉसिप। वे हमेशा शांत और मुस्कुराती रहती है। बेबो की हंसी का राज उनके पर्ल में छिपा है। पर्ल चंद्रमा का रत्न है और दिमाग को बार-बार आने वाली नेगेटिविटी और गुस्से से दूर रखता है। वहीं रेड कोरल भी करीना ने पहना है, जो उन्हें लगातार काम करने के लिए सकारात्मक ऊर्जा देता है। मूंगा मंगल का रत्न है। इसके कोई शक नहीं कि करीना के लिए गए प्रोफेशनल और पर्सनल फैसले उनके लिए काफी अच्छे साबित हुए हैं। इसका एक कारण मोती और मूंगा को भी मान सकते हैं।

ए आर रहमान – Blue Sapphire (नीलम)


‘जय हो’ का नारा देकर ऑस्कर अवार्ड जीतने वाले ए आर रहमान को किसी भी परिचय की जरुरत नहीं है। चाहे वह रोजा का ‘छोटी सी आशा’ हो या फिर लगान का ‘मितवा’ ए आर रहमान ने हमेशा ही लीग से अलग नजर आए हैं। छोटी उम्र में इन्होंने काफी नाम और रुतबा हांसिल किया। नीलम का प्रभाव ऐसा की होता है। एआर रहमान के शांत व्यक्तित्व पर नीलम का गहरा असर है और मन की इसी शांति के कारण वे नई और खूबसूरत धून रचने के काबिल बन पाते हैं। शनि का यह रत्न उन्हें मेहनती भी बनाता है। एआर रहमान खुद मानते हैं कि जब तक उनके बनाए गाने से संतुष्ट नहीं होते हैं, वे उसमें प्रयोग करते रहते हैं।

ऐश्वर्या राय बच्चन – Blue Sapphire(नीलम)


अपने प्रेम संबंधों को लेकर ऐश्वर्या हमेशा ही चर्चा में रही। 16 साल की उम्र में मॉडलिंग से अपने कॅरियर शुरुआत करने वाली ऐश्वर्या को 1994 में विश्व सुंदरी का खिताब जरूर मिला, लेकिन उनको फिल्म जगत में सफलता मिलने में समय लगा, लेकिन नीलम अगर किसी को जंच जाएं तो उनकी किस्मत बदलने की ताकत रखती है। ऐश्वर्या के लिए नीलम एक परफेक्ट रत्न साबित हुआ है। धन, प्रतिष्ठा और एक खुशहाल परिवार सब कुछ ऐश्वर्या को मिला है और आज भी ऐश्वर्या विश्वभर के कई बड़े स्टेजों पर भारत का प्रतिनिधित्व करतीं हैं। नीलम ने उनकी प्रतिभा में चार -चांद ही लगाए हैं। प्रेम संबंधों में परेशानी झेल चुकी ऐश्वर्या के लिए आज पारिवारिक शांति सबसे महत्वपूर्ण है और इसके लिए वे नीलम का आभार जता सकती हैं।

अजय देवगन- Yellow Sapphire  और Pearl (पुखराज और मोती)

 
पुखराज, बृहस्पति का रत्न है। बृहस्पति ज्ञान, बुद्धि और विस्तार के कारक हैं। पुखराज मनुष्य में निर्णय लेने की क्षमता को बढ़ाता है, और अच्छे भाग्य को आकर्षित करता है। पुखराज आध्यात्म की ओर भी ले जाता है। जय देवगन अपने जीवन में बुरे दौर से गुजर चुके हैं, लेकिन अब वे शांत और गंभीर दिखाई देते हैं। पुखराज और मोती का असर उन पर साफ दिखता है। उनकी एक्टिंग दिन पर दिन और परिपक्व हो गई और फिल्मों का उनका चयन भी लोगों के मन में उनके प्रति प्यार और सम्मान उत्पन्न करता है। 


एकता कपूर – Yellow Sapphire, Emerald , Diamond, और red coral (पुखराज, पन्ना, हीरा और मूंगा)


एकता कपूर किसी परिचय की मोहताज नहीं हैं। एकता को टीवी की साम्राज्ञी के नाम से भी जाना जाता है। भारत के सबसे बड़े टीवी प्रोडक्शन हाउस की मालकिन एकता पुखराज, पन्ना, हीरा और मूंगा पहनती हैं। पुखराज ने जहां भाग्य को उनकी तरफ किया बै। पन्ना और मोती ने उनके निर्णय लेने की क्षमता को अच्छा बनाया और मूंगे ने उन्हें लगातार काम करने की एक एनर्जी दी है। एकता की पहचान ही उनकी उंगलियों में बैठे रत्न दे देते हैं, ये कहना गलत नहीं होगा। 

दिलीप जोशी –  Ruby (लाल माणिक/माणिक्य)


तारक मेहता का उल्टा चश्मा से प्रसिद्घ हुए दिलीप जोशी उर्फ जेठा लाल, इसके पहले राजश्री प्रोडक्शन के फिल्म ‘मैंने प्यार किया’ और ‘हम आपके हैं कौन’ में भी काम कर चुके हैं। एक समय था जब दिलीप जोशी काम के मोहताज थे। एक साल से भी ज्यादा के समय में वे काम के बिना रहे, लेकिन जब उन्होंने रूबी पहना, तारक मेहता जैसा सीरियल उन्हें मिला। तारक मेहता ने उनका भाग्य पूरी तरह से बदल दिया। दिलीप जोशी माणिक्य पहनते हैं। लाल माणिक सूर्य का रत्न है, जो कि मनुष्य को समाज में नाम और प्रतिष्ठा देता है। आज सूर्य के प्रभाव से दिलीप उर्फ जेठा लाल के नाम से घर-घर प्रसिद्ध हो चुके हैं। 

सलमान खान – Turquoise stone (फिरोजा)


सलमान खान के लकी ब्रेसलेट के बारे में कौन नहीं जानता। ये जग जाहिर है कि अपने कॅरियर और निजी जिंदगी में उलझे हुए सलमान ने जब से ब्रेसलेट पहना है, उनके सितारे चमक गए हैं। टरक्वाइश स्टोन या फिरोजा, नीले रंग का रत्न होता है। ये राहु- केतु के प्रभाव को भी शांत करता है। इसे धारण करने वाले के जीवन में सुख-समृद्धि आती है। इसे धन के प्रतिक के रूप में भी जाना जाता है। फिरोजा में इलाज की शक्तियां भी होती हैं। ये मनुष्य के आत्मविश्वास को बढ़ाता है और दुर्भाग्य खतम कर सौभाग्य देता है। सलमान की सक्सेस में फिरोजा के योगदान को भूलना नहीं चाहिए।

संजय दत्त – Yellow Sapphire  (पुखराज)


संजय दत्त के असंतुलित जीवन के बारे में सबको पता है। उनके जीवन पर ‘संजू’ नाम की फिल्म भी बन चुकी है। संजय दत्त कभी ड्रग्स तो कभी गैर कानूनी हथियार के केस में फंसे हैं। यहां तक कि उनका वैवाहिक जीवन भी कठिनाइओं से भरा रहा है। संजय दत्त अब किसी विशेष सलाह पर पुखराज पहनते हैं। पुखराज मनुष्य में निर्णय लेने की क्षमता को बढ़ाता है और अच्छे भाग्य को आकर्षित करता है। यह कहने कि जरुरत नहीं है कि बरसो बाद संजय के लिए प्यार और स्थिरता का आगमन हुआ है। पुखराज ने ना सिर्फ संजय दत्त की निर्णय क्षमता हो अच्छा किया बल्कि अच्छे भाग्य को भी आकर्षित किया है। हाल ही वे बड़ी बीमारी से निकलकर हम सभी के बीच आए हैं।

इमरान हाशमी – opal (ओपल)

 

बहुत कम लोग इस बात को जानते हैं कि इमरान का इरादा एक्टिंग का नहीं बल्कि निर्देशन का था और इसी इच्छा के साथ वे महेश भट्ट के पास गए थे। अपने कल्पना और रचनात्मकता के बल पर इमरान एनिमेशन में बहुत ज्यादा दिलचस्पी रखते हैं। इमरान ओपल पहनते हैं, जो कि शुक्र का रत्न है।  गीत-संगीत, पेंटिंग, नृत्य और थिएटर जैसे कलात्मक क्षेत्रों में शामिल लोगों को ओपल रत्न के असंख्य लाभ प्राप्त होते हैं। ओपल एक मोहक रत्न है, जो भावनात्मक स्थिति को बढ़ाता है और बाधाओं को दूर करता है। 2003 से लगातार काम करते हुए इमरान ने अपने लिए एक विशेष जगह बनाई है, जिसके लिए अगर ओपल को जिम्मेदार मानें को गलत नहीं होगा। 

नीता अम्बानी – Emerald  (पन्ना)


मध्यम वर्गीय परिवार से पली-बढ़ी नीता अम्बानी आज भारत के सबसे अमीर व्यक्ति की पत्नी हैं। इसके अलावा नीता रिलायंस फाउंडेशन और धीरूभाई अम्बानी इंटरनेशनल स्कूल की चेयरपर्सन भी हैं। इनके इस सफर में इनका साथ पन्ना ने दिया है। नीता अम्बानी ने पन्ना धारण किया हुआ है। पन्ना जो कि मनुष्य के बुद्धि को असर करता है, नीता के लिए बहुत ही अच्छा साबित हुआ है। चाहे वह मुंबई इंडियंस के मालकीन को लेकर लिया निर्णय हो या समाजसेवा के लिए किया हुआ कोई काम। नीता अम्बानी के निर्णय लेने की क्षमता पर संदेह नहीं किया जा सकता, ना ही सन्देह किया जा सकता है पन्ना के असर पर। 


12 Jan 2021


View All blogs

More Articles