भारतीय अंतरिम केंद्रीय बजट 2014-2015से क्या उम्मीद कर सकते हैं? जानिए गणेशाजी की भविष्वाणियां


Share on :

Budget 2014-15
केंद्रीय बजट 2014-2015 माननीय केंद्रीय वित्त मंत्री पी. चिदंबरम 17 फरवरी 2014 को पेश करेंगे। इस साल होने वाले लोक सभा के चुनावों को देखते हुए मौजूदा सरकार अपने अंतरिम बजट को पेश करते हुए जनता की भावनाओं को पूरी तरह ध्यान में रखेगी। सरकार अपने इस बजट से जनता का दिल जीतने की पूरी कोशिश करेगी, ताकि चुनावों में सरकार को पुनःसमर्थन मिल जाए। देखा जाए तो बजट केवल उद्योग जगत को ही नही, बल्कि आम आदमी को भी प्रभावित करता है। मौजूदा समय में बढ़ती महंगाई दर एवं ईंधन की कीमतों को ध्यान में रखते हुए सरकार इस बजट को जनता राहत बजट बनाने की पूरी कोशिश करेगी, जिसके चलते सरकार कुछ बदलाव एवं स्कीमें उतार सकती हैं। हालांकि हाल में सरकार राजकोषीय घाटे को पूरा करने के लिए काफी साहसिक कदम उठा चुकी हैं, लेकिन कुछ बेहतर नतीजे सामने नहीं आए, खासकर आम आदमी के संदर्भ में।

फिर भी, यह तो केवल अटकलें एवं अनुमान हैं। आने वाले केंद्रीय बजट से किस तरह की उम्मीदें होनी चाहिए? क्या वित्त मंत्री पी. चिदंबरम जनता के चेहरे पर मुस्कराहट ला पाएंगे? गणेशजी ने स्वतंत्र भारत की कुंडली का विशेष रूप से अध्ययन किया एवं देखने की कोशिश की कि आने वाले समय में किस तरह का बदलाव हो सकता है। इस आने वाले केंद्रीय बजट से क्या क्या मिल सकता है, किस तरह का प्रभाव किस क्षेत्र पर डालेगा के बारे में जानने के लिए निम्न लिखित विश्लेषण व भविष्यवाणियों को पढ़ें।

ज्योतिषीय विश्लेषण
  • स्वतंत्र भारत की जन्म कुंडली में सूर्य कर्क राशि में है एवं पारगमन करता सूर्य दसवें घर के बीच से कुंभ राशि में जा रहा है। इन स्थितियों को देखते हुए सोना, पोलिसी, पब्लिक सेक्टर यूनिट, जीडीपी ग्रोथ रेट, टेक्सएशन, इन्कम टैक्स एवं सेल टैक्स पर चर्चा करेंगे लेकिन कोई ठोस परिणाम नही निकलेगा।
  • पांचवा घर म्यूच्युल फंड, सट्टेबाजी, ब्रोकरेज हाउस व कंपनियां, शिक्षा सेक्टर एवं विश्वविद्यालय को प्रदर्शित करता है। इसके अलावा, जन्म का चंद्र कर्क में है, एवं बजट पेश करने वाले दिन चंद्रमा 12:18:57 तक सिंह राशि में रहेगा बाद में कन्या राशि में आएगा। इस समय में संसद में हंगामा होने की संभावना है। और संसद स्थगित हो सकती है। परन्तु स्टॉक मार्किट में मूवमेंट बहुत ही जबरदस्त आएगा ऐसा गणेशजी कहना चाहते हैं।
  • मंगल, शनि, राहु ये तीनों ग्रह जन्म के बृहस्पति के ऊपर से पारगमन करेंगे, जिससे सेहत, श्रम रोजगार, रसायन, उर्वरक, कपडे के क्षेत्र में कुछ नए परिणाम प्राप्त हो सकते हैं।
  • जन्म कुंडली के दूसरे घर का स्वामि बुध प्रतिगामी है एवं जैसे कि पहले ही बताया गया है कि यह दसवें घर के बीच से गुज़र रहा है। केवल इस ग्रहीय हलचल को देखते हुए लगता है कि आयात निर्यात उद्योग, विदेश व्यापार, राष्ट्रीय बचत योजनाएं, मुद्रा, आरबीआई नीतियां एवं ग्रामीण विकास कार्यक्रम को इस बजट में लाभ होगा एवं न हानि। लेकिन बीमा क्षेत्र के लिए कुछ राहत की संभावना है।
  • बृहस्पति जन्म के मंगल के ऊपर से दूसरे स्थान से परिभ्रमण करेगा जो शुभ कह सकते हैं। इससे रियल इस्टेट, भवन निर्माण, रसायन, लाल उत्पाद, वित्तीय संस्थान, मुद्रा से संबंधित सभी उत्पादों को फायदा हो सकता है।
  • शुक्र, जो भारत की लग्न राशि का और छठे घर का स्वामि है, आठवें घर से पारगमन करेगा (शुक्र बजट के दिन धनु राशि में पारगमन करेगा जो कुंडली का ८ वां स्थान है)। इस लिए हीरे, बहुमूल्य धातु, आभूषण, मीडिया, मनोरंजन, चीनी, महंगे वाहन, दो व तिपहिया वाहन, प्रफ्यूम, शराब खाना को शायद इतना फायदा न हो।
Microsoft
Stock Markets

जिस दिन केंद्रीय बजट पेश किया जाएगा, उस दिन भारत की जन्म कुंडली के दसवें घर में स्टोक मार्किट के स्वामि बुध प्रतिगामी होंगे। मंगल, राहु व शनि तीनों छठे घर में हैं। इसके अलावा चंद्रमा, जो एफ एंड ओ हाउस का स्वामि है व राशि चक्र का सबसे तेज गति ग्रह है, पहले से ही शेयर बाजार के घर में है। इसलिए अधिक सभावना है कि उस दिन शेयर बाजार में बहुत तेजी से बदलाव देखने को मिलेंगे। गणेशजी की सलाह है कि निरंतर प्रविष्टियां बनाएं एवं कम से कम लाभ पर निकल जाएं।

गणेशजी आप को ज़ीरो वेटेज तिथियों की सूची उपलब्ध करवाते हैं, जिस समय निफ्टी में ट्रेंड बहुत अस्थिर होते हैं, और जब अनुमान लगा पाना बेहद मुश्किल होता है। इस दौरान कुछ अवांछनीय घटनाएं जैसे भूकंप, सुनामी, आतंकवादी हमला, बाढ़ आदि घटनाओं की संभावना है, जिन का सीधा असर शेयर बाजार पर देखने मिल सकता है। शेयर बाजार की इन अस्थिर तारीखों की जानकारी आप को Market predictions Book- 2014-2015 में मिल सकती हैं।

ध्यानार्थ – गणेशजी कहते हैं कि मई – जून 2014 तक का समय बहुत महत्वपूर्ण हो सकता है।

कुल मिलाकर कोई बड़ा ज्योतिषीय मूवमेंट नही है और जो भी होगा वो जून-2014 के बाद होगा इसलिए इस बजेट में कोई खास दम नही रहेगा।

गणेशजी के आशीर्वाद से,
धर्मेश जोशी
 

15 Feb 2014


View All blogs

More Articles