भारतीय करेंसी में आगे और भी आमूल परिवर्तन के आसार


Share on :


मोदी के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा हाल में लिए गए फैसले से भारतीय अर्थव्यवस्था को प्रमुख बढ़ावा मिला है। जैसा कि सब जानते हैं कि मोदी ने कालेधन पर बेहतर ढंग से नियंत्रण पाने के लिए 500 और 1000 रूपए के नोट के विमुद्रीकरण का ठोस निर्णय लिया। भारत की स्थापना कुंडली में वित्तीय संभावनाओं का और साथ ही नवीनतम रूपए के प्रतीक की सूर्य कुंडली विश्लेषण करने के बाद गणेशजी ये मानते हैं कि ये तो सिर्फ शुरूआत है। आने वाले महीनों में और भी कर्इ परिवर्तन आने वाले हैं। उनका ये भी मानना है कि वर्ष 2018 में संभवतः नकली नोटों की समस्या एक बार फिर से प्रकट हो सकती है, खासतौर से जनवरी और जुलार्इ के बीच। अर्थव्यवस्था में बदलाव लाने के लिए श्री मोदी द्वारा उठाया गया ये कदम कौन-सा मोड़ लेगा, आइए इस बारे में विस्तार से जानते हैं।  

 रूपए के वर्तमान प्रतीक का लांच 
 दिनांकः 15 जुलार्इ, 2010

हमारे विशेषज्ञों द्वारा अपनी हस्तलिखित जन्मपत्री प्राप्त करें।

ग्रहों की स्थितिः 
गणेशजी के अनुसार, रूपए के नए प्रतीक के लांच करने की तारीख अनुकूल नहीं थी। रूपए के गिरते मूल्य का विश्लेषण 15 जुलार्इ, 2010 को बनार्इ गर्इ सूर्य कुंडली के आधार पर किया गया है। इसी दिन रूपए के वर्तमान प्रतीक को लांच किया गया था। 

ऊपर दर्शायी गयी सूर्य कुंडली में, मिथुन राशि का लग्न है जिसका स्वामी बुध दूसरे भाव में विराजित है। सूर्य और केतु पहले भाव में स्थित है। मघा नक्षत्र में वित्त और अर्थव्यवस्था के भाव का स्वामी चंद्र तीसरे भाव स्थित है, जो कि केतु द्वारा शासित है। इसलिए, यहां ये बात उल्लेखनीय है कि दोनों ही ग्रह सूर्य और चंद्र, केतु के महत्वपूर्ण प्रभाव (नकारात्मक रूप ) के तहत हैं। 

आने वाले वित्तीय वर्ष के दाैरान, गणेशजी द्वारा बतार्इ गर्इ उपरोक्त दशा और प्रभाव रहेंगे। अगर आप स्टाॅक ट्रेडिंग और सट्टेबाजी से जुड़े हैं तो विशेषज्ञों द्वारा दिए गए मार्गदर्शन का अच्छा उपयोग करें और इसके अनुसार अपने कूटनीतिक निर्णय लें। 

“ नवम्बर और दिसम्बर के अंतिम सप्ताह की अवधि के बीच, सैन्य गतिविधि के कारण रूपए की स्थिति में एक बड़े बदलाव की उम्मीद है ” 


आने वाले समय में, रूपया नीचे बताए गए दशा क्रम के प्रभाव में रहेगा। इस क्रम में पहले बिन्दु की भविष्यवाणी ताे हमने काफी समय पहले ही कर दी थी और अब ये भविष्यवाणी सही साबित होती नजर आ रही है। 

28 अक्टूबर, 2016 से 26 नवंबर, 2016: शुक्र-चंद्र-सूर्य 
“ इस अवधि में सरकार हस्तक्षेप से रूपये को मजबूत करने की संभावना है। अपने इस प्रयत्न में  सरकार सफलता भी प्राप्ति कर सकती है। ” 

27 नवम्बर, 2016 से 21दिसम्बर, 2016: शुक्र-मंगल-मंगल
इस अवधि के दौरान मंगल के प्रमुख स्थान ले लेने से कुछ बड़े उतार-चढ़ाव हो सकते हैं। कुछ सैन्य अॉपरेशन या सीमापार होने वाली सैन्य गतिविधियों का प्रभाव अर्थव्यवस्था के साथ-साथ रूपए को भी मजबूती से प्रभावित कर सकता है। 

बाजार के परिदृश्य एवं शेयरों की स्थिति को ध्यान में रखते हुए, गणेशजी आपकाे इस अवधि में अलर्ट रहने की सलाह देते है। अगर आप सट्टेबाजी और स्टाॅक मार्केट का व्यापार करते हैं, तो ग्रहों का प्रभाव आपको जल्दबाजी में या आक्रामक तरीके से काम करने के लिए मजबूर कर सकता है। इसके कारण अंत में आप गलतियां कर सकते हैं। लेकिन क्या आप उन तरीको को जाना चाहेंगे जिससे आप बिजनेस से जुड़ा गलत निर्णय लेने से बच सकें? तो हमारी व्यक्तिगत रिपोर्ट, व्यवसाय एक प्रश्न पूछें का अवश्य लाभ उठाएं।    

21 दिसंबर, 2016 से 23 फरवरी, 2017: शुक्र-मंगल-राहु
गणेशजी के अनुसार, इस चरण में तीन अलग-अलग प्रभाव अपना काम करेंगे। शेयर व्यापारियों को इस चरण में अत्यंत देखभाल और सावधानी के साथ आगे बढ़ना होगा, क्यूंकि अस्थिरता स्पष्ट रूप से दिखार्इ देगी और समग्र रूझान भी अत्यधिक अनिश्चित होंगे। गणेशजी कहते है कि इस समय सर्वत्र भ्रम का कोहरा फैला होगा, जिसके कारण ये समझना काफी मुश्किल होगा कि सरकार का अगला कदम कौन-सा होगा ? 

“ वर्ष 2018 के तहत नकली मुद्रा का गंभीर खतरा फिर से मंडरा सकता है ” 

साथ ही पढ़ें: विक्रम संवत 2073 के पूर्वार्द्ध में शेयर बाजार करेगा…

आगे क्या होगा ? 

आने वाले महीनों में ग्रहों की स्थिति रूपए की किस्मत को लेकर क्या दर्शाती है ? 
गणेशजी के मुताबिक राहु का चंद्र के उपर से पारगमन होगा, शुक्र और मंगल भारतीय राष्ट्रीय रूपए की सूर्य कुंडली में है और इस कारण कम से कम 18 अगस्त, 2017 तक हम रूपए की स्थिति को स्थिर प्रणाली में आने की उम्मीद नहीं कर सकते हैं। शनि भी मार्गी- प्रतिगामी-मार्गी गति में पारगमन करेगा। खासतौर से तब जब यह शक्तिशाली टास्कमास्टर  वृश्चिक राशि में होगा। इस समय अत्यधिक आयकर के छापे पड़ सकते हैं और कानूनी प्रवर्तन अधिकारी, वित्तीय अनियमितताओं के मामले में कड़ा कदम उठाएंगे। क्या आप अपनी वर्तमान वित्तीय स्थिति को लेकर चिंतित हैं और आप अच्छे अवसर तलाश रहे हैं? तो हमारे एक्सपर्ट आपकी मदद कर सकते हैं। 

आने वाले महीनों में रूपए को लेकर क्या कुछ और बदलाव नजर आ रहे है ? क्या सरकार द्वारा कुछ और बड़े निर्णय लिए जाने की संभावना है ?
गणेशजी मानते है कि आने वाले महीनों में रूपए की स्थिति में किसी बड़े परिवर्तन की संभावना नहीं लगती। लेकिन वर्ष 2018 में रूपए को लेकर टीवी स्क्रीन पर कुछ ब्रेकिंग न्यूज और बहुत सारी हेडलाइंस जरूर दिखार्इ देने की संभावना है।  26 जनवरी, 2018, और 10 जुलार्इ, 2018 के बीच नकली नोटों के बटने की अत्यधिक संभावना है। 

गणेशजी के अनुसार, निम्नलिखित क्षेत्राें या संस्थानाें से कालाधन और नकली नोटाें को प्रवेश मिल सकता हैः  

1) मीडिया और इंटरटेनमेंट उद्योग
2) लग्जरी आइटम उद्योग 
3) कैसिनो
4) ड्रग विक्रेता
5) शराब का बिजनेस
6) ट्रेक्सटाइल बिजनेस के कारखाने

गणेशजी का उपसंहारः 
अंत में गणेशजी कहते हैं कि आने वाला समय काफी रूचिकर होगा और इस समय आगे बहुत कुछ देखने को भी मिलेगा। सरकार द्वारा महत्वपूर्ण क्षणों में कुछ आवश्यक कदम उठाते हुए रूपए की स्थिति को स्थिर करने के लिए बेहतर प्रयास किए जाने की संभावना है। इसके अलावा, भारत-पाक की स्थिति भी रूपए की स्थिति पर प्रभाव डाल सकती है।  

गणेशजी के आशीर्वाद सहित,
धर्मेश जोशी एवं आदित्य सांर्इं
गणेशास्पीक्स डाॅटकाॅम टीम 

क्या आपके मन में जीवन के विभिन्न क्षेत्रों को लेकर कुछ सवाल हैं ? तो उलझनों में क्यूं रहें ? तुरंत ज्योतिषी से बात कीजिए और सभी उलझनों को दूर करें।





11 Nov 2016


View All blogs

More Articles