प्रतिद्धंदियों को पीछे छोड़ सकता है फ्लिपकार्ट, दीवाली धमाके के साथ होगा कमबैक  


Share on :


आॅनलाइन शाॅपिंग आज के समय में एक आमबात हो गर्इ है, र्इ-काॅमर्स के युग में इजाद किए गए शाॅपिंग की इस अनोखे अंदाज को भारत में अच्छा-खासा रिस्पांस मिल रहा है। यहां लगभग सभी प्रकार की छोटी से बड़ी चीज एक क्लिक से मिल जाती है आैर खास बात ये है कि इसमें एक ही प्रोडेक्ट के ढेरों विकल्प भी मिल जाता है। इन शाॅपिंग साइड्स पर पेमेंट का आॅप्शन भी काफी सरल रहता है, जिनसे चंद मिनटों में रूपयों का ट्रांजेक्शन हो जाता है। वैसे तो कर्इ आॅनलाइन शाॅपिंग साइडस उपलब्ध है, लेकिन इनमें कुछ साइड्स एेसी है जिन्होंने पिछले कुछ महीनों में अधिक ख्याति प्राप्त की है,जिनमें फ्लिपकार्ट,अमेज़न एंड स्नैपडील का नाम भी शामिल है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए गणेशजी ने आॅनलाइन शाॅपिंग की इन तीनों प्रमुख साइडस की ग्रहों की संभावनाआें का विश्लेषण किया। इस लेख में उन्होंने इन तीनों साइड्स के भविष्य की संभावनाआें के बारे में बताया है। 


1) फ्लिपकार्ट 
दिनांक: 5 सितंबर 2007, बुधवार
समय: 07:00:00 (सूर्य कुंडली)
स्थान: बैंगलोर, कर्नाटक, भारत

स्थापना कुंडली 
 हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषियों द्वारा तैयार हस्तलिखित जन्मपत्री प्राप्त करें। 
आगामी वर्ष में गुरू का पारगमन फ्लिपकार्ट  के लिए अधिक फायदेमंद नजर आ रहा है।  

फ्लिपकार्ट  की स्थापना कुंडली की ज्योतिषीय विशेषताएं:
1) सूर्य स्वग्रही है।
2) उच्च का बुध धन के भाव में है।

नकारात्मक:
1) दो प्रमुख ग्रह – सूर्य आैर शनि दूषित केतु के साथ युति कर रहे है। 
2) 10वें भाव का स्वामी 12वें भाव में है, जो वक्री भी है। 

ग्रहों की स्थिति क्या संकेत दे रही है? 
कंपनी ग्राहकों के बीच अच्छी प्रसिद्घि हासिल करने में सक्षम होगी। कंपनी की पूर्ण आर्थिक स्थिति अत्यधिक मजबूत होगी आैर वित्तीय रणनीति से कंपनी आमतौर पर अच्छे परिणाम प्राप्त करेगी। लेकिन कुछ अवसरों पर, कंपनी को ग्राहकों की निंदा आैर प्रोडेक्ट के क्वालिटी की शिकायतों का सामना करना पड़ सकता है।

आगे क्या ? 
गणेशजी की मानें तो गुरू का जन्म के बुध पर पारगमन आने वाले महीनों में कंपनी के लिए अनुकूल समय आने के शगुन दे रहा है। कंपनी भारी मुनाफे प्राप्त करके आगामी वर्ष में रिकार्ड मुनाफा कमाने में सक्षम होंगी।  क्या आप जानना चाहते है कि ग्रह आपके बिजनेस को लेकर क्या संकेत दे रहे है ? तो हमारी व्यक्तिगत रिपोर्ट व्यवसाय एक प्रश्न पूछे आपको चातुर्य से सुझाव देने में सक्षम होगी।


2) स्नैपडील
दिनांक: 4 फरवरी, 2010
समय: 07:00:00 (सूर्य कुंडली)
स्थान: नर्इ दिल्ली, भारत

स्थापना कुंडली 
हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषियों द्वारा तैयार हस्तलिखित जन्मपत्री प्राप्त करें। 

हालांकि, स्नैपडील की छवि निखर सकती है, लेकिन वित्तीय रणनीतियां वांछित परिणाम नहीं दे सकेंगी। कंपनी अगले वर्ष अप्रैल व अगस्त के बीच कुछ सुधारवादी कदम उठा सकती है। 

स्नैपडील की स्थापना कुंडली की ज्योतिषीय विशेषताएं:
1) योगकारक शुक्र लग्न राशि में बैठा है। यह स्थिति बहुत ही बढ़िया कही जाती है, क्योंकि आॅनलाइन शाॅपिंग, एंटरटेनमेंट आैर फैशन का कारक शुक्र स्नैपडील के लग्न में ही विराजमान है। 

नकारात्मक:
1) नीच का मंगल सातवें भाव अर्थात पार्टनरशिप के स्थान में है। 
2) ट्रांसपोर्टेशन/लोजिस्टिक्स/डिलीवरी एंड कम्युनिकेशन का कारक बुध 12वें भाव में है जो कि राहु से पीड़ित है।  

आगे क्या ?
स्नैपडील के लिए, अगले वर्ष के अगस्त तक केतु दूसरे भाव में से होकर गुजरेगा। दूसरी ओर गुरू नौवें भाव से पारगमन करेगा। प्रमुख ग्रहों के पारगमन के कारण, कंपनी की वित्तीय रणनीतियां अच्छा परिणाम नहीं दे पाएगी आैर बहुत अधिक मुनाफा नहीं कमा पाएंगे। लेकिन, महत्वपूर्ण भावों के ऊपर गुरू की दृष्टि पड़ने के कारण कंपनी अपने कार्यक्षेत्र का विस्तार करने में समर्थ रहेगी जिसके कारण यह अपने ग्राहकों को नए प्रोडेक्ट व सर्विस देने में सक्षम रहेगी। गणेशजी के अनुसार, इससे कंपनी की छवि बढ़ेंगी। 


3) अमेज़न.इन
दिनांक: 5 जून, 2013
समय: 07:00:00 (सूर्य कुंडली)
स्थानः मुंबर्इ, महाराष्ट्र, भारत 

स्थापना कुंडली 
हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषियों द्वारा तैयार हस्तलिखित जन्मपत्री प्राप्त करें। 

आगामी महीनों में अमेज़न.इन के अपनी मार्केटिंग आैर पब्लिसिटी को लेकर अधिक खर्च करने की संभावना है। अगले वर्ष शनि की अप्रत्याशित चाल असफलताओं का कारण बन सकती है।   

अमेज़न.इन की स्थापना कुंडली की ज्योतिषीय विशेषताएं:
1) बुध स्वग्रही है आैर गुरू आैर बुध के साथ युति में है। 
2) शनि उच्च का है।  

नकारात्मक:
शनि आैर राहु का मेल शनि-राहु शापित दोष उत्पन्न करता है। 

आगे क्या ? 
गणेशजी के अनुसार, आगामी वर्ष में अमेज़न की कुंडली में केतु 10वें भाव के ऊपर से गुजरेगा। इस कारण से शीर्ष स्तर के प्रबंधन में कुछ समस्याएं आ सकती हैं। 10वां  भाव सफलता का भाव होता है आैर यहां केतु का पारगमन आगामी वर्ष के लिए शुभ संकेत नहीं होगा। मार्केटिंग, पब्लिसिटी आैर प्रमोशन में अत्यधिक निवेश किया जा सका है, लेकिन ये सभी प्रयास वांछित आउटफुट देने में असफल रहेंगे। दूसरी आेर, गुरू पांचवें भाव में से होकर गुजरेगा जो कंपनी को किसी बड़े नुकसान से बचाते हुए अच्छा लाभ सुनिश्चित करेगा। क्या आप जानना चाहते है कि आपकी आर्थिक स्थिति कैसी रहेगी ? तो इस का जवाब हमारी हस्तलिखित रिपोर्ट धन-संपत्ति एक प्रश्न पूछे से जानें। 


तुलनात्मक विश्लेषण आैर निष्कर्षः 
गणेशजी के मुताबिक, तीनों कंपनियों में से फ्लिपकार्ट की वित्तीय स्थिति वर्ष 2016 की दीपावली आैर आने वाले वर्ष के लिए मजबूत नजर आ रही है। इससे बैंगलुरू बेस्ड कंपनी को मार्केट में अपना स्थान मजबूत करने में मदद मिलेगी आैर ये दूसरी कंपनियों से आगे बढ़ने में सक्षम होंगी। इस प्रकार, अमेज़न.इन इन दूसरे स्थान पर आकर स्नैपडील को तीसरे स्थान पर छोड़ सकती है। 

गणेशजी के आशीर्वाद सहित, 
(रचनात्मक सहयोगः आदित्य साई)
गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम टीम 

क्या आपके मन में जिंदगी के विभिन्न क्षेत्रों को लेकर कुछ सवाल हैं ? तो, आपकी चिंताए हम दूर कर सकते हैं। तुरंत ज्योतिषी से बात कीजिए और कष्टों का निवारण कीजिए!

14 Oct 2016


View All blogs

More Articles