शुक्र का कुंभ गोचर 2020, विस्तार से जानिए वृश्चिक राशि पर पड़ने वाले शुभ-अशुभ प्रभाव


Share on :


सौर मंडल में ग्रहों के मंत्री की उपाधी से नवाजे गए शुक्र काव्य, सित, भृगुसत, पुंडरिक, कवि एवं दैत्यगुरू जैसे नामों से जाने जाते है। शुक्र को स्त्री संज्ञक और यजुर्वेद का अधिपति माना गया है। शुक्र प्रेम व वैवाहिक जीवन के नैसर्गिक सुखों से संबंध रखते है, वैदिक ज्योतिष के अनुसार शुक्र को कालपुरूष के सौंदर्य का प्रतीक माना गया है। ज्योतिष में शुक्र का स्वरूप वर्णन खूबसूरत, सुंदर मुखाकृति, आकर्षक मनमोहनी आंखें, सुडौल शरीर, मधुर आवाज, प्रतिभाशाली, चालक और चंचल जैसी अनेक उपमाओं से मिलता है। एक ज्योतिषीय तथ्य के अनुसार शुक्र सूर्य से 47 अंश से अधिक दूर नहीं जाता, इसलिए कुंडली में सूर्य के साथ या सूर्य से दूसरे, तीसरे, ग्यारहवें और बारहवे घर में स्थान प्राप्त करता है। शुक्र एक छोटा लेकिन बलवान ग्रह है, इसके राशि भ्रमण और गोचर का प्रभाव राशिचक्र की तमाम राशियों पर अपना स्थायी प्रभाव डालता है। 

कुंभ में शुक्र गोचर 2020 का चंद्र राशि वृश्चिक कुंडली धारकों पर कई मायनों में सकारात्मक प्रभाव देखने को मिलेगा। इस दौरान शुक्र कुंडली के तीसरे से चाैथे  भाव में गोचर करेगा, साथ ही वह कुंडली के सातवें और बारहवें भाव का स्वामी भी है। कुंडली के चाैथे  भाव को सुख स्थान कहा जाता है, इसका संबंध जीवन से जुड़े प्रत्येक सुख से होता है। वृश्चिक राशि जातकों को जीवन के कई क्षेत्रों में शुक्र गोचर 2020 के सकारात्मक प्रभाव देखने को मिलेंगे। हालांकि कुछ सावधानियां और उपायों के माध्यम से आप इन सकारात्मक प्रभावों का उपयोग अधिक अनुकूल परिस्थितियां निर्मित करने के लिए कर सकते है।

शुक्र का कुंभ गोचर, करियर पर प्रभाव 

शुक्र का कुंभ गोचर 2020, वृश्चिक राशि कुंडली के तीसरे से चाैथे  भाव में हो रहा है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार कुंडली का चौथा भाव मातृस्थान या सुख स्थान के नाम से जाना जाता है, इस भाव का संबंध जातक के जीवन के प्रत्येक सुख से होता है। करियर के दृष्टिकोण से शुक्र का कुंभ गोचर 2020 वृश्चिक राशि जातकों के लिए बेहद खास रहने वाला है। इस दौरान वृश्चिक राशि जातक अपने करियर को नई उचांइयों पर पाएंगे। इस दौरान आपको अपने पेशे से संबंधित किसी अच्छी नौकरी का प्रस्ताव मिलने की भी संभावना है। मौजूदा नौकरी में मान-सम्मान और सहकर्मी साथियों के साथ अच्छे संबंध बने रहेंगे। 


शुक्र का कुंभ गोचर, व्यापार-व्यवसाय पर प्रभाव 

शुक्र का कुंभ में गोचर वृश्चिक राशि जातकों के व्यापार-व्यवसाय को भी प्रभावित करने वाला है। इस दौरान शुक्र अपनी मौजूदा मकर राशि को छोड़ कुंभ में भ्रमण करने वाले है। कुंभ राशि के स्वामी शनि है। वृश्चिक कुंडली के चाैथे  भाव में शुक्र का गोचर, व्यापार के दृष्टिकोण से बेहद सकारात्मक दिखाई देता है। खासकर यह दौर आयात-निर्यात से जुड़े व्यापारियों के लिए बेहद अनुकूल रहने वाला है। इस दौरान व्यापार में जोखिम घटेगा जिससे अधिक लाभ कमाने के मौके बढ़ेंगे। कुछ अप्रत्याशित व्यापारिक यात्राओं से भी लाभ मिलने की संभावना दिखाई देती है। इस दौरान आपके व्यापारिक संबंधों में वृद्धि आपके निजी और पेशेवर जीवन के मान सम्मान में बढ़ोत्तरी करने वाला है। इस दौरान आप अपने व्यापार का विस्तार होते हुए भी देखेंगे। 

शुक्र काकुंभ गोचर, आर्थिक स्थिति पर प्रभाव 

शुक्र का कुंभ गोचर 2020, वृश्चिक राशि कुंडली के करियर और व्यापार जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में सकारात्मक परिणाम देने वाला है। शुक्र गोचर के इन सकारात्मक प्रभावों का असर जातक की आर्थिक स्थिति पर भी देखने को मिलेगा। इस दौरान आय में बढ़ोत्तरी होगी, जिससे लाभांश भी बढ़ेगा। इस दौरान वृश्चिक जातकों को दूरगामी भविष्य को ध्यान में रखते हुए कुछ दीर्घकालिक निवेश करने चाहिए। हालांकि इस दौरान आप कुछ खर्च अपनी पुरानी दबी हुए हसरतों को पूरा करने में भी करने वाले है। इस दौरान आप कुछ नए गैजेट्स, वाहन या जमीन से जुड़े मामलों में खर्च कर सकते है। अपने घर या व्यवसाय का फर्नीचर या रंग रोगन पर खर्च कर सकते है। हालांकि इस दौरान मिलने वाले लाभ आपको इन बड़े खर्चें के बावजूद बचत करने के लिए प्रेरित करेंगे। 

शुक्र का कुंभ गोचर, प्रेम व वैवाहिक जीवन पर प्रभाव

कुंडली में शुक्र अपने स्वभाव के अनुसार प्रेम व वैवाहिक जीवन के नैसर्गिक सुख प्रदान करते है। जिसका असर व्यक्ति के निजी जीवन में देखने को मिलता है। मौजूदा परिस्थिति में शुक्र मकर से कुंभ में गोचर करने वाले है। कुंभ में शुक्र का गोचर 2020 वृश्चिक राशि जातकों के प्रेम व वैवाहिक जीवन में काफी परिवर्तन लेकर आने वाला है। इस दौरान प्रेम संबंध में बंधे जातकों को अपने रिश्तों को किसी मुकाम पर पहुंचाने की प्रेरणा मिलेगी। वे इस प्रेम के रिश्ते को एक कदम आगे शादी के मजबूत बंधन में परिवर्तित कर सकते है। इस दौरान पे्रमी युगलों को अपने साथी से सकारात्मक जवाब मिलने की भी संभावना है। वहीं वैवाहिक जीवन की शुरूआत करने का मन बना चुके जातकों को आसानी से अनुकूल जीवन साथी मिलने की संभावनाओं में भी वृद्धि देखने को मिलेगी। वैवाहिक जीवन में भी शांति और प्रेम बना रहेगा। इस दौरान आपकी आपसी समझ में इजाफा होगा और आप अधिक आसानी से एक दूसरे को समझ पाएंगे। साथी से अपेक्षित समर्थन मिलने से जीवन के दूसरे क्षेत्रों में भी सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेंगे। इस दौरान वैवाहिक रिश्तों में भरपूर रोमांस बना रहेगा।

शुक्र का कुंभ गोचर, शिक्षा पर प्रभाव 

शुक्र का कुंभ गोचर 2020, वृश्चिक राशि जातकों के जीवन के लगभग प्रत्येक क्षेत्र में सकारात्मक परिणाम देने वाला है। इस दौरान शुक्र वृश्चिक जातकों की शिक्षा को भी औसतन प्रभावित करने वाले है। इस दौरान उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए प्रयासरत छात्रों को भी लाभ मिलने की संभावना है। शुक्र ललित रचनात्मक कलाओं के प्रति आकर्षित करने के साथ ही उन्हे सीखने के लिए भी प्रेरित करेंगे। इस दौरान कुछ नकारात्मक प्रभावों के कारण छात्र किसी खराब संगत में भी पड़ सकते है, जिससे उनके भविष्य के गलत दिशा में बढ़ने की संभावनाओं को बल मिलता है। छात्रों को इस दौरान अच्छे और चरित्रवान साथियों की संगत में रहना चाहिए, और अपने निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए लगातार प्रयासरत रहना चाहिए। 

शुक्र का कुंभ गोचर, स्वास्थ्य पर प्रभाव 

शुक्र का कुंभ गोचर 2020, वृश्चिक राशि जातकों को जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में लाभकारी परिणाम ही देना वाला है। स्वास्थ्य की बात करें तो इस दौरान वृश्चिक जातकों को अपने स्वास्थ्य में सुधार देखने को मिलेगा। वहीं परिवार में भी सभी का स्वास्थ्य सामान्य और बेहतर बना रहेगा, जिससे घर में खुशनुमा माहौल बनेगा। शुक्र गोचर 2020, वृश्चिक जातकों के स्वास्थ्य पर किसी तरह के बुरे प्रभाव डालते नहीं दिखता। हालांकि इस समयावधि में आपको स्वयं अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहना होगा, क्योंकि शुक्र के जीवन में पड़ने वाले सकारात्मक प्रभावों का लाभ आप तभी उठा पाएंगे जब स्वस्थ्य रहेंगे। इसलिए अपने खाने और सोने के समय का विशेष ध्यान रखें और नियमित दिनचर्या में अनुशासन बनाए रखें। 

16 Jan 2020


View All blogs

More Articles