शुक्र करेंगे कुंभ में गोचर, वृषभ राशि जातकों के जीवन में आएंगे ये बदलाव


Share on :


9 जनवरी 2020 को शुक्र राशि परिवर्तन कर कुंभ में प्रवेश करने वाले है। सूर्य की परिक्रमा के दौरान अपनी कक्षा में घूमते हुए शुक्र को एक राशि के भ्रमण में लगभग 23 दिनों का समय लगता है, हालांकि यह समयावधि स्थिति के अनुसार कम या ज्यादा हो सकती है। वैदिक ज्योतिष में शुक्र को काल पुरूष के सौंदर्य का प्रतीक माना गया है। कुंडली में शुक्र को वृषभ और तुला राशि का स्वामी माना गया है, वहीं शुक्र सातवें भाव का कारक होकर पुरूषों से संबंधित मामलों के कार्यवाहक भी है। मौजूदा समय में शुक्र मकर राशि में भ्रमण कर रहे है, लेकिन 9 जनवरी से वे राशिचक्र की ग्यारहवीं राशि कुंभ में प्रवेश करेंगे और यहां से सभी राशियों पर अपना शुभ-अशुभ प्रभाव डालेंगे।

शुक्र के कुंभ गोचर 2020 का चंद्र राशि कुंडली वृषभ पर मिलाजुला प्रभाव पड़ने वाला है। चंद्र राशि वृषभ कुंडली के पहले और छठे भाव का स्वामी शुक्र है। कुंडली में शुक्र का गोचर नौवें से दसवें भाव में हो रहा है। इस दौरान वृषभ राशि जातकों के करियर, व्यापार, आर्थिक, प्रेम या वैवाहिक संबंध, स्वास्थ्य और शिक्षा जैसे प्रमुख क्षेत्रों में शुक्र गोचर 2020 का गहरा प्रभाव देखने को मिलेगा। इस दौरान वृषभ राशि जातक जीवन के कुछ क्षेत्रों में बेहतर प्रदर्शन करेंगे तो कुछ में मुश्किलों का सामना करेंगे। लेकिन वृषभ पर पड़ने वाले नकारात्मक प्रभावों का कुछ साधारण ज्योतिषीय उपायों से सामना किया जा सकता है।


शुक्र का कुंभ गोचर, करियर पर प्रभाव

शुक्र का कुंभ गोचर 2020 चंद्र कुंडली वृषभ राशि जातकों के पेशेवर जीवन के लिए कई नई मुश्किलें लेकर आने वाला है। इस दौरान शुक्र का गोचर कुंडली के नौवें से दसवें भाव में होगा, कुंडली का दसवाँ भाव कर्म भाव या पितृ स्थान के नाम से जाना जाता है। इसका सीधा संबंध जातक के कार्य, करियर और पेशेवर जीवन से होता है। वृषभ कुंडली के दसवें भाव में शुक्र का गोचर जातकों के पेशेवर जीवन में परेशानियां लेकर आएगा। इस दौरान आपको अपने निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए अधिक मेहनत करनी होगी। इस दौरान कार्यस्थल पर आपके अपने सहकर्मियों से बिना किसी बड़ी वजह के संबंध खराब हो सकते है। इस दौरान धैर्य और सावधानी से किसी भी कार्य को अपने हाथों में लें।

शुक्र का कुंभ गोचर, व्यापार-व्यवसाय पर प्रभाव

साल 2020 के शुरूआत में होने वाला शुक्र का कुंभ गोचर वृषभ राशिधारक व्यापारी-व्यवसायियों पर बेहद नकारात्मक प्रभाव डालने वाला है। शुक्र का कुंभ गोचर 2020 चंद्र कुंडली वृषभ राशि जातकों की कुंडली के दसवें भाव में हो रहा है। इस दौरान शुक्र के प्रभाव से व्यापारी वर्ग को अधिक प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ेगा, इस दौरान व्यापार के सिलसिले में कई अप्रत्याशित यात्राओं के भी संयोग दिखाई देते है। हालांकि इन यात्राओं से दूरगामी सकारात्मक परिणामों की उम्मीद है, लेकिन मौजूदा दौर में इन यात्राओं से अधिक लाभ मिलता दिखाई नहीं देता। वहीं व्यापार में लगातार बढ़ती प्रतिस्पर्धा लाभ को कम करने का काम करेगी। इस दौरान अपने कर्मचारियों से मधुर संबंध बनाए रखें और धैर्य के साथ नई योजनाओं पर कार्य करते रहें।

शुक्र का कुंभ गोचर, आर्थिक स्थिति पर प्रभाव

शुक्र का कुंभ गोचर 2020 का चंद्र राशि वृषभ कुंडली के आर्थिक पक्ष पर मिलाजुला प्रभाव देखने को मिलेगा। कुंभ में शुक्र गोचर 2020 के दौरान वृषभ राशि जातकों की आय में तो बढ़ोत्तरी होगी, लेकिन अपनी आर्थिक जिम्मेदारियों के कारण दबाव भी महसूस होगा। इस दौरान आपको किसी भी तरह के निवेश के पहले लंबा विचार करने की सलाह दी जाती है। इस दौरान छोटे या बड़े किसी भी तरह के निवेश से नुकसान की संभावनाएं दिखाई देती है। इसलिए निवेश से पहले सभी पहलूओं को गहराई से जाँचने के बाद ही निवेश करें। हालांकि इस दौरान यदि बेहद जरूरी न हो तो आर्थिक मोर्चे पर किसी भी तरह के बड़े निर्णय से किनारा करना अधिक बेहतर होगा।

शुक्र का कुंभ गोचर, प्रेम व वैवाहिक जीवन पर प्रभाव

नैसर्गिक प्रेम और वैवाहिक सुख प्रदाता शुक्र का मकर से कुंभ में गोचर 2020 चंद्र राशि वृषभ कुंडली जातकों के प्रेम संबंधों पर औसत प्रभाव डालने वाला है। अर्थात कुंभ में शुक्र गोचर 2020 की समयावधि प्रेम संबंध के लिहाज से अधिक नकारात्मक या सकारात्मक दिखाई नहीं देती। इस दौरान प्रेम संबंधों के बेहद धीरे-धीरे आगे बढ़ने की संभावना है। हालांकि वैवाहिक जीवन पर इसके बेहद नकारात्मक प्रभाव पड़ने वाले है। इस दौरान आपका शादीशुदा जीवन बेहद तनावपूर्ण स्थिति से गुजरने वाला है। आपके साथी की बड़ी-बड़ी उम्मीदें आपके वैवाहिक जीवन में तनाव की स्थिति पैदा करेगी। इस दौरान आपको अपने साथी के साथ अधिक समय बिताना चाहिए और अपनी स्थिति से उन्हे अवगत करवाना चाहिए।


शुक्र का कुंभ गोचर, शिक्षा पर प्रभाव

शुक्र का कुंभ गोचर 2020 का चंद्र कुंडली वृषभ राशि जातकों की शिक्षा पर औसत प्रभाव देखने को मिलेगा। शुक्र के कुंभ में गोचर की शुरूआत के साथ ही छात्र अपनी दिन-प्रतिदिन की पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करने में मुश्किलों का सामना करेंगे। इस दौरान चीजों को समझने में जरूरत से अधिक एकाग्रता की जरूरत होगी। हालांकि कुंभ में शुक्र गोचर 2020 उन छात्रों के लिए बेहद लाभदायक रहने वाला है, जो शिक्षा प्राप्त करने के लिए विदेश जाने की तैयारी कर रहे है। इस दौरान ऐसे छात्रों को सही मार्गदर्शन में उस दिशा में बढ़ने की जरूरत है।


शुक्र का कुंभ गोचर, स्वास्थ्य पर प्रभाव

शुक्र का कुंभ गोचर चंद्र राशि वृषभ कुंडली जातकों के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को प्रभावित करने वाला है। इस दौरान शुक्र कुंडली के नौवें से दसवें भाव में गोचर करने वाले है, इस दौरान शुक्र की दृष्टि अपने स्थान से कुंडली के सातवें स्थान पर भी होगी। कुंडली में बनती परिस्थिति किसी स्वास्थ्य समस्या की ओर इशारा करती है। इस दौरान आपके निर्धारित कार्यक्रम स्वास्थ्य समस्याओं के कारण प्रभावित हो सकते है। इसी के साथ मानसिक तनाव के कारण आप जीवन के अन्य क्षेत्रों में भी मुश्किलों का सामना करने वाले है। इस दौरान आपको व्यायाम और योग जैसे माध्यमों से अपने स्वास्थ्य को बेहतर बनाने की ओर ध्यान देना चाहिए। शुक्र गोचर 2020 की समयावधि के दौरान कुछ समय का आराम आपको मानसिक रूप से मजबूत बनाने का कार्य करेगा।

अपने व्यक्तिगत समाधान प्राप्त करने के लिए, एक ज्योतिषी विशेषज्ञ से बात करें अभी!
गणेश की कृपा से,
गणेशस्पीक्स.कॉम टीम

07 Jan 2020


View All blogs

More Articles