शनि की राशि में गोचर कर रहे शुक्र, मिथुन राशि जातकों के चमकेंगे सितारे


Share on :


नैसर्गिक वैवाहिक सुख प्रदाता शुक्र 9 जनवरी 2020 से राशि परिवर्तन कर शनि की राशि कुंभ में प्रवेश करने वाले है, शुक्र का कुंभ में भ्रमण 3 फरवरी तक जारी रहेगा। इस दौरान राशिचक्र की तमाम राशियों पर शुक्र गोचर 2020 के भिन्न-भिन्न प्रभाव देखने को मिलेंगे। शुक्र बेहद तीव्र गति से सूर्य की परिक्रमा करता है, शुक्र को एक राशि भ्रमण पूरा करने में लगभग 23 दिनों का समय लगता है। वक्री या अन्य विशेष परिस्थिति में शुक्र का राशि भ्रमण काल कम या ज्यादा हो सकती है। मौजूदा समय में शुक्र मकर राशि में भ्रमण कर रहे है, लेकिन आगामी 9 जनवरी 2020 को वे राशि परिवर्तन कर कुंभ में गोचर करने वाले है। इस दौरान मिथुन सहित राशिचक्र की तमाम राशियों पर पड़ने वाले इसके प्रभावों में अमूलचूल परिवर्तन देखने को मिलेंगे। चंद्र राशि कुंडली मिथुन में इस गोचर का बेहद सकारात्मक प्रभाव देखने को मिलेगा, लेकिन इस दौरान कुछ सावधानियां भी बरतनी होंगी।

शुक्र का कुंभ गोचर 2020, मिथुन राशि जातकों के जीवन में बड़े बदलाव लेकर आने वाला है। चंद्र राशि मिथुन कुंडली में शुक्र का कुंभ गोचर 2020 आठवें से नौवें भाव में होने वाला है। चंद्र राशि मिथुन कुंडली के पांचवें और बारहवें भाव का स्वामी भी शुक्र है। इस गोचर के दौरान मिथुन राशि जातकों के जीवन के प्रमुख क्षेत्रों पर गहरा प्रभाव पड़ने वाला है। यह समयावधि विदेश में नौकरी या शिक्षा के लिए प्रयासरत जातकों के लिए सकारात्मक परिणाम लेकर आने वाली है। जीवन के अन्य महत्वपूर्ण क्षेत्रों जैसे आर्थिक, व्यापारिक और प्रेम या वैवाहिक संबंधों पर इसके प्रभावों को विस्तार से जानने आगे पढ़ें…!


शुक्र का कुंभ गोचर, करियर पर प्रभाव

करियर के दृष्टिकोण से शुक्र का कुंभ गोचर 2020 मिथुन राशि जातकों के लिए बेहद खास रहने वाला है। इस दौरान मिथुन राशि जातक अपने करियर को नई उचांइयों पर पाएंगे। इस दौरान आपको अपने पेशे से संबंधित किसी अच्छी नौकरी का प्रस्ताव मिल सकता है। विदेश में नौकरी करने का सपना देखने वाले जातकों को सकारात्मक परिणाम देखने को मिल सकते है। मौजूदा नौकरी में मान-सम्मान और सहकर्मी साथियों के साथ अच्छे संबंध बने रहेंगे। प्रदेश गमन में आ रही अड़चनें अपने आप खत्म हो जाएंगी और सकारात्मक परिणाम आपको चौंका देंगे। 

शुक्र का कुंभ में गोचर, व्यापार-व्यवसाय पर प्रभाव

शुक्र का कुंभ में गोचर मिथुन राशि जातकों के व्यापार-व्यवसाय को भी प्रभावित करने वाला है। इस दौरान शुक्र अपनी मौजूदा मकर राशि को छोड़ कुंभ में भ्रमण करने वाले है। कुंभ राशि के स्वामी शनि है। वैदिक ज्योतिष में शनि और बुध को मित्र ग्रहों के रूप में देखा जाता है। मिथुन कुंडली में यह गोचर आठवें से नौवें भाव में होने वाला है, नौवां भाव भाग्य स्थान या धर्म स्थान के नाम से जाना जाता है। मिथुन कुंडली के नौवें भाव में शुक्र का गोचर व्यापार के दृष्टिकोण से बेहद सकारात्मक दिखाई देता है। खासकर यह दौर आयात-निर्यात से जुड़े व्यापारियों के लिए बेहद अनुकूल रहने वाला है। इस दौरान व्यापार में जोखिम घटेगा जिससे अधिक लाभ कमाने के मौके बढ़ेंगे। कुछ अप्रत्याशित व्यापारिक यात्राओं से भी लाभ मिलने की संभावना दिखाई देती है।

शुक्र का कुंभ गोचर, आर्थिक स्थिति पर प्रभाव

शुक्र के कुंभ में गोचर के साथ ही मिथुन राशि जातकों के जीवन में आर्थिक स्थिरता के आसार दिखाई देते है। इस दौरान करियर या व्यापार-व्यवसाय से मिलने वाले सकारात्मक संकेतों का असर मिथुन राशि जातकों की आर्थिक स्थिति पर देखने को मिलेगा। इस दौरान किसी अप्रत्याशित स्रोतों से भी लाभ मिलने की संभावना है। यह समयावधि निवेश के लिए भी बेहतर परिस्थितियों का निर्माण करने वाली है। हालांकि निवेश से संबंधित किसी भी फैसले के पहले सभी पहलूओं पर गंभीर विचार-विमर्श करने की सलाह भी है।

शुक्र का कुंभ गोचर, प्रेम व वैवाहिक जीवन पर प्रभाव

कुंडली में शुक्र अपने स्वभाव के अनुसार प्रेम व वैवाहिक जीवन के नैसर्गिक सुख प्रदान करते है। जिसका असर व्यक्ति के निजी जीवन में देखने को मिलता है। मौजूदा परिस्थिति में शुक्र मकर से कुंभ में गोचर करने वाले है। कुंभ में शुक्र का गोचर 2020 मिथुन राशि जातकों के प्रेम व वैवाहिक जीवन में काफी परिवर्तन लेकर आने वाला है। इस दौरान प्रेम संबंध में बंधे जातकों के अपने रिश्तों को किसी मुकाम पर पहुंचाने की प्रेरणा मिलेगी। इस दौरान अपने प्रेम साथी से सकारात्मक जवाब मिलने की भी संभावना है। वैवाहिक जीवन में भी शांति और प्रेम बना रहेगा। इस दौरान आपकी आपसी समझ में इज़ाफा होगा और आप अधिक आसानी से एक दूसरे को समझ पाएंगे। साथी से अपेक्षित समर्थन मिलने से जीवन के दूसरे क्षेत्रों में भी सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेंगे। इस दौरान वैवाहिक रिश्तों में भरपूर रोमांस बना रहेगा।

शुक्र का कुंभ गोचर, शिक्षा पर प्रभाव

शुक्र का कुंभ गोचर 2020, मिथुन राशि जातकों के जीवन में मूल तौर पर सकारात्मक प्रभाव ही डाल रहा है। इसी क्रम में शिक्षा प्राप्त कर रहे जातकों के जीवन पर भी इसके उजले प्रभाव पड़ने वाले है। इस दौरान विद्यार्थी वर्ग के लिए बेहद सकारात्मक परिणामों का अनुमान है, इस दौरान किसी भी तरह की प्रतियोगी परीक्षा में सफलता का प्रतिशत बेहद अधिक है। यदि शुक्र के सकारात्मक प्रभावों के साथ आपकी मेहनत को जोड़ दिया जाए तो आप खुद को सफलता के शिखर पर खड़ा पाएंगे। शुक्र विदेश से जुड़े मामलों के भी कार्यवाहक है। इस दौरान यदि जातक विदेश के किसी उच्च शिक्षण संस्थान में शिक्षा प्राप्त करने के लिए प्रयासरत है तो कुंभ में शुक्र गोचर 2020 आपके लिए अनुकूल परिस्थिति का निर्माण करने वाला है। इस दौरान आपको किसी विदेशी विश्वविद्यालय से शिक्षा प्राप्त करने का प्रस्ताव मिल सकता है। संक्षिप्त शब्दों में कहें तो शिक्षा के दृष्टिकोण से भी शुक्र गोचर 2020 मिथुन राशि जातकों के लिए बेहद लाभदायक रहने वाला है।


शुक्र का कुंभ गोचर, स्वास्थ्य पर प्रभाव

शुक्र गोचर 2020 का मिथुन राशि जातकों के जीवन पर बेहद सकारात्मक और शुभ प्रभाव देखने को मिलने वाला है। शुक्र मकर से कुंभ में प्रवेश कर रहे है, मकर और कुंभ दोनों ही शनि की स्वग्रही राशि है। वैदिक ज्योतिष में शुक्र और शनि को मित्र ग्रह माना जाता है, अर्थात इन ग्रहों का किसी भी प्रकार का संबंध राशि जातक को सकारात्मक प्रभाव दे सकता है। स्वास्थ्य की दृष्टि से शनि किसी तरह की अनिष्ट घटना को दर्शाते है, लेकिन शनि की स्वराशि में शुक्र का गोचर मिथुन राशि जातकों के स्वास्थ्य पर किसी तरह के दुष्प्रभाव नहीं डालने वाला अपुति इस दौरान आपके स्वास्थ्य में सुधार की संभावना है। हालांकि इसके साथ आपको व्यायाम और योग के माध्यम से अपने स्वास्थ्य को अधिक बेहतर बनाने पर ध्यान देना चाहिए।

अपने व्यक्तिगत समाधान प्राप्त करने के लिए, एक ज्योतिषी विशेषज्ञ से बात करें अभी!
गणेश की कृपा से,
गणेशस्पीक्स.कॉम टीम

07 Jan 2020


View All blogs

More Articles