Earth element- आप पृथ्वी तत्व के हैं? जानिए कैसी है आपकी प्रकृति और व्यवहार


Share on :



स्थिरता, जिद्दीपन, परंपराओं में यकीन और कई बार लोगों के बीच समन्वय बनाकर चलना, ये सभी गुण पृथ्वी तत्व के हैं। राशिचक्र की 12 राशियों में वृषभ, कन्या और मकर पृथ्वी तत्व की राशियां है। पृथ्वी तत्व होने के कारण इन राशियों के लोगों में कई बार स्थिरता होती है। यानी वे लंबे समय तक किसी एक प्रोजेक्ट पर काम कर सकते हैं। वहीं कई बार इनका जिद्दी रवैया हो जाता है। हालांकि पृथ्वी तत्व होने के कारण ये लोग अपने व्यवहार को नियंत्रित रख पाने में यकीन रखते हैं। आज बात करेंगे पृथ्वी तत्व की। यदि आप पृथ्वी तत्व से जुड़े हैं, तो जानिए किस तरह का आपका व्यवहार और प्रकृति।

पृथ्वी तत्व की राशियां- वृषभ, कन्या और मकर

पृथ्वी तत्व के लोग बहुत व्यावहारिक होते हैं। राशिचक्र की 12 राशियों में वृषभ, कन्या और मकर राशि को पृथ्वी तत्व की राशि माना जाता है। पृथ्वी तत्व होने के कारण ये लोग अच्छे श्रमिक होते हैं। मतलब यदि इन्हें किसी काम को दिया जाएं, तो पूरी तन्मयता से उसी काम में लगे रहते हैं। पृथ्वी तत्व होने के कारण वृषभ, कन्या और मकर राशि के लोग भौतिकता में यकीन रखते हैं। हालांकि जिस तरह से पृथ्वी सभी चीजों को अपने से जकड़ के रखती है। वृषभ, कन्या और मकर राशि के लोग भी अपनी चीजों के प्रति उतने ही दीवाने होते हैं। वे अपनी चीजों और आसपास के माहौल में इतने रमे होते हैं कि नई चीजों को तुरंत स्वीकार करने में उन्हें हमेशा दिक्कत महसूस होती है। हालांकि तीनों राशियों के व्यवहार में राशि स्वामी के कारण कुछ अंतर जरूर होता है। यहां यह बात स्पष्ट कर दें कि तीनों राशियों के राशि स्वामी शुक्र, बुध और शनि ज्योतिष शास्त्र के हिसाब से गहरे मित्र हैं।


पृथ्वी तत्व की विशेषता- कर्मठ होते हैं ये लोग

पृथ्वी तत्व के लोग बहुत कर्मठ होते हैं। वे यदि किसी काम को करते हैं, तो उसमें पूरा दिल लगाते हैं। वे किसी काम को अंजाम तक ले जाने का सामर्थ्य रखते हैं। हालांकि वृषभ, कन्या और मकर राशि के लोगों में राशिगत विशेषताएं भी होती है। जैसे वृषभ राशि के लोगों से जितना काम करवाना चाहें, वे कर सकते हैं, लेकिन वे अपनी मर्जी से कभी कुछ नहीं करेंगे। उन्हें इसके लिए लगातार प्रेरित किया जाना चाहिए। वहीं कन्या राशि की बात करें, तो पृथ्वी तत्व होने के कारण ये लोग भी कर्मशील होते हैं। बस फर्क यह है कि इन्हें किसी भी नई चीज को अपनाने में समय लगता है। वे कम्प्यूटर की जगह मैन्यूअल काम करना चाहेंगे। आप समझ सकते हैं कि कन्या राशि के लोग पृथ्वी तत्व होने के कारण मेहनती तो हैं, लेकिन अपना टारगेट पूरा करने में देर कर सकते हैं। मकर राशि के लोग भी काम को लेकर परफेक्शन रवैया अपनाते हैं, लेकिन वे बाल की भी खाल निकालने को तैयार रहते हैं। हर चीज में छोटी से छोटी गलतियां ढूंढकर उसे सही करते हैं, जिसकी कई बार कोई आवश्यकता नहीं होती है। ऐसे में उन्हें अपना काम पूरा करने में बहुत देर लग जाती है।

पृथ्वी तत्व की विशेषता-प्रकृति के होते हैं करीब

पृथ्वी तत्व से जुड़े लोग नेचुरल नेचर लवर होते हैं। उन्हें प्रकृति से बेहद प्यार होता है। अक्सर वृषभ, मकर या कन्या राशि के लोगों को जंगल, झरने या पहाड़ों पर प्रकृति के करीब जाते देखा जा सकता है। पृथ्वी तत्व होने के कारण इनके जल और वायु दोनों तत्वों के लोगों से अच्छे संबंध होते हैं। जब ये लोग नेचर के करीब होते हैं, तो आमतौर पर ये अपने रूटीन टेंशन से दूर होते हैं। पृथ्वी तत्व के लोग बेहद अच्छे किसान हो सकते हैं। उन्हें फूल पत्ती, मिट्टी आदि के बारे में बात करना हमेशा अच्छा लगता है। 

पृथ्वी तत्व के कुछ नकारात्मक गुण

  1. पृथ्वी तत्व के लोग कुछ कंजूस किस्म के होते हैं। हालांकि वृषभ राशि के लोगों को पैसा खर्च करना अच्छा लगता है, लेकिन वे कभी दूसरों पर पैसा खर्च करना पसंद नहीं करते हैं। यानी दोस्तों को गिफ्ट देना, पार्टी देना या उन्हें किसी पिकनिक पर ले जाना भी वृषभ राशि के लोगों को पसंद नहीं होता है। कन्या और मकर राशि के लोग तो पैसा खर्च करने में बेहद कंजूस किस्म के होते हैं।
  2. – पृथ्वी तत्व से जुड़े लोग उतने रोमांटिक नहीं होते हैं, जितने दूसरे तत्व के लोग होते हैं। वृषभ राशि पर शुक्र का असर होता है, लेकिन प्यार बांटने के मामले में भी ये कंजूस ही रहते हैं। कन्या और मकर के साथ भी कुछ इसी तरह की दिक्कत होती है। हालांकि ये इमोशनल होते हैं और अपने साथी के प्रति गंभीर भी होते हैं, लेकिन अपनी फिलिंग्स को उतने अच्छे से एक्सप्रेस नहीं कर पाते हैं।
  3. पृथ्वी तत्व के लोग बहुत ही बोरिंग होते हैं। ऐसा कहा जा सकता है। दरअसल इन्हें नया इनोवेशन उतना पसंद नहीं आता है और ना ही ये दोस्तों के साथ को ज्यादातर एंजॉय करते हैं। किसी ग्रुप में इनके अलग-अलग रहने के कारण इन्हें बहुत जल्दी पहचाना जा सकता है। ये अपने आप में व्यस्त रहने वाले होते हैं। ऐसे में दूसरे लोग इनकी कंपनी को ज्यादा बोरिंग कंपनी मानते हैं।



ये भी पढ़ें-






01 Mar 2021


View All blogs

More Articles