आसनसोल चुनाव 2019: बाबुल सुप्रियो और मुनमुन सेन कुंडली विश्लेषण


Share on :

आसनसोल लोकसभा सीट से बीजेपी ने एक बार फिर से बाबुल सुप्रियो पर भरोसा जताया है। वहीं 12 मार्च को ममता बनर्जी ने इस सीट से बतौर TMC कैंडिडेट मुनमुन सेन के नाम का ऐलान कर दिया है। मुनमुन सेन अभी बांकुरा से सांसद हैं। अब इस सीट पर काफी रोचक मुकाबला हो गया है। दोनों की कुंडली इस लोकसभा चुनाव 2019 पर क्या कहती है, आइए देखते हैं।

बाबुल सुप्रियो और मुनमुन सेन में मुकाबला


उम्मीदवार / पार्टी का नाम : बाबुल सुप्रियो
उम्मीदवार का विवरण / पार्टी विवरण : भाजपा
निर्वाचन क्षेत्र, शहर, राज्य : आसनसोल, पश्चिम बंगाल
चुनाव तिथि : 29 अप्रेल, 2019

उम्मीदवार / पार्टी का नाम: मुनमुन सेन
उम्मीदवार का विवरण / पार्टी विवरण : टीएमसी
निर्वाचन क्षेत्र, शहर, राज्य : आसनसोल, पश्चिम बंगाल
चुनाव तिथि : 29 अप्रेल, 2019


बाबुल सुप्रियो जन्म कुंडली

दिनांक: 15 दिसंबर 1970
समय : अज्ञात
स्थान : उत्तरपारा, पश्चिम बंगाल, भारत



मुनमुन सेन जन्म कुंडली

दिनांक: 24 मार्च 1954
समय: अज्ञात
स्थान: कोलकाता, पश्चिम बंगाल, भारत

क्या बोलते हैं सितारें

बाबुल सुप्रियो की सूर्य कुंडली में उनके जन्म का सूर्य और बृहस्पति वृश्चिक राशि में  है। अभी बृहस्पति भी इससे गुजर रहा है। यह इन्हें बेहतर सफलता दिला सकता है। अन्य ग्रह उन्हें समर्थन देते हुए प्रतीत होते हैं, जिससे हम आगे आरामदायक सफर की उम्मीद कर सकते हैं।
अब, मुनमुन सेन की सूर्य कुंडली पर विचार करते हैं। वह शनि के प्रतिकूल प्रभाव में है, जो कुंडली के 10वें भाव (राजनीति) में जन्म के तीन महत्वपूर्ण ग्रहों को भी प्रभावित कर रहा है। चुनाव के दौरान ये अशुभ ग्रहीय घटनाएं उनकी ज्यादा मदद नहीं कर सकेंगी। हालांकि, इसके बावजूद परोपकारी बृहस्पति का गोचर उनके लिए कुछ संभावनाएं लेकर आ रहा है। हालांकि यह गोचर अभी उनकी इस परेशानी को दूर करने में मदद नहीं करेगा।

मुनमुन सेन और बाबुल सुप्रियों के लिए भविष्यवाणी (ज्योतिषीय विश्लेषण)


ग्रहीय प्रभाव से यह संकेत मिल रहा है कि मुनमुन सेन मतदाताओं को खुश करने के लिए अपने स्तर पर सर्वश्रेष्ठ प्रयास करेंगी। लेकिन, शनि के प्रतिकूल पारगमन के कारण उन्हें अपेक्षित परिणाम नहीं मिल सकता है। दूसरे शब्दों में यह कह सकते हैं कि वे अपेक्षित वोट प्राप्त करने में सक्षम नहीं हो सकेंगी। दूसरी तरफ, बाबुल सुप्रियो की ग्रहों की स्थिति मतदाताओं को खुश करने संबंधी उनके रणनीतिक और कुशल दृष्टिकोण को इंगित करती है। यह उन्हें इस निर्वाचन क्षेत्र में अधिक संख्या में वोट हासिल करने में मदद करेगा।

निष्कर्ष


संक्षेप में, गणेशजी की राय है कि आसनसोल निर्वाचन क्षेत्र में बाबुल सुप्रियो को अपेक्षित सफलता मिल सकती है। 

01 Apr 2019


View All blogs

More Articles