नवरात्रि मतलब भक्ति, श्रद्घा और झूम बराबर झूम


Navratri, GaneshaSpeaks.com

मां दुर्गा या शक्ति की स्तुति के लिए नौ रातों तक चलने वाले नवरात्रि महोत्सव को विश्व भर में भारतीय लोग बड़े उत्साह के साथ मनाते हैं। इन नौ रातों और दिनों के दौरान शक्ति / देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती है। नवरात्रि महोत्सव भारत के विभिन्न हिस्सों में अलग तरीकों से मनाया जाता है। इस पवित्र पर्व के मौके गुजरात में बड़े स्तर पर आयोजन किए जाते हैं, जिनमें मां शक्ति की उपासना डांडिया और गरबा खेलकर की जाती है। देवी के सम्मान में भक्ति प्रदर्शन के रूप में गरबा, ‘आरती’ से पहले किया जाता है और डांडिया समारोह उसके बाद। पश्चिम बंगाल में भी नवरात्रि का अपना महत्व है। इस राज्य में मां दुर्गा की निरंतर नौ दिन तक पूजा की जाती है।

गुजरात एवं राजस्थान में नवरात्रि महोत्सव के दौरान नृत्य को अधिक महत्व दिया जाता है। इस दौरान बड़े बड़े समारोहों का आयोजन किया जाता है, जहां एक बड़ी संख्या में लोग गरबा, डांडिया खेलने एवं देखने के लिए आते हैं। इस समारोह की एक अन्य खासियत यह है कि इसके लिए धर्म, जात एवं क्षेत्रीय भाव से ऊपर उठकर लोगों को खुले दिल से आमंत्रित किया जाता है। इस कारण इस त्योहार को अनेकता में एकता का प्रतीक भी माना जाता है।

इतना ही नहीं, यह त्योहार कुंवारे युवक युवतियों को एक दूसरे के करीब लाने में भी अहम भूमिका निभाता है। इसके कारण बहुत सारे लोगों की जीवन साथी को लेकर चल रही तलाश खत्म हो जाती है। इस महोत्सव में हर उम्र वर्ग का व्यक्ति अपने भीतर के उल्लास एवं उमंग को बाहर निकालने का प्रयास करता है।

नवरात्रि महोत्सव में साथी या ग्रुप का होना बहुत लाजमी है। यदि आप व्यक्तियों के मिजाज को समझ लें, तो आप आसानी से अपने गरबा साथी का चुनाव कर पाएंगे, जो आपकी समझ के अनुकूल हो। सही ग्रुप या साथी का चुनाव आपके नवरात्रि महोत्सव को पहले से अधिक रोमांचित बना सकता है।

मेष
मेष जातकों का स्वामी मंगल ग्रह है। मेष जातक ओजस्वी होते हैं, इसलिए उनको पूर्ण उत्साह के साथ नवरात्रि मनाते देखा जा सकता है। मेष जातकों की गरबा खेलने की अपनी एक विशेष शैली होती है। उनका पहनावा भी बहुत अनोखा होता है, जिसके कारण वो भीड़ में भी अलग ही नजर आते हैं। मेष जातक गरबा संगीत के साथ इस तरह एकमय हो जाते हैं कि उनको अपने आस पास नाच रहे लोगों की सुध तक नहीं रहती। उनके नृत्य में समर्पण भाव देखने को मिलेगा क्योंकि वो अपने आपको मां के चरणों में समर्पित कर देते हैं। मेष जातक हमेशा ड्रेस कोड के अनुसार पहनावा चुनते हैं, इसलिए उनको अधिक अंक मिलने की संभावना रहती है। इसलिए यदि यह परंपरागत गरबा रात्रि है तो आप देखेंगे कि मेष जातक सबसे बेहतरीन परंपरागत पहनावे में होंगे। अगर गरबा रात्रि का फ्यूजन ड्रेस कोड है तो उनसे बेहतर किसी का होना मुश्किल है, क्योंकि वो फूल तैयारी में होंगे।

वृषभ
वृषभ जातकों की खासियत है कि वो अपने मामलों को बहुत बेहतर तरीके से संभालने में सक्षम होते हैं। इसलिए नवरात्रि उत्सव को लेकर उनकी तैयारियों पर संदेह नहीं किया जा सकता है। वृषभ जातक गरबा रात्रि को लेकर छोटी सी छोटी बात का ध्यान रखकर तैयारी करते हैं। वृषभ जातक पूजा के पंडाल से लेकर आभूषण के चुनाव हर कार्य को बहुत सावधानीपूर्वक करते हैं। फैशन पसंद मेष जातक हमेशा आपको फैशन के साथ कदम ताल करते हुए मिलेंगे। आप उनको उसी पहनावे में देखेंगे जो इस समय चलन में है। हालांकि, वृषभ जातक बहुत अधिक परंपरागत परिधानों में भी नजर आ सकते हैं, लेकिन यह केवल नवरात्रि के कारण के होगा। वृषभ जातकों को प्रयोग करना पसंद है, इसलिए उनको असंख्य शैली के नृत्य से किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं होगी। वृषभ जातक बेहतर प्रदर्शन करने के लिए नवरात्रि से पहले गरबा कोचिंग क्लास तक भी ज्वाइन करने से पीछे नहीं हटते हैं।

मिथुन
अपनी असली भावनाएं व्यक्त न करने के लिए जाने जाते मिथुन जातक काफी बातूनी एवं मिलनसार होते हैं एवं उनको नये लोगों से मिलना बेहद पसंद होता है। इसलिए नवरात्रि से बेहतर मौका उनके लिए दूसरा अन्य नहीं हो सकता है। नवरात्रि इस तरह का मौका है, जब मिथुन जातक बेपरवाह एवं निश्चिंत होकर नये लोगों से रूबरू होते हैं। इस दौरान मिथुन जातक निस्संदेह नये दोस्त बनाएंगे, एवं पुराने मित्रों का त्याग करेंगे, जो उनको बिल्कुल पसंद नहीं हैं। मिथुन जातकों को दूसरों की मदद करने में बहुत सुकून मिलता है एवं आप उनको नवरात्रि मैदान में नौसिखिया लोगों की मदद करते हुए पाएंगे। मिथुन जातक अपनी छवि को लेकर हमेशा संवेदनशील रहते हैं, इसलिए उनको आप गरबे या दुर्गा पूजा में व्यवस्थित व अनुकूलित परिधानों में पाएंगे। अगर गरबा ड्रेस फ्यूजन हो तो मिथुन बहुत अच्छा से तैयार होते हैं। हालांकि, आप उनको बहुत कम समय आइने के सामने खड़ा पाएंगे। नृत्य करते समय मिथुन जातक पूरी तरह तल्लीन हो जाते हैं, इसलिए उनको नृत्य करते हुए देख आनंद महसूस होता है। फिर भी, मिथुन जातक अपनी प्रसिद्घि, शांति एवं अलगपन की छवि को बनाए रखते हैं।

कर्क
कर्क का स्वामी चंद्रमा है। कर्क जातकों की समय को लेकर अनुशासनता उनको सबसे अलग करती है, यहां तक कि जब वह मनोरंजन के लिए योजना बना रहे हों। इसी कारण आप देखेंगे कि कर्क जातक गरबा स्थल पर सही समय पर पहुंचेंगे जबकि कुछ समारोह में वे समय से पहले पहुंच सकते हैं। कर्क जातक दर्शक एवं प्रदर्शनकर्ता के रूप में एक सा भाव रखते हैं, जो किसी भी वातावरण को सुखद बनाते हैं। कर्क जातकों का पहनावा बहुत साधारण, लेकिन आकर्षित होता है, इसलिए देखने वाले उनकी ड्रेस सेंस के प्रशंसक बन जाते हैं। कर्क जातक बहुत सहज स्वभाव के होते हैं एवं गरबे के लिए तैयार होते समय या गरबा खेलने के वक्त अपने अंतर्ज्ञान का भरपूर लाभ उठाते हैं। वे साधारण नृत्य में बकमाल होते हैं, लेकिन उनको कुछ नया करने में दिक्कत नहीं आती है, विशेषकर जिसमें उनके करीबी मित्र शामिल हों। आप उनको नृत्यकर्ता की भीड़ से बिल्कुल अलग शानदार प्रदर्शन करते हुए पाएंगे। कर्क जातक साधारण डांडिया स्टिक इस्तेमाल करने की बजाय कुछ अच्छी व असाधारण वस्तु का इस्तेमाल करना पसंद करते हैं।

सिंह
सिंह जातक नवरात्रि महोत्सव को लेकर बहुत उत्सुक रहते हैं। इस बात को ध्यान में रखकर सिंह जातक पहले से तैयारियां करना शुरू कर देते हैं। वे हर रात के लिए अलग अलग ड्रेस तैयार भी कर पा सकते हैं। उनको गरबा खेलना व दूसरों को खेलते हुए देखना पसंद है। सिंह जातक मदद करने में विश्वास करते हैं, इसलिए जब भी उनका दोस्त गरबे के दौरान मुश्किल होता है तो वो तुरंत उनकी मदद करने पहुंचते हैं। गरबे की अलग अलग नृत्य शैली से सिंह जातक अवगत होते हैं एवं दूसरों को इस बारे में ज्ञान बांटते समय उनको खुशी महसूस होती है। हालांकि, सिंह जातक अपनी ड्रेस को लेकर अधिक नकचढ़े नहीं होते, लेकिन सिंह जातक मांग रख सकते हैं कि उनके ग्रुप के अन्य सदस्य उनके द्वारा चुनी गई ड्रेस का अनुसरण करें। सिंह जातकों में नेतृत्व करने की अपार क्षमता होती है, जो उनको एक अच्छा प्रबंधक व नेता बनाती है। आपको चकित होने की जरूरत नहीं, यदि उनको गरबा आयोजक की तरफ से बेहतर गरबा नर्तक के रूप में पुरस्कृत किया जाए।

कन्या
पूर्णतावादी कन्या जातक गरबे के संदर्भ में नये नये प्रयोग करने से हमेशा बचेंगे। हालांकि, यदि उनको नया स्टेप सीखने के लिए कहा जाए तो वो सीखने के बाद ही करने का मन बनाएंगे,क्योंकि उनको पूर्णता से बेहद प्रेम है। कन्या जातक नवरात्रि से एक महीना पहले ही नये स्टेपों को सीखने की तैयारियां करना शुरू कर देते हैं। कन्या जातक खूबसूरत होते हैं। इसलिए, जब वो गरबा आदि खेलने के लिए निकलेंगे तो उनका रंग रूप एवं स्टाइल आपको आकर्षित कर सकता है। उनको एक बड़े नृत्य समूह का हिस्सा बनना पसंद होगा एवं कन्या मौके का खूब फायदा उठाते हैं। कन्या जातक बहुत बुद्धिमान और व्यावहारिक होते हैं। इसलिए आप अधिक चकित न हों, जब ब्रेक के दौरान कन्या जातक देश में चल रही परिस्थितियों पर चर्चा करना शुरू कर दें। इसके अलावा गरबा पंडाल में चल रहे गरबे का विश्लेषण तक भी कर सकते हैं।

तुला
तुला राशि का स्वामी शुक्र है, इसलिए तुला जातकों को सार्वजनिक स्थलों पर केंद्र में रहना बेहद पसंद है। आप कह सकते हैं कि तुला जातक अपनी छवि को लेकर फिक्रमंद होते हैं। तुला जातक हमेशा नये फैशन के परिधान पसंद करते हैं, ताकि वो आकर्षण का केंद्र बने रहें। फैंसी ड्रेस तुला जातकों को बेहद पसंद होती हैं एवं वे अपनी फैशन च्वाइस को लेकर आत्मविश्वासी होते हैं। तुला जातक आपको एक जगह बैठे या खड़े नहीं मिलेंगे, क्योंकि उनके भीतर की चलता उनको एक जगह से दूसरी जगह तक खींचकर लेकर जाएंगी। इस तरह वे बहुत अधिक आनंदित महसूस करेंगे। हो सकता है कि तुला जातकों का ड्रेस बेहतर न हो, लेकिन उनका व्यक्तित्व बहुत आकर्षक होता है, जो लोगों का ध्यान अपनी तरफ खींचता है। तुला जातक बहुत रोमांटिक मिजाज के होते हैं, इसलिए नवरात्रि के दौरान उनको प्यार होने की संभावनाएं बहुत अधिक होती है।

वृश्चिक
वृश्चिक जातक गरबा नृत्य में बहुत निपुण नहीं होते हैं, लेकिन नवरात्रि का पूरा आनंद लेते हैं। वृश्चिक जातक किसी विशेष नृत्य शैली के साथ अधिक जुड़ाव नहीं रखते हैं, लेकिन आध्यात्मिकता से जुड़ा यह त्योहार उनके लिए अधिक महत्व रखता है। वे बड़े समूह के साथ गरबा स्थल पर जाते हैं एवं समय के पाबंद होने के कारण उनके दोस्तों के किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं होगी। वृश्चिक जातक बहुत उत्साही एवं जोशीले होते हैं, इसलिए उनको अलग अलग शैली का गरबा डांस करना बेहद पसंद होता है। वृश्चिक जातक बहुत महत्वाकांक्षी या धुनी स्वभाव के होते हैं, यदि वे गरबा प्रतिस्पर्धा में भाग लेते हैं तो पुरस्कार जीतने के लिए तमाम कोशिश करते हैं क्योंकि उनको अपनी प्रतिष्ठा से बेहद लगाव होता है।

धनु
धनु जातक स्वभाव से विचारशील होने के कारण दूसरों से दो कदम आगे की सोच रखते हैं। धनु जातक कुछ भी करने से पहले बहुत बार सोचते हैं। वे इस बात की चिंता नहीं करते कि लोग उनके बारे में किस तरह का सोचते हैं या वो किस तरह के दिखते हैं। इसलिए धनु जातक पहनावे को अधिक महत्व नहीं देते, हालांकि गरबे का पूरा पूरा आनंद लेते हैं। धनु जातक नये स्टेप सीखने से पीछे नहीं हटते, उनको नया सीखने में मजा आता है। धनु जातक नये स्टेप एवं नये अलग तरह के कपड़े खरीदने में भरोसा करते हैं। धनु जातक नवरात्रि के दिनों में खूब मौज मस्ती करते हैं एवं गरबा स्थल पर लगने वाली फूड अस्थायी दुकानों पर पैसा खर्च करने के लिए अलग से पैसे का बंदोबस्त करके रखते हैं।

मकर
मकर जातक बिना किसी तैयारी के नवरात्रि महोत्सव का जश्न मनाने के लिए निकल पड़ते हैं। लेकिन इनकी एक बात अच्छी यह है कि यह दूसरों के विचारों को खुले दिमाग से स्वीकार करते हैं, इसलिए इनको ड्रेस का चुनाव करने या गरबा खेलने में अधिक दिक्कत नहीं आती है। हालांकि, मकर जातक बहुत संवेदनशील स्वभाव के होते हैं, इसलिए गरबे के लिए तैयार होने को अधिक महत्व नहीं देते हैं। मकर जातक संगीत के साथ कदम ताल करते हुए गरबे का पूरा आनंद लेते हैं। मकर जातकों के भीतर धैर्य होता है, इसलिए वो बहुत जल्दी से उबते नहीं हैं। यदि मकर जातक गरबा सीखने की ठान लें तो बेहतर तरीके से गरबा खेलते हैं।

कुंभ
कुंभ जातक नियमों को अनदेखा कर अपने तरीके से गरबा खेलना पसंद करते हैं। कुंभ जातक गरबे के लिए तैयार होने में काफी अधिक समय लेते हैं, हालांकि गरबा स्थल पर सही समय पहुंच जाते हैं। यदि कुंभ जातक परंपरागत नृत्य शैली से उब जाएं, तो उनको नयी नृत्य शैली सीखने में थोड़ी सी भी अड़चन नहीं होती है। कुंभ जातक पूरे मन के साथ गरबे का मजा लेते हैं। कुंभ जातक स्वभाव से दूसरों की मदद करने वाले होते हैं, इसलिए यदि उनके किसी मित्र या सहयोगी को गरबा खेलेन में दिक्कत पेश आ रही हो तो वो उसको चिढ़ाने की बजाय उसकी मदद करना पसंद करते हैं।

मीन
मीन जातक हंसमुख मिजाज के होते हैं एवं नवरात्रि पर्व के मौके तो उनकी मुस्कराहट पहले से अधिक लम्बी हो जाती है। मीन जातक काफी भावुक स्वभाव के होते हैं एवं किसी भी उत्सव को बहुत उत्साह के साथ मनाते हैं। नवरात्रि के पर्व के लिए सुंदर परिधानों का चुनाव करते हैं एवं अच्छे तरीके से सजते संवरते हैं। उनको पर्व के लिए नए वस्त्र खरीदना बेहद पसंद है। मीन जातक काफी रोमांटिक स्वभाव के होते हैं, इसलिए गरबा स्थल पर उनको किसी से प्यार हो जाए, तो अधिक चकित होने की जरूरत नहीं है।

 

03 Sep 2014

share
View All Astro-Fun