पन्ना (एमराल्ड)

GaneshaSpeaks.com

पन्ना रत्न का इंग्लिश नाम – एमराल्ड

गुण –
एसजी – 2.71 । आरआई – 1.57-1.58 । कठोरता – 7.5 ।

बहुत उपयोगी रत्न पन्ना खनिज बेरिल की एक किस्म है। क्रोमियम की मात्रा के कारण यह हरे रंग का होता है।

रचना – बेहद खूबसूरत एवं दिल लुभावना पन्ना रत्न ग्रेनाइट, अपरिष्कृत रूप से कटे हुए ग्रेनाइट एवं परतदार चट्टानों के बीच पाया जाता है।

पन्ना एक चमकदार हरे रंग का रत्न है। इस रत्न के अंदर यह रंग क्रोमियम एवं वनैडियम की मौजूदगी के कारण आता है। वास्तव में, यह एक ही रत्न है, उसको उसके रंग के नाम यानि हरा पन्ना के नाम से पुकारा जाता है। यह रत्न बैरियल खनिज की एक किस्म है। एमराल्ड शब्द पुरानी फ्रेंच भाषा के एस्मेराल्डे शब्द से आया, जिसका अर्थ होता है हरा रत्न।

इस हरे रंग के रत्नों ने प्राचीन काल से हमको मंत्रमुग्ध किया एवं बहुत सारी काल्पनिक कहानियां इसके आस पास रची गयी हैं। प्राचीन इंका एवं दक्षिण अफ्रीका के अज्टेक लोग इस रत्न को पवित्र रत्न मानते हैं। संयोगवश, दक्षिण अफ्रीका विशेषकर कोलंबिया इस रत्न का विश्व में सबसे बड़ा उत्पादक है। पन्ना मई महीने में जन्म लेने वाले जातकों के लिए जन्म रत्न है। इसके अलावा वृषभ, मिथुन के लिए भी इसको उत्तम माना गया है जबकि कभी कभार कर्क राशि के लिए भी अनुकूल होता है।

राशि – मिथुन, कन्या । ग्रह – बुध । दिन – बुध

क्या पन्ना आपका जन्म रत्न है – क्या आप हरे चमकदार रत्न पन्ना से रोमांचित हैं – यदि आप चाहें तो आप इस रत्न को कुछ मिनटों में खरीद सकते हैं। इस चमकदार रत्न के अलावा अन्य बहुत सारे रत्न हमारे वेबसाइट स्टोर पर उपलब्ध हैं।

पवित्र वेदों के अनुसार, इस रत्न को धारण करने से भाग्योदय होता है एवं जीवन में खुशहाली एवं सद्भाव प्रवेश करता है। इसलिए, हैरत की बात नहीं कि भारतीय शाही परिवारों के खजाने विवाद प्रकार के पन्ना रत्नों से भरे थे। मुगल पन्ना रत्न इस किस्म का सबसे बड़ा रत्न है। इसकी मुख्य खदान कंलोबिया में है, लेकिन इसको भारत में बेचा गया था। इसका वजन 217.80 कैरेट था जबकि 10 सेंटीमीटर लंबा था। इस रत्न को २७ सितंबर २००१ को क्रिस्टी की तरफ से 2.2 मिलियन डॉलर में नीलाम किया था।

स्रोत – कोलंबिया की चिवोर एवं मुजो खानों से अच्छी गुणवत्ता वाला पन्ना प्राप्त होता है। इसके अलावा आस्ट्रेलिया, भारत, आस्ट्रिया, ब्राजील, दक्षिण अफ्रीका, मिश्र, अमेरिका, नार्वे, पाकिस्तान एवं जिम्बाब्वे पन्ना के अच्छे स्रोत हैं।

पुराने समय में मिस्र, ऑस्ट्रिया और अफगानिस्तान में पन्ना रत्न के लिए खनन का कार्य होता था। एक बार जब स्पेनिश लोग दक्षिण अमेरिकी महाद्वीप में पहुंचे तो वो सुंदर एवं बड़े आकार के पन्ना रत्न को देखकर हैरान हुए हैं, क्योंकि उन्होंने पहले इस तरह का रत्न नहीं देखा था। उन्होंने इस खूबसूरत रत्न के स्रोत का पता लगाने के लिए बहुत वर्ष व्यतीत किए। अंत स्पेनिश नागरिकों ने पन्ना के स्रोत का पता लगा लिया, आज हम उसको कोलंबिया के रूप में जानते हैं, जिसको सोमोंडोको के नाम से भी जाना जाता है, जिसका अर्थ होता है कि हरे रत्नों का भगवान। पन्ना बहुत नाजुक रत्न है, इसलिए इसको मजबूती देने के लिए कुछ अन्य सामग्री को इसमें मिलाया जाता था। हालांकि, इसके बावजूद भी इस रत्न को आकार देना आसान कार्य नहीं है। इसकी कटिंग करते समय बहुत सावधानी बरतने की जरूरत पड़ती है।

इस रत्न का हरा रंग जीवन एवं बसंत ऋतु से संबद्घ है, जो समय समय पर अपने आपको पुनःविकसित करता है। प्राचीन रोम में हरे रंग को वीनस देवी का प्रतीक माना गया है, जो प्रेम एवं सुंदरता की देवी है। हालांकि, आज भी बहुत सारे लोगों के दिलों में हरे रंग के लिए विशेष सम्मान है। इस्लाम का पवित्र रंग हरा है। कैथोलिक चर्च में भी हरे रंग को पवित्र रंग माना गया है। इसलिए हर किसी के लिए पन्ना अहमियत रखता हैं।
पन्ना रत्न को धारण करने के लिए निम्नलिखित फायदे हैं।

  • सच्चाई और प्रतिबद्धता की भावना को बढ़ाता है।
  • मन की स्थिरता, सच्ची मित्रता एवं घरेलू जीवन में आनंद को प्रोत्साहन देता है।
  • याददाश्त में सुधार एवं विवेक को तेज करता है।
  • संप्रेषण कला को सशक्त बनाता है।
  • प्रसव पीड़ा को सरल बनाने में मदद करता है।
  • मिर्गी का दौरा पड़ने से बचाता है एवं इसको मुंह में रखने से मिर्गी के दौरे का उपचार हो सकता है।

यह रत्न आपके लिए भाग्यशाली है या नहीं को लेकर आपके मन में संदेह है तो आपको ज्योतिषीय सलाह लेनी चाहिए। हमारा आपको सुझाव है कि आप उपचारात्मक समाधान व्यक्तिगत जीवन के लिए रिपोर्ट प्राप्त करें, जो आपको शत प्रतिशत सही मार्गदर्शन प्रदान करेगी। इस रिपोर्ट को हमारे वरिष्ठ एवं अनुभवी ज्योतिषविदों द्वारा तैयार किया जाता है।

रोचक तथ्य – मिश्र की रानी क्लियोपेट्रा को पन्ना रत्न संग्रह का बहुत शौक था। लगभग १८१७ के आस पास क्लियोपेट्रा की खान को खोजा गया, जो लाल समुद्र के तट पर स्थित है।