ज्योतिषी से बात कीजिए
X

वृषभ नक्षत्र

वृषभ नक्षत्र

कृतिका नक्षत्र :
इस नक्षत्र के देव अग्नि है और स्वामी सूर्य है | इस नक्षत्र में जन्म लेने वाले जातक उत्साही और उमंगसे भरपूर होते है | इनमें स्वार्थवृत्ति नहीं पायी जाती है | ये महत्वकांक्षा बहुत होती है और सत्ता का शौक होता है |
रोहिणी :
इस नक्षत्र के देव ब्रम्हा और स्वामी चंद्र हैं | इन जातकों में ममत्व, लगनशीलता, कल्पनाशीलता और मौलिकता पायी जाती है | इनके साथ साथ स्वार्थवृत्ति भी इनमे ज्यादा होती है | गुस्सा होने पर भी चेहरे पर गुस्सा नही दिखता है |
मृगशीर्ष :
इस नक्षत्र के देव चंद्र और स्वामी मंगल है | कृतिका नक्षत्र जातकों से कम में स्वार्थवृत्ति पायी जाती है| उत्साही होते है | जो काम हाथ में लेते हैं उसे पूरा कर के ही छोड़ते हैं | नेतृत्व करने और छोटे होते हुए भी बड़प्पन दिखाने आदि कार्यो में आनंद आता है | जितना शीघ्र ये उत्साहित होते हैं उतना ही शीघ्र हताश भी हो जाते है |
 

वृषभ साप्ताहिक राशिफल – 04-12-2016 – 10-12-2016

सुसंगतता

अग्नि तत्व की राशियाँ
भूमि तत्व की राशियाँ
वायु तत्व की राशियाँ

वृषभ राशि के बारे में जानिए

संस्कृत नाम : वृषभ | नाम का अर्थ : बैल | प्रकार : पृथ्वी स्थिर नकारात्मक | स्वामि ग्रह : शुक्र | भग्यशाली रंग : नीला, नीला-हरा | भाग्यशाली दिन : शुक्रवार, सोमवार