ज्योतिषी से बात कीजिए
X

मिथुन नक्षत्र

मिथुन नक्षत्र

मृगशीर्ष :
इस नक्षत्र के देव चंद्र और स्वामी मंगल है | उत्साही और मेहनत करने वाले होते हैं | इन जातकों में कूटनीति के कम गुण पाए जाते हैं | पुरुष जातको में संपूर्ण पुरुषत्व और स्त्रियों में संपूर्ण स्त्रित्व के गुण पाए जाते है |आत्मविश्वास पाया जाता है | अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिये मेहनत करते हैं | स्वभाव सरल होता है और जीवन सफ़ल होता है| शारीरिक सुख पाने की इच्छा ज्यादा रहती है |

आर्द्रा नक्षत्र :
इस नक्षत्र के देव रुद्र (शंकर) और स्वामी मंगल है | मिथुन राशि और इस नक्षत्र में जन्में जातक कुशल राजनीतिक और कूटनीतिक होते है जो दुश्मन को धूल चटा देते है | ये गंदी राजनीति पसंद नही करते है |सीधी और सच्ची राजनीति करते है| झूठ नही बोलते हैं या पकड़ाते नही हैं | अपने कैरियर में आँच नही आने देते है |

पुनर्वसु :
इस नक्षत्र के देव अदिति (देवों कि माता )और स्वामी गुरु है | इन लोगोंमें धार्मिकता ज्यादा होती है इस वजह से राजनीतिक गुण पाए जाते हैं | इनका स्वभाव सरल और उत्साही होते है | दुसरों का अहित करके खुद का हित नही करते हैं | इनमे कामेच्छा सीमित होती है | पत्नी के अलावा किसी से प्यार नही करते हैं | स्वार्थी होने के साथ-साथ प्यार करने वाले भी होते हैं |

मिथुन साप्ताहिक राशिफल – 25-09-2016 – 01-10-2016

मिथुन राशि के बारे में जानिए

संस्कृत नाम : मिथुन | नाम का अर्थ : जुड़वा | प्रकार : वायु परिवर्तनशील नकारात्मक | स्वामि ग्रह : बुध | भग्यशाली रंग : नारंगी, नींबू पीला | भाग्यशाली दिन : बुधवार