ज्योतिषी से बात कीजिए
X

बेजान दारुवाला


बेजान दारुवाला की भूमिका

विश्व के जाने-माने ज्योतिष श्री बेजान दारुवालाजी किसी परिचय के मोहताज नहीं है | उनका नाम और ज्योतिष के क्षेत्र में उनका अतुलनीय काम ही उनकी पहचान है | इनका जन्म 11जुलाई 1931को हुआ था | पारसी समुदाय में जन्म होने के बावजुद बेजानजी भगवान गणेश के अनन्य भक्त हैं | सभी के प्रिय और दयालु बेजान जी को अपनी अचूक भविष्यवाणियों के लिए अनेक प्रशस्तियाँ और संसार भर में पहचान मिली है| जँहा बहुत से ज्योतिष केवल एक या दो ज्योतिष विद्या के सिद्धांतो को अपनाकर भविष्यवाणी करने की कोशिश करते है वहीं बेजानजी वैदिक और पश्चिमी ज्योतिष सिद्धांत तथा आई-चिंग, टैरोट, अंकशास्त्र, काबाला और हस्त रेखा शास्त्र के सिद्धांतो को मिलाकर सयुंक्त भविष्यवाणी करने के लिए जाने जाते है | इन सभी शास्त्रों का सही संयोजन उनकी भविष्यवाणियों को अचूक तथा प्रासंगिक बनाता है | इससे भी ज्यादा इन्हे सहज ज्ञान और अपनी अंतरात्मा की आवाज समझने की शक्ति ईश्वर से आशीर्वाद में प्राप्त है और गणेशजी की विशेष कृपा तो प्राप्त हैं ही |

बेजानजी विश्व के अनेक समाचारपत्र, पत्रिकाओं, टेलिविजन चैनल्स व प्रकाशन संघो से जुड़े हुए है | श्री बेजान दारुवालाजी विश्व की प्रथम ज्योतिष वेबसाइट गणेशास्पिक्स.काम की पहचान है | इऩ्हे श्री बेजान दारुवालाजी ने अपनी ज्योतिष विद्या ज्ञान का अधिकारिक रुप से उत्तराधिकारी नियुक्त किया है | इनके कार्यक्रम कोलम्बस, ओहियो के एन.बी.सी और ए.बी.सी. टी.वी. चैनल्स में आते है तथा अगस्त 1999 में भारत में और बी.बी.सी. में आते थे |बेजानजी की अचूक भविष्यवाणियों ने उन्हें सबसे ज्यादा बिकने वाले भारतीय लेखको की श्रेणी में पहुँचा दिया है |उनके लेख और भविष्यवाणियां नियमित रुप से मुंबई, कोलकाता, दिल्ली और चेन्नई से प्रकाशित होने वाले संडे टाइम्स आफ़ इण्डिया ,टेलिग्राफ़ (कोलकाता),नवहिन्द टाइम्स (गोवा), डेल एनुवल होरोस्कोप (न्यु योर्क ), न्युज इण्डिया (न्यु योर्क), बर्कले कम्युनिकेशन (लंदन) आदि में प्रकाशित होते रहते हैं | बेजानजी की अचूक भविष्यवाणियों और उपलब्धियों को सभी ने स्वीकार किया है| भारत निर्माण नामक संस्था जो जीवन के सभी क्षेत्रों में सरचनात्मक और विकासात्मक कार्य करती हैं ने श्री बेजान दारुवाला जी को “सदी के ज्योतिष” के खिताब से अगस्त 27, 2000 में नवाजा है | फ़ेडरेशन आफ़ इण्डियन अस्ट्रोलाजर्स ने वैदिक ज्योतिषी की सबसे ऊँचे खिताब “ज्योतिषी महाहोपाध्याय” से नवाजा है | रशियन सोसाइटी आफ़ अस्ट्रोलाजर्स सैंट. पीटर्सबर्ग ने उन्हे 2009 का “बेस्ट अस्ट्रोलाजर” का खिताब दिया था | फ़िर भी श्री बेजान दारुवाला जी अपनी सबसे बड़ी उपलब्धि अपने चाहने वालो के प्यार और सम्मान को मानते है | साथ ही उनपर भगवान गणेश का वरद हस्त तो है ही |

श्री बेजान दारुवाला और गणेशास्पिक्स.काम का साथ

गणेशास्पिक्स.काम अपने आरंभ से ही ज्योतिष सेवा के क्षेत्र में बेहतरीन साबित हुआ है | श्री बेजान दारुवाला गणेशास्पिक्स.काम कि पहचान हैं | वर्ष 2003 में इऩ्होने अधिकारिक रुप से इस वेबसाइट और इसकी अतुलनीय ज्योतिष सेवा का उद्घाटन किया था | पिछले कुछ वर्षों में अपनी अस्वस्थता के कारण इऩ्हे संस्था में अपनी सक्रियता कम करनी पड़ी है | कुछ साल पहले इऩ्होने गणेशास्पिक्स.काम और इसकी ज्योतिषियों की टीम को अपना अधिकारिक उत्तराधिकारी नियुक्त किया है | ये समय-समय पर गणेशास्पिक्स.काम की ज्योतिष टीम का मार्गदर्शन करते रहते हैं | श्री बेजानजी के शब्दों में – “भगवान गणेश की असीम अनुकंपा से मेरी जिन्दगी का बड़ा भाग ज्योतिष शास्त्र के अध्ययन और कार्य में व्यतीत हुआ है और इससे मुझे असीम ज्ञान और अनुभव प्राप्त हुआ है | मैं चाहता हुँ कि मेरे इस ज्ञान और अनुभव का लाभ मानव समाज को हमेशा होता रहे अत: मेरे अधिकारिक उत्तराधिकारी गणेशास्पिक्स.काम आने वाले समय में मेरे नाम और काम कि पहचान बनाए रखेंगे.” ये शब्द श्री बेजान दारुवालाजी ने गणेशास्पिक्स.काम को अपना अधिकारिक उत्तराधिकारी नियुक्त करते हुए कहा था | गणेशास्पिक्स.काम की मूल ज्योतिषिय टीम कि नियुक्ति के समय इऩ्होने यह ध्यान रखा कि ज्योतिष ज्ञान की धरोहर सही हाथों में रहे | वर्तमान में गणेशास्पिक्स.काम की टीम जिस तरह से लोगो कि अपेक्षाओं और आशाओं में खरी उतर रही है और लोगो का सही मार्गदर्शन कर रही है यह नि:संकोच कहा जा सकता है कि श्री बेजानजी ने अपनी सकारात्मकता, अचूकता और विश्वसनीयता की वसीहत बिल्कुल सही हाथो में सौंपी है |

श्री बेजान जी के अधिकारिक उत्तराधिकारी गणेशास्पिक्स.काम